ब्लड यूरिया बढ़ना - Uremia in Hindi

Dr. Rajalakshmi VK (AIIMS)MBBS

February 14, 2019

April 05, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
ब्लड यूरिया बढ़ना
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

परिचय
यूरिया वह अपशिष्ट है जिसे साफ करने में आमतौर पर हमारी किडनी मदद करती है। जब रक्त में यूरिया नामक अपशिष्ट की मात्रा बढ़ जाती है तो उस स्थिति को यूरीमिया कहा जाता है। यह लंबे समय से चल रही किसी स्वास्थ्य समस्या, जैसे मधुमेह, हाई ब्लड प्रेशर या किडनी को नुकसान पहुंचाने वाली गंभीर चोट या संक्रमण के कारण हो सकता है।

लगातार कमजोरी बढ़ना और आसानी से थकान हो जाना, मतली और उल्टी के कारण भूख कम लगना आदि ब्लड यूरिया बढ़ने के सामान्य लक्षण हो सकते हैं। धीरे-धीरे बढ़ने वाले किडनी या गुर्दे फैल होने (क्रोनिक रीनल फेल्योर) के रोग में यह सिंड्रोम अधिक आम है, लेकिन किडनी अचानक खराब होने के कारण भी इस स्थिति को देखा जा सकता है।

(और पढ़ें - खून साफ करने वाले आहार)

किडनी शरीर के अंदर कचरे और संभावित खतरनाक पदार्थों को साफ करके फिल्टर के रूप में कार्य करती है। जब गुर्दे अच्छी तरह से काम नहीं करते हैं, तो अपशिष्ट पदार्थ रक्त में वापस आ सकते हैं। यूरिया किडनी की खराबी का एक साइड इफेक्ट है, इसलिए इस स्थिति का इलाज करने के लिए किडनी के इलाज की आवश्यकता होती है।

ब्लड यूरिया बढ़ने की स्थिति का निदान डॉक्टर द्वारा आपके लक्षणों और ब्लड टेस्ट के आधार पर किया जाता है। यूरीमिया या ब्लड यूरिया बढ़ना एक आपातकालीन समस्या है जिसमें तत्काल उपचार की आवश्यकता होती है। यूरीमिया होने पर रोगी को अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता हो सकती है। घर पर यूरीमिया का इलाज करना संभव नहीं है। यदि आपकी किडनी खराब हो गई है, तो आपके खून में से अपशिष्ट पदार्थ निकालने में मदद की जरुरत हो सकती है। डायलिसिस नामक प्रक्रिया भी एक विकल्प है।

(और पढ़ें - किडनी रोग में क्या खाना चाहिए)

ब्लड यूरिया बढ़ने (यूरीमिया) के लक्षण - Uremia Symptoms in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ने के लक्षण क्या हैं?
यूरीमिया नामक सिंड्रोम द्रव, इलेक्ट्रोलाइट और हार्मोन असंतुलन और चयापचय संबंधी असामान्यताओं से जुड़ा हुआ है, ये असामान्यताएं किडनी में खराबी के साथ-साथ विकसित होती हैं। इससे निम्नलिखित प्रकार के लक्षण प्रकट हो सकते हैं:

  • कमजोरी, थकावट और भ्रम, ये लक्षण समय के साथ बढ़ते जाते हैं और आराम या बेहतर पोषण से भी दूर नहीं होते। 
  • हाई ब्लड प्रेशर। (और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं)
  • दिल की समस्याएं, जैसे दिल की धड़कन अनियमित होना, हृदय के चारों ओर की थैली में सूजन (पेरिकार्डिटिस) और दिल पर दबाव बढ़ना। (और पढ़ें - दिल की बीमारी का इलाज)
  • सूजन, विशेष रूप से पैरों और टखनों के आसपास। 
  • सूखी, खुजलीदार त्वचा। 
  • बार-बार पेशाब आना, क्योंकि गुर्दे अपशिष्ट पदार्थ से छुटकारा पाने के लिए अधिक तेजी से काम करते हैं। 
  • मतली, उल्टी और भूख न लगना। 
  • इन समस्याओं के कारण कुछ लोगों का वजन कम हो सकता है। 
  • मानसिक स्थिति में परिवर्तन होना, जैसे भ्रम, जागरूकता में कमी, उत्तेजना, मनोविकृति, दौरे पड़ना और कोमा में चले जाना।
  • ब्लड टेस्ट में परिवर्तन दिखना। अक्सर, यूरीमिया का पहला संकेत नियमित ब्लड टेस्ट के दौरान रक्त में यूरिया का पाया जाना होता है। 
  • फेफड़ों और छाती के बीच के स्थान में द्रव जमा होने से सांस फूलना। 
  • यूरीमिया होने पर व्यक्ति में मेटाबोलिक एसिडोसिस के लक्षण भी दिख सकते हैं। इस स्थिति में शरीर बहुत अधिक एसिड का उत्पादन करने लगता है।

(और पढ़ें - मेटाबोलिक सिंड्रोम का इलाज)

