myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

यह तो हम सभी जानते हैं कि ब्रेकफास्ट या सुबह का नाश्ता दिन का सबसे अहम भोजन होता है और यही कारण है कि ज्यादातर हेल्थ और डाइट एक्सपर्ट्स आपको ब्रेकफास्ट स्किप न करने की सलाह देते हैं। लेकिन ब्रेकफास्ट में अनहेल्दी या अस्वास्थ्यकर चीजों का सेवन करना, ब्रेकफास्ट न करने से भी ज्यादा बदतर हो सकता है। लिहाजा बेहद जरूरी है कि आप अपने सुबह के नाश्ते में हेवी और हेल्दी चीजों को शामिल करें। 

(और पढ़ें - सुबह का नाश्ता न करने के हो सकते हैं ये नुकसान)

हेल्दी ब्रेकफास्ट में फाइबरप्रोटीन और हेल्दी फैट से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल होने चाहिए जिससे आपको दिनभर काम करने की ऊर्जा मिलती है और आपका पेट भी भरा हुआ महसूस होता है। इसके विपरीत, सुबह का अस्वास्थ्यकर नाश्ता आपको सुस्त महसूस करा सकता है, आपका वजन बढ़ सकता है और लंबे समय तक रहने वाली क्रॉनिक बीमारियों का भी खतरा हो सकता है।

कई बार हम ब्रेकफास्ट में जो खाते हैं इस बारे में हमें पता नहीं होता कि यह हेल्दी है या नहीं और इसे हमें सुबह के नाश्ते में खाना चाहिए या नहीं। इसलिए आपकी इस कन्फ्यूजन को दूर करने के लिए हम आपको इस आर्टिकल में उन सभी खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहें हैं, जिनका सेवन आपको सुबह के नाश्ते में करना चाहिए और उन सभी फूड आइटम्स के बारे में भी जिन्हें खाकर आपको अपने दिन की शुरुआत बिल्कुल नहीं करनी चाहिए।

(और पढ़ें- वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं)

  1. सुबह के नाश्ते में क्या खाएं - Breakfast me kya khana chahiye
  2. सुबह के नाश्ते में क्या न खाएं - Breakfast me kya nahi khana chahiye
  3. सुबह के नाश्ते में क्या-क्या खाएं और क्या न खाएं के डॉक्टर

अपने दिन की शुरुआत सही तरीके से करना बेहद जरूरी है क्योंकि अगर आप सुबह का नाश्ता नहीं करते हैं तो आप बाद में दिन के समय ज्यादा खाने या ओवरईटिंग करने को मजबूर हो सकते हैं। दूसरी ओर सुबह का स्वस्थ भोजन, ऊर्जा प्रदान करता है, पेट को भरकर संतुष्टि देता है और पूरे दिन सही फैसले लेने में आपकी मदद करता है।

(और पढ़ें - खाली पेट क्या खाना पीना चाहिए और क्या नहीं)

  1. सुबह के नाश्ते में खाएं अंडा - Breakfast me khaye eggs
  2. सुबह के नाश्ते में खाएं ओट्स या दलिया - Breakfast me khaye oats ya daliya
  3. सुबह के नाश्ते में खाएं चिया के बीज और अलसी - Breakfast me khaye chia seeds aur alsi
  4. सुबह के नाश्ते में खाएं सूखे मेवे - Breakfast me khaye nuts
  5. सुबह के नाश्ते में खाएं पनीर - Breakfast me khaye paneer
  6. सुबह के नाश्ते में खाएं फल - Breakfast me khaye fruits

सुबह के नाश्ते में खाएं अंडा - Breakfast me khaye eggs

अध्ययनों से पता चला है कि ब्रेकफास्ट में अंडा खाने से परिपूर्णता की भावना बढ़ जाती है, अगले भोजन में कैलोरी इनटेक की मात्रा कम हो जाती है और ब्लड शुगर व इंसुलिन के लेवल को स्थिर रखने में मदद मिलती है। एक अध्ययन में पाया गया कि नाश्ते में अंडे खाने वाले पुरुषों ने अधिक संतुष्टि महसूस की और दिन के बाकी समय कम कैलोरी का सेवन किया उन लोगों की तुलना में जिन्होंने ब्रेकफास्ट में  ब्रेड खाया। आप चाहें तों नाश्ते में उबला हुआ अंडा, ऑमलेट या पोच किया हुआ अंडा भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - अंडे का पीला भाग या सफेद, क्या है ज्यादा फायदेमंद)

सुबह के नाश्ते में खाएं ओट्स या दलिया - Breakfast me khaye oats ya daliya

ओट्स या दलिया न सिर्फ कैलोरी में कम होता बल्कि इसमें कॉम्प्लेक्स कार्ब्स की मात्रा भी अधिक होती है। ओट्स में बीटा-ग्लूकन होता है, यह एक प्रकार का फाइबर है जो नियमित रूप से खाने पर कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने में मदद करता है। ओट्स या दलिया का सेवन करने के और भी कई फायदे हैं क्योंकि इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड, फोलेट और पोटैशियम भी होता है। ओट्स में एंटीऑक्सिडेंट्स भी होते हैं जो ब्लड प्रेशर को कम करके हृदय रोग से बचाने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - ओट्स बनाने की विधि और तरीका)

सुबह के नाश्ते में खाएं चिया के बीज और अलसी - Breakfast me khaye chia seeds aur alsi

चिया के बीज पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और फाइबर के बेस्ट स्त्रोतों में से एक है। करीब 28 ग्राम चिया के बीज में 11 ग्राम फाइबर होता है। सुबह के नाश्ते में अगर फाइबर से भरपूर भोजन किया जाए तो पेट भरा हुआ महसूस होता है और दिन के समय ज्यादा भूख नहीं लगती। चिया के बीज में एंटीऑक्सिडेंट्स भी होते हैं जो आपकी कोशिकाओं को फ्री रैडिकल्स से बचाते हैं जो मेटाबॉलिज्म के दौरान उत्पन्न होते हैं। आप चाहें तो बादाम का दूध या नारियल के दूध में चिया सीड्स और बेरिज मिलाकर अपने ब्रेकफास्ट को हेल्दी बना सकते हैं।

अलसी को भी बेहद हेल्दी माना जाता है। इसमें भी फाइबर होते है जो इंसुलिन सेंसिटिविटी को बेहतर बनाकर ब्लड शुगर लेवल को कम करता है और ब्रेस्ट कैंसर से भी सुरक्षित रखने में मदद करता है। 14 ग्राम अलसी में 3 ग्राम प्रोटीन और 4 ग्राम फाइबर होता है। आप चाहें तो अपनी स्मूदी, दही या पनीर में अलसी मिलाकर ब्रेकफास्ट में इसका सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़ें - अलसी के तेल के फायदे नुकसान)

सुबह के नाश्ते में खाएं सूखे मेवे - Breakfast me khaye nuts

इसमें कोई शक नहीं कि नट्स या सूखे मेवे स्वादिष्ट होने के साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर और पेट भरने वाले होते हैं। इन्हें ब्रेकफास्ट में शामिल करने से आपको वजन बढ़ने की चिंता से भी मुक्ति मिल जाएगी। हालांकि, नट्स में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है लेकिन स्टडीज की मानें तो हमारा शरीर इनमें मौजूद सारे फैट को अवशोषित नहीं कर पाता है। सभी तरह के नट्स में मैग्नीशियम, पोटैशियम और हेल्दी मोनोअनसैच्युरेटेड फैट भी होता है जो इंसुलिन प्रतिरोध, हृदय रोग और इन्फ्लेमेशन के खतरे को भी कम करने में मदद करता है। आप चाहें तो सुबह के नाश्ते में ओट्स में, दही में या पनीर के साथ मिलाकर भी 2 चम्मच नट्स का सेवन कर सकते हैं।

(और पढें - अखरोट के फायदे नुकसान)

सुबह के नाश्ते में खाएं पनीर - Breakfast me khaye paneer

पनीर आपके सुबह के नाश्ते के लिए एक बेहतरीन भोजन है। इसमें प्रोटीन अधिक होता है जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है, परिपूर्णता की भावनाओं को पैदा करता है और भूख हार्मोन घ्रेलिन के लेवल को कम करता है। वास्तव में, पनीर अंडे की ही तरह पेट भरने और संतुष्टि देने के लिए जाना जाता है। फुल फैट वाले पनीर में लिनोलिक एसिड (सीएलए) भी होता है, जो वजन घटाने में मदद करता है। एक कप पनीर में 25 ग्राम तक प्रोटीन होता है। प्रोटीन से भरपूर नाश्ता आपकी सेहत के लिए बेहद जरूरी है।

(और पढ़ें - पनीर या चीज में से क्या है ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक)

सुबह के नाश्ते में खाएं फल - Breakfast me khaye fruits

फल पौष्टिक और स्वादिष्ट नाश्ते का अच्छा विकल्प हैं। सभी प्रकार के फलों में विटामिन, पोटैशियम, फाइबर होता है और कैलोरी भी अपेक्षाकृत कम होती है। खट्टे फलों में विटामिन सी बहुत अधिक होता है। वास्तव में, एक बड़ा संतरा विटामिन सी के लिए अनुशंसित दैनिक सेवन का 100% से अधिक प्रदान कर सकता है। उच्च फाइबर और पानी की अधिक मात्रा के कारण फल भी बहुत जल्दी आपका पेट भर देते हैं। संतुलित नाश्ते के लिए ब्रेकफास्ट में अंडा, पनीर, या दही के साथ फल खाएं ताकि आपको घंटों तक भूख न लगे। 

(और पढ़ें - संतुलित आहार चार्ट)

अपने ब्रेकफास्ट को हेल्दी बनाने के लिए आपको क्या-क्या खाना चाहिए ये तो हमने आपको बता दिया लेकिन ऐसी बहुत सी चीजें हैं, जिनका सेवन आपको भूल से भी ब्रेकफास्ट के दौरान नहीं करना चाहिए। कौन से हैं वे खाद्य पदार्थ यहां जानें :

  1. सुबह के नाश्ते में न खाएं ब्रेकफास्ट सेरियल्स - Breakfast me na khaye cereals
  2. सुबह के नाश्ते में न करें फ्रूट जूस का सेवन - Breakfast me na piye fruit juice
  3. सुबह के नाश्ते में न खाएं टोस्ट और मक्खन - Breakfast me na khaye bread butter
  4. सुबह के नाश्ते में न खाएं इंस्टेंट फ्लेवर्ड ओटमील - Breakfast me na khaye instant oats
  5. फ्लेवर वाली मीठी दही ब्रेकफास्ट में न खाएं - Breakfast me na khaye flavour wali dahi
  6. सुबह के नाश्ते में न खाएं पूड़ी-सब्जी - Nashte me na khaye poori sabji
  7. सुबह के नाश्ते में न करें चाय या कॉफी का सेवन - Nashte ki jagah chai coffee na piye

सुबह के नाश्ते में न खाएं ब्रेकफास्ट सेरियल्स - Breakfast me na khaye cereals

बहुत से लोगों को लगता है कि सुबह के नाश्ते में ब्रेकफास्ट सेरियल्स जैसे कॉर्न फ्लेक्स, म्यूसली आदि चीजों का दूध के साथ सेवन करना पोषक तत्वों से भरपूर हेल्दी नाश्ता है। सेरियल्स के इन पैकेट्स पर स्वास्थ्य से जुड़े कई तरह के दावे भी किए जाते हैं कि इसमें साबुत अनाज है और ये सेरियल्स विटामिन ए और आयरन जैसे तत्वों से भरपूर होते हैं। लेकिन हकीकत तो ये है कि ये सेरियल्स अत्यधिक प्रोसेस्ड होते हैं और इसमें साबुत अनाज की बेहद थोड़ी मात्रा होती है। इसके अलावा, पोषक तत्वों को कृत्रिम रूप से फोर्टिफिकेशन नाम की प्रक्रिया के तहत इनमें जोड़ा जाता है।

(और पढ़ें - ये सुबह का नाश्ता हेल्दी होने के साथ ही आपका समय भी बचाएगा)

