myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

जीभ में छाले और मुंह में छाले होना तो आम समस्या है जो हर व्यक्ति को कभी न कभी होती ही है, लेकिन ये छाले गले में भी हो सकते हैं। गले के छालों के कारण खाना-पीना और बात करना मुश्किल हो सकता है। इन छालों से ऐसा मेहसूस होता है जैसे गले में एक गांठ मौजूद है। गले के छालों के कई कारण हो सकते हैं, जैसे चोट, बैक्टीरियल इन्फेक्शन, फंगल इन्फेक्शन या वायरल इन्फेक्शन और कैंसर का कोई इलाज।

(और पढ़ें - चोट लगने पर क्या करें

गले के छालों के इलाज के लिए इसके सही कारण का पता होना आवश्यक है ताकि डॉक्टर इसका उपचार ठीक से कर सके क्योंकि ये किसी अंदरूनी समस्या का संकेत हो सकते हैं। गले के छालों के लिए घर पर कुछ प्राथमिक उपचार भी किए जा सकते हैं।

इस लेख में क्या गले में छाले होना गंभीर होता है, गले के छालों के लिए क्या किया जा सकता है और ऐसी स्थिति में डॉक्टर के पास कब जाएं के बारे में बताया गया है।

(और पढ़ें - गले में छाले का इलाज)

  1. क्या गले में छाले होना खतरनाक होता है - Kya gale ke chale gambhir hote hai
  2. गले के छालों के लिए क्या करे - Gale me chhale ho to kya karna chahiye
  3. गले में छाले होने पर डॉक्टर के पास कब जाएं - Gale ke chalo ke liye doctor ke pas kab jana chahiye

गले में छाले होना अपने आप में कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन ये किसी अंदरूनी समस्या का एक संकेत हो सकते हैं और अगर इनके लिए सही समय पर उचित उपचार न लिया जाए, तो इससे अन्य गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं।

(और पढ़ें - गले में खराश होने पर क्या करें)

गले के छालों के कुछ सामान्य कम गंभीर कारण होते हैं, जैसे यीस्ट, वायरल व बैक्टीरियल इन्फेक्शन। हालांकि, इसके कई गंभीर कारण भी हो सकते हैं, जैसे गले का कैंसर आदि। गले के छाले कैंसर के लिए की जाने वाली कीमोथेरेपी या रेडिएशन थेरेपी के बाद भी गले में छाले हो सकते हैं। कुछ दुर्लभ मामलों में ये भी हो सकता है कि चिकन पॉक्स करने वाले वायरस के कारण गले में छाले हो जाएं।

(और पढ़ें - चिकन पॉक्स होने पर क्या करें)

गले के छालों से इस बात का भी खतरा होता है कि अगर इनका समय पर इलाज न किया जाए तो ये फैल सकते हैं। ऐसी स्थिति में बड़ा खतरा इस बात का होता है कि अगर छाले संक्रमण के कारण हुए हैं, तो ये इन्फेक्शन खून में फैल सकता है और व्यक्ति को ब्लड इन्फेक्शन (सेप्सिस) जैसी खतरनाक समस्या हो सकती है। छालों के कारण गले को स्थायी नुक्सान भी हो सकता है और ऐसा भी हो सकता है कि इससे व्यक्ति की बोलने की क्षमता प्रभावित हो जाए या फिर वह अपनी बोलने की क्षमता ही खो दे।

(और पढ़ें - गले में इन्फेक्शन के लक्षण)

इन बातों से ये समझा जा सकता है कि आमतौर पर गले में छाले होना चिंता का विषय नहीं होता है, लेकिन ये किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है या इसके कारण भी कई समस्याएं हो सकती हैं।

गले में छाले होने पर कुछ समय बाद आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए, ताकि वे आपकी समस्या का सही इलाज कर सकें। तब तक आप निम्नलिखित उपाय या प्राथमिक चिकित्सा कर सकते हैं -