ब्लड यूरिया बढ़ने (यूरीमिया) के कारण - Uremia Causes in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ने के क्या कारण हैं?
आमतौर पर आपकी किडनी में ठीक न हो सकने वाली क्षति के कारण ब्लड यूरिया बढ़ने लगता है। यह आमतौर पर क्रोनिक किडनी रोग के कारण होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि आपकी दोनों किडनी अब शरीर से अपशिष्ट को फिल्टर करके मूत्र के माध्यम से बाहर भेजने में सक्षम नहीं रहती हैं। इसके बजाय, वह अपशिष्ट आपके रक्तप्रवाह में चला जाता है, जिससे संभावित जानलेवा स्थिति पैदा हो जाती है। क्रोनिक किडनी रोग के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं:

क्रोनिक किडनी रोग ब्लड यूरिया बढ़ने का प्रमुख जोखिम कारक है। किसी व्यक्ति को यदि क्रोनिक किडनी रोग हो तो उसे ब्लड यूरिया बढ़ने का जोखिम अधिक होता है। किडनी की बीमारी का जोखिम निम्नलिखित स्थितियों के कारण बढ़ सकता है: 

(और पढ़ें - हृदय रोग से बचने के उपाय)

ब्लड यूरिया बढ़ने (यूरीमिया) से बचाव - Prevention of Uremia in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ने की समस्या से कैसे बचे?
उम्र और किडनी की बीमारी का पारिवारिक इतिहास जैसे जोखिम इस बीमारी को रोकना अधिक कठिन बना सकते हैं। हालांकि, यथासंभव ज्यादा से ज्यादा बचाव के उपाय करने से मदद मिलती है।

चूंकि यूरीमिया गंभीर किडनी रोग और किडनी फैल होने के कारण होता है इसलिए आप किडनी की बीमारी रोकने के कदम उठाकर यूरीमिया को रोकने की कोशिश कर सकते हैं। निम्नलिखित तरीकों से किडनी की बीमारी को रोका जा सकता है:

  • मधुमेह को नियंत्रित करना। (और पढ़ें - डायबिटीज के लिए योगासन)
  • ब्लड प्रेशर स्वस्थ स्तर पर बनाए रखना। 
  • हृदय तथा रक्त वाहिकाओं के स्वास्थ्य को बनाए रखना। 
  • धूम्रपान न करना। (और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के उपाय)
  • बॉडी मास इंडेक्स के अनुसार वजन का स्वस्थ स्तर बनाए रखना, संतुलित आहार खाना और शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से मदद मिल सकती है। 
  • यदि आप किडनी फैल होने के अंतिम चरण में हैं तो यूरीमिया को रोकने के लिए सबसे अच्छा तरीका है कि आप नियमित डायलिसिस उपचार लें। यह शरीर के अपशिष्ट पदार्थ को आपके खून में नहीं मिलने देगा। 

(और पढ़ें - किडनी खराब होने के लक्षण)

ब्लड यूरिया बढ़ने की समस्या से बचने के अन्य उपाय:

(और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)

ब्लड यूरिया बढ़ने (यूरीमिया) की जांच - Diagnosis of Uremia in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ने का परिक्षण कैसे होता है?
यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपको यूरीमिया हो सकता है, तो वह आपको किसी किडनी विशेषज्ञ से मिलने की सिफारिश कर सकता है, जिसे नेफ्रोलॉजिस्ट कहा जाता है। नेफ्रोलॉजिस्ट, आपकी किडनी कितनी अच्छी तरह काम कर रही है या नहीं यह देखने के लिए कुछ परीक्षण कर सकते हैं।

(और पढ़ें - ईईजी टेस्ट क्या है)

वे ब्लड टेस्ट से आपके रक्त में कुछ चीजों को मापते हैं। जिसमें क्रिएटिनिन नामक रसायन और यूरिया शामिल है। इससे पता चलता है कि आपकी किडनी हर मिनट कितना खून साफ ​​कर सकती है। यह संख्या जितनी कम होगी, आपकी किडनी उतनी ही अधिक क्षतिग्रस्त हो सकती है। इनमें निम्नलिखित परिक्षण शामिल हैं:

इसके अलावा आपका डॉक्टर यूरिन में रक्त कोशिकाओं या प्रोटीन जैसी चीजों की तलाश करने के लिए आपके मूत्र का एक नमूना लेगा। यदि आपके गुर्दे अच्छी तरह से काम कर रहे होंगे तो मूत्र में ये चीजें नहीं मिलेगी।

(और पढ़ें - किडनी फंक्शन टेस्ट कैसे होता है)

 

ब्लड यूरिया बढ़ने (यूरीमिया) का इलाज - Uremia Treatment in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ने का इलाज कैसे होता है?
यूरीमिया का उपचार इसके अंतर्निहित कारण पर केंद्रित होता है। डॉक्टर कुछ स्व प्रतिरक्षित बीमारियों के लिए व्यक्ति की दवाओं को समायोजित कर सकता है या ऑपरेशन से किडनी की पथरी जैसी रुकावट को दूर कर सकता है। मधुमेह को बेहतर ढंग से नियंत्रित करने के लिए और ब्लड प्रेशर के लिए दवा भी मदद कर सकती है।

(और पढ़ें - पथरी के घरेलू उपाय)

यदि आपकी किडनी खराब हो गई है, तो आपके खून से अपशिष्ट पदार्थ निकालने में मदद के लिए डायलिसिस की प्रक्रिया की जा सकती है। डायलिसिस वह प्रक्रिया है जब आपके रक्तप्रवाह से अपशिष्ट, अतिरिक्त तरल पदार्थ और विषाक्त पदार्थों को कृत्रिम रूप से हटाया जाता है। इसमें आमतौर पर एक मशीन के माध्यम से आपके रक्त को पंप किया जाता है जो इसे साफ करती है और आपके शरीर में वापस भेजती है। डायलिसिस में कई घंटे लग सकते हैं और जिन लोगों को उपचार की आवश्यकता होती है, उन्हें अस्पताल में सप्ताह में 3 बार डायलिसिस करवाने जाने की आवश्यकता होती है।

यूरीमिया के रोगियों को आयरन सप्लीमेंट की भी आवश्यकता होती है क्योंकि वे एनीमिया से पीड़ित हो सकते हैं। ब्लड यूरिया बढ़ने संकेत और लक्षणों को जल्दी पहचानना काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि उपचार नहीं होने पर व्यक्ति कोमा में जा सकता है, जबकि लक्षण डायलिसिस की प्रक्रिया द्वारा आसानी से बदले जा सकते हैं।

(और पढ़ें - ब्लड बढ़ाने का तरीका​)

कुछ रोगियों को किडनी ट्रांसप्लांट की भी आवश्यकता हो सकती है। इसमें रोगग्रस्त किडनी को स्वस्थ किडनी के साथ बदलकर किडनी की समस्याओं को रोका जा सकता है। हालाँकि, किडनी ट्रांसप्लांट के लिए लोगों को अक्सर कई वर्षों तक इंतजार करना पड़ता है और इंतजार करते समय तक उन्हें डायलिसिस की आवश्यकता होती है।

(और पढ़ें - गुर्दे के संक्रमण का उपचार)

 

ब्लड यूरिया बढ़ने (यूरीमिया) की जटिलताएं - Uremia Complications in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ने से क्या जटिलताएं हो सकती हैं?
यूरीमिया एक संभावित घातक चिकित्सा स्थिति है जो आमतौर पर एक लंबी बीमारी का संकेत होती है।
अगर यूरीमिया का उपचार न किया जाएं तो यह किडनी फैल होने का कारण बन सकता है। यूरीमिया से ग्रस्त होने पर कुछ लोगों निम्नलिखित जटिलताओं का भी सामना करना पड़ सकता है:

गंभीर यूरीमिया के कारण अचानक रक्तस्राव हो सकता है और इसमें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रक्तस्राव (जठरांत्र में रक्तस्राव), किसी भी अंतर्निहित विकार से या ट्रॉमा से जुड़ा रक्तस्राव आदि स्थितियां शामिल हो सकती है।

(और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर डाइट चार्ट)



संदर्भ

  1. Meyer Timothy W., Hostetter Thomas H. Approaches to Uremia. J Am Soc Nephrol. 2014 Oct; 25(10): 2151–2158. PMID: 24812163.
  2. Hamed Sherifa A. Neurologic conditions and disorders of uremic syndrome of chronic kidney disease: presentations, causes, and treatment strategies. Expert Rev Clin Pharmacol. 2019 Jan;12(1):61-90. PMID: 30501441.
  3. Almeras Cyrielle, Argilés Angel. The general picture of uremia. Semin Dial. Jul-Aug 2009;22(4):329-33. PMID: 19708976.
  4. Lin SH, Liao WH, Huang SH. Uraemic lung in severe azotaemia. BMJ Case Rep. 2013 Aug 20;2013:bcr2013200966. PMID: 23964053.
  5. Meyer TW, Hostetter TH. Uremia. N Engl J Med. 2007 Sep 27;357(13):1316-25. PMID: 17898101.
  6. Zemaitis MR, et al. Uremia. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan.

ब्लड यूरिया बढ़ना के डॉक्टर

Dr. Vijay Kher Dr. Vijay Kher गुर्दे की कार्यवाही और रोगों का विज्ञान
46 वर्षों का अनुभव
Dr. Shyam Bihari Bansal Dr. Shyam Bihari Bansal गुर्दे की कार्यवाही और रोगों का विज्ञान
24 वर्षों का अनुभव
Dr. Pranaw Kumar Jha Dr. Pranaw Kumar Jha गुर्दे की कार्यवाही और रोगों का विज्ञान
18 वर्षों का अनुभव
Dr. Manish Jain Dr. Manish Jain गुर्दे की कार्यवाही और रोगों का विज्ञान
22 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

ब्लड यूरिया बढ़ना की दवा - Medicines for Uremia in Hindi

ब्लड यूरिया बढ़ना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹116.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹97.2

20% छूट + 5% कैशबैक


₹71.1

20% छूट + 5% कैशबैक


₹108.0

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 4 of 4 entries