गर्भावस्था का छठा महीना, दूसरी तिमाही का आखिरी महीना होता है। अब तक आपका पेट काफी बड़ा हो जाता है साथ ही आपके शरीर के अन्य अंगों में भी थोड़ी बहुत वृद्धि हो जाती है। जैसे जैसे आपके बच्चे का विकास होता है, आपका शरीर भी बढ़ता जाता है। इस महीने में होने वाले परिवर्तनों पर इस लेख में चर्चा की गयी है।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के हफ्ते)

  1. गर्भावस्था के छठे महीने में बच्चे का विकास - Baby growth during sixth month of pregnancy in Hindi
  2. प्रेग्नेंसी के छठे महीने में शरीर में होने वाले बदलाव - Changes in body during 6th month of pregnancy in Hindi
  3. छठे महीने की गर्भावस्था के बारे में जानने योग्य बातें - Things to know about sixth month of pregnancy in Hindi
  4. प्रेगनेंसी का छठा महीना के डॉक्टर

बच्चा छठे महीने में एक फुट लम्बा और करीब 680 ग्राम का हो जाता है। इस महीने के अंत तक वो लगभग पूरी तरह से बन चुका होता है हालांकि, उसके अंग अभी भी विकसित हो रहे होते हैं और फेफड़े अभी तक स्वयं कार्य करने के लिए विकसित नहीं हुए हैं।

बच्चे का सिर इस समय लगभग उसके शरीर के अनुपात का होता है और उसका चेहरा पूरी तरह से विकसित हो जाता है। यद्यपि बच्चे की आँखें अभी भी बंद होती हैं, वह प्रकाश और अंधेरे को महसूस कर सकता है।

बच्चे की त्वचा अब पारदर्शी नहीं रहती क्योंकि उसको गर्म रखने के लिए उसका शरीर वसा का उत्पादन करना शुरू कर देता है। उसकी मांसपेशियां मजबूत होने लगती हैं, जिसका आपको तब अनुभव होगा जब वो किक मारेगा या कुलबुलायेगा। उसका शरीर, सफेद रक्त कोशिकाएं बना रहा होता है जो रोगों से लड़ने में उसकी मदद करती हैं।

(और पढ़ें - गर्भ में बच्चे का विकास कैसे होता है)

अब तक आपको पीठ दर्द, पैरों और टांगों में ऐंठन की शायद आदत हो गयी होगी। यदि आप अभी तक गर्भावस्था तकिया या मैटरनिटी सपोर्ट बेल्ट (Maternity support belt) के बिना काम चला रहीं हैं तो अब उसे खरीद लें क्योंकि अब अगली तिमाही में असुविधाएं और भी ज्यादा महसूस हो सकती हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में दर्द)

आप टखनों और पैरों में सूजन का अनुभव भी कर सकती हैं। प्रेग्नेंसी में सूजन की वजह से आपके जूतों का साइज भी बढ़ सकता है। इस दौरान साइज अधिक न बढ़े इसके लिए बेहतर है कि आप जूते ही पहनें। क्योंकि आपके पेट की तरह, बच्चे के जन्म के बाद आपके पैर फिर से छोटे नहीं होंगे (या यदि होते भी हैं, तो कुछ सालों में होंगे)।

इस महीने से आप यह भी गौर करेंगी कि पीले तरल का योनि स्राव हो रहा है, जिसे ल्यूकोरिया (Leukorrhea) कहते हैं। अपच, सीने में जलन और बवासीर आम समस्याएं भी प्रमुख हैं।

आपका गर्भाशय, मूत्राशय पर बिना दबाव डाले ऊपर की ओर बढ़ रहा होता है और इसलिए संभवतः आप अभी बाथरूम का ज्यादा उपयोग नहीं करती हैं। आप ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन (Braxton Hicks contractions) महसूस कर सकती हैं। ये छोटे छोटे संकुचन, आपके शरीर को प्रसव के समय के लिए तैयार करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में सीने में जलन)

अब तक आपका वज़न लगभग 5-7 किलो बढ़ चुका होता है। स्वस्थ गर्भावस्था आहार खाने की कोशिश करें, प्रीनेटल विटामिन लेती रहें और खुद को हाइड्रेटेड रखें।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में वजन बढ़ना)

यदि आप बवासीर से पीड़ित हैं, तो फाइबर युक्त आहार खाएं जो गर्भावस्था में कब्ज होने से बचाते हैं। अब आप अपने पैरों, स्तनों और पेट पर खिंचाव के निशान देख सकती हैं। बच्चे के जन्म के बाद ये सब हल्के पड़ जाते हैं, लेकिन पूरी तरह से दूर नहीं जाते। अगर आपके शरीर पर खिंचाव के निशान नहीं हैं, तो वो प्रेग्नेंसी के आखिरी महीनों में दिख सकते हैं। कुछ महिलाओं को ये आखिरी या उससे एक हफ्ता पहले अनुभव होते हैं। गर्भावस्था में त्वचा की देखभाल वाले उत्पादों जैसे क्रीम और तेल का उपयोग इन निशानों को कम करने के लिए करें।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के बाद खिंचाव के निशान को दूर करने के तरीके)

आप बच्चे के कपड़े, उसका डाइपर, पालना आदि खरीदना शुरु कर दीजिये क्योंकि जैसे जैसे समय बढ़ता जायेगा इन सारे कामों को करने के लिए आपकी ऊर्जा कम हो जाएगी। इसलिए बच्चे के सामान की शॉपिंग लिस्ट बनाना शुरू कर दीजिये।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में क्या करना चाहिए)

Dr. Neethu Mary

Dr. Neethu Mary

सामान्य चिकित्सा

Dr. Archana Singh

Dr. Archana Singh

सामान्य चिकित्सा

Dr. Fardan Qadeer

Dr. Fardan Qadeer

सामान्य चिकित्सा

और पढ़ें ...