  1. गले में छाले होने पर किया जाने वाला सबसे आम उपाय है नमक के पानी के गरारे करना। इसके लिए एक गिलास पानी में थोड़ा नमक डालकर अच्छे से मिला लें और इस मिश्रण से दिन में तीन से चार बार गरारे करें। याद रहे कि नमक के दाने पानी में अच्छी तरह से घुल जाने चाहिए, नहीं तो ये आपके गले की समस्या और बढ़ा सकते हैं। आप चाहें तो इस मिश्रण में थोड़ा सा बेकिंग सोडा भी मिला सकते हैं। (और पढ़ें - नमक के पानी के फायदे)
  2. गले के छाले ठीक हो जाने तक मिर्ची वाला और मसालेदार भोजन न करें, इससे समस्या और बढ़ सकती है। (और पढ़ें - गला जलने पर क्या करे)
  3. अगर गले के छालों के कारण आपके मुंह से बदबू आ रही है, तो दिन में कम से कम 2 बार ब्रश करें। ब्रश करते समय अपनी जीभ साफ करना न भूलें, क्योंकि वहां भी बैक्टीरिया जमा हो सकते हैं। अगर आपको ज्यादा समस्या है, तो आप दिन में दो से अधिक बार भी ब्रश कर सकते हैं। (और पढ़ें - मुंह की बदबू का घरेलू उपाय)
  4. गले में छाले होने पर शराब बिलकुल न पिएं, इससे गले को गंभीर नुक्सान हो सकता है। इसके अलावा कोई भी ऐसी चीज न लें जिसमें अल्कोहल हो, याद रहे कि माउथवाश में भी अल्कोहल होता है। (और पढ़ें - शराब की लत छुड़ाने के घरेलू उपाय)
  5. गर्म तरल पदार्थ न पिएं, इनसे छालों में दर्द और बढ़ सकता है। गर्म चीजें छालों को और अधिक उत्तेजित कर देती हैं, जिससे उन्हें ठीक होने में अधिक समय लगता है। (और पढ़ें - मुंह के छाले दूर करने के घरेलू उपाय)
  6. गले में सूजन होने से रोकने के लिए तंबाकू न खाएं और सिगरेट भी न पिएं। कोशिश करें कि आप अपनी सिगरेट पीने या तंबाकू खाने की आदत छोड़ दें। अगर ऐसा संभव न हो, तो कम से कम गले के छाले ठीक होने तक सिगरेट या तंबाकू का सेवन न करें। (और पढ़ें - धूम्रपान करना छोड़ने के घरेलू उपाय)
  7. अगर आपके गले में छाले हैं, तो चबाने में सख्त चीजें न खाएं। इनकी बजाय ऐसी चीजें खाएं जो मुलायम हों और आपके गले में लगे नहीं, जैसे आलू या दही। (और पढ़ें - मुंह में छाले होने पर क्या करना चाहिए)
  8. गले के छालों में होने वाले दर्द के लिए आप मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली पेन किलर ले सकते हैं। हालांकि, कोई भी दवा लेने से पहले उसके पैकेट पर दिए निर्देशों को पढ़ें और अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। (और पढ़ें - गले में दर्द होने पर क्या करे)
  9. ठंडी चीजें खाने से आपको गले के छालों में आराम मिल सकता है, लेकिन ऐसी चीजें न लें जिनसे आपकी समस्या और बढे। (और पढ़ें - गला सूखने पर क्या करें)
  10. कोशिश करें कि सोने से पहले फैट वाला खाना ज्यादा न खाएं। (और पढ़ें - वजन कम करने के लिए क्या खाएं)
  11. गले के छाले ठीक हो जाने तक कैफीन, चॉकलेट, पुदीना और खट्टे फलों का सेवन न करें, ये आपके गले के छालों को और बढ़ा सकते हैं। कुछ समय के लिए ये पदार्थ न लें, गला ठीक हो जाने पर आप फिर से ये पदार्थ लेना शुरू कर सकते हैं। (और पढ़ें - पुदीने की चाय के फायदे)
  12. गले के छालों के लिए एक अच्छा सुझाव होता है शरीर में पानी की कमी न होने दें। इसके लिए पूरे दिन में थोड़े-थोड़े तरल पदार्थ पीते रहें। (और पढ़ें - पानी की कमी दूर करने वाले फल)

(और पढ़ें - गला बैठने पर क्या करे)

वैसे तो गले के छालों के लिए आपको एक बार डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए, लेकिन अगर अपने अभी तक ऐसा नहीं किया है, तो अपने डॉक्टर के पास अवश्य जाएं अगर -

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें