myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गर्भावस्था के आठवें महीने में, झुकने वाले काम करना बहुत बड़ी चुनौती होती है और आपको खुद के जूतों के फीते बाँधने में दिक्कत हो सकती है। इस समय आप और आपका बच्चा प्रेग्नेंसी के अंतिम चरण में होते हैं। ये हफ्ता पिछले ही कुछ हफ्तों की तरह लग सकता है, लेकिन चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि ये महीना भी जल्द ही निकल जाएगा और जल्द ही आप मां बन जाएंगी।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के हफ्ते)

  1. गर्भावस्था के आठवें महीने में बच्चे का विकास - Baby growth during 8th month of pregnancy in Hindi
  2. प्रेग्नेंसी के आठवें महीने में शरीर में होने वाले बदलाव - Changes in body during 8th month of pregnancy in Hindi
  3. आठवें महीने की गर्भावस्था के बारे में जानने योग्य बातें - - Things to know about eighth month of pregnancy in Hindi

आपके बच्चे का शरीर अब पूरी तरह से बन चुका होता है, हालांकि फेफड़ों और मस्तिष्क का अभी भी विकास हो रहा होता है। आपका बच्चा अब जब चाहे झपकी ले सकता है और उसकी पुतलियां, प्रकाश और अंधेरे में फैलना और सिकुड़ना भी शुरू कर देती हैं।

बच्चे का विकास हो रहा होता है और उसके शरीर में चर्बी भी चढ़ने लगती है। वह एक हफ्ते में लगभग 450 ग्राम वज़न अर्जित कर लेता है। इस महीने के अंत तक वह 19 इंच लंबा होगा और वज़न में लगभग 2-3 किलो का होगा।

अब आपके गर्भ में जगह भी कम बचती है इसलिए वो अब पहले की तरह घूम नहीं पाता है। और अब उसका सिर संभवतया नीचे की ओर हो जाता है और वो इसी स्थिति में पैदा होने तक रहता है।

(और पढ़ें - गर्भ में बच्चे का विकास कैसे होता है)

आप अपने पेट को काफी बढ़ा हुआ महसूस करेंगी और इस समय तक प्रेग्नेंसी से आप थक चुकी होती हैं। वास्तव में ऐसा इसलिए भी होता यही क्योंकि हार्मोन, आपके कूल्हों के जोड़ों को आराम पहुंचाने के लिए उन्हें थोड़ा ढीला कर देते हैं जिससे प्रसव और डिलीवरी में आसानी हो सके, जिसकी वजह से आप डगमगाते हुए चलना शुरु कर देती हैं।

(और पढ़ें - हार्मोन्स का महत्व महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए)

जैसे जैसे आपका शरीर डिलीवरी के लिए तैयार होता है, आपको अधिक और जल्दी जल्दी ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन (Braxton Hicks contractions) और कोलोस्ट्रम (Colostrum- मां का पहला पीले रंग का दूध) रिसाव का अनुभव होगा। आपको आरामदायक मांसपेशियों के कारण और अधिक सीने में जलन महसूस हो सकती है। लगभग 40 प्रतिशत महिलाओं के लिए गर्भावस्था का एक और दुर्भाग्यपूर्ण प्रभाव वैरिकोज वेन्स (Varicose veins- त्वचा की ऊपरी सतह पर उभरी हुयी नसें) का होता है।

(और पढ़ें - गर्भवती होने के उपाय और नॉर्मल डिलीवरी कैसे होती है)

इसके अतिरिक्त, जैसे जैसे बच्चा बड़ा होता है, वह आपके मूत्राशय पर दबाव डालता है, इसलिए आप शायद बाथरूम का अधिक उपयोग करेंगी। यदि आप सार्वजनिक जगह पर हैं और पंक्ति में कड़ी हैं तो शर्माने की ज़रूरत नहीं है। आप लोगों से अनुरोध कर के पहले जाने का प्रयास कर सकती हैं। बल्कि लोग ख़ुशी ख़ुशी आपको पहले जाने देंगे।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में होने वाली समस्याओं का समाधान और प्रेगनेंसी टेस्ट)

थोड़ी मात्रा में, बार बार भोजन करने से गर्भावस्था में एसिडिटी और सीने में जलन तथा अपच की समस्या से राहत मिलती है। प्रीनेटल सप्प्लिमेंट्स को याद से लेती रहें। आपके शरीर को इस समय सभी पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

(और पढ़ें -  गर्भावस्था में अपच का इलाज)

यदि आप अपने बच्चे के पैदा होने से पहले स्तनपान के बारे में सब कुछ सीखना चाहती हैं तो हॉस्पिटल से ही इन कक्षाओं के बारे में पता करिये। निप्पल के कटने फटने (इस समय की आम समस्या) से बचने के लिए आप निप्पल क्रीम का उपयोग भी कर सकती हैं।

(और पढ़ें - स्तनपान के फायदे बच्चों और माताओं के लिए)

अब आपको अस्पताल जाने के लिए अपना बैग पैक और बच्चे का ज़रूरी सामान रख लेना चाहिए। अपने माता पिता या सास ससुर या फिर रिश्तेदारों को जो बच्चे के जन्म के कुछ दिन बाद आपकी और बच्चे की देखभाल के लिए आपके पास रुक सकें उनसे इस बारे में बात कर लें। इन सब बातों के अलावा अब आप बच्चे का नाम भी सुनिश्चित कर लीजिये।

आप थका हुआ महसूस करेंगी लेकिन आपको सोने में परेशानी हो सकती है। प्रेग्नेंसी तकिया (Pregnancy pillow) या घुटनों के बीच तकिया रखकर रोने की कोशिश करें। अपने बायीं तरफ करवट देकर सोने में आपको अधिक आराम होगा, ऐसा आप खुद महसूस करेंगी।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में थकान)

और पढ़ें ...