यदि आप जल्दबाजी में हैं और सेरियल्स ही नाश्ते में आपका एकमात्र विकल्प हैं, तो सेरियल्स के साथ उसमें फल, सूखे मेवे, बीज या बिना फ्लेवर वाली दही मिलाकर खाएं। ऐसा करने से आपको अतिरिक्त प्रोटीन और हेल्दी फैट मिल जाएगा।

सुबह के नाश्ते में न करें फ्रूट जूस का सेवन - Breakfast me na piye fruit juice

अगर आप भूख, वजन बढ़ने और पुरानी बीमारी से बचने की कोशिश कर रहे हैं तो फलों का रस सुबह के नाश्ते के तौर पर सबसे खराब विकल्पों में से एक है। बाजार में मिलने वाले कुछ फ्रूट जूस ऐसे हैं जिनमें वास्तव में बहुत कम फलों का रस होता है और चीनी या उच्च फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप की मात्रा सबसे अधिक होती है और उसी से उसे मीठा स्वाद दिया जाता है। यहां तक कि 100 फीसदी फ्रूट जूस में भी काफी मात्रा में चीनी होती है।

(और पढ़ें - आपके मनपसंद जूस में है कितनी कैलोरी जानें)

सुबह के नाश्ते में खाली पेट फलों का रस पीने से आपका ब्लड शुगर बहुत तेज़ी से बढ़ता है, क्योंकि अवशोषण की प्रक्रिया को धीमा करने के लिए इसमें कोई वसा या फाइबर नहीं होता है। इंसुलिन में बढ़ोतरी और ब्लड शुगर में गिरावट के परिणामस्वरूप आपको थकान, अस्थिरता और भूख महसूस हो सकती है।

सुबह के नाश्ते में न खाएं टोस्ट और मक्खन - Breakfast me na khaye bread butter

ब्रेड बटर या टोस्ट और बटर बहुत से लोगों का पसंदीदा ब्रेकफास्ट होता है और उन्हें लगता है कि यह एक हेल्दी नाश्ता भी है क्योंकि इसमें किसी तरह की चीनी नहीं होती। लेकिन 2 कारणों से ब्रेड बटर या टोस्ट बटर अस्वास्थ्यकर नाश्ता है। पहला- ज्यादातर ब्रेड जिस आटे से बनती है वह रिफाइंड होता है और उसमें फाइबर और पोषक तत्वों की मात्रा न के बराबर होती है। चूंकि इसमें रिफाइंड कार्ब्स की मात्रा अधिक और फाइबर की मात्रा बेहद कम होती है, इसलिए यह आपके ब्लड शुगर लेवल को बहुत तेजी से बढ़ा सकता है।

(और पढ़ें - सफेद ब्रेड या ब्राउन  ब्रेड क्या है हेल्दी)

दूसरा- ज्यादातर मक्खन या बहुत से लोग मार्गरिन का भी इस्तेमाल करते हैं इन दोनों में ट्रांसफैट होता है जो बेहद खतरनाक कृत्रिम फैट है और यह बैड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाकर, गुड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, जिस कारण डायबिटीज और हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। फिर चाहे आप ब्राउन ब्रेड या साबुत अनाज से बनने वाली आटा ब्रेड का ही इस्तेमाल क्यों न करें, सुबह के नाश्ते में ब्रेड बटर खाना हेल्दी नहीं है।

(और पढ़ें - घी या मक्खन क्या है सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद)

सुबह के नाश्ते में न खाएं इंस्टेंट फ्लेवर्ड ओटमील - Breakfast me na khaye instant oats

ओट्स को सुबह के नाश्ते के तौर पर हेल्दी माना जाता है इसलिए बहुत से लोग अपना समय बचाने के लिए मार्केट से इंस्टेंट ओटमील का पैकेट ले आते हैं जिसे सुबह के नाश्ते के तौर पर खाना हेल्दी नहीं है। फटाफट बनने के लिहाज से इंस्टेंट ओटमील बहुत ज्यादा प्रोसेस्ड होता है और उसमें फाइबर और बाकी के न्यूट्रिएंट्स भी न के बराबर ही होते हैं। ऊपर से उसमें मौजूद फ्लेवर आर्टिफिशयल एडेटिव्स और अतिरिक्त शुगर के साथ होता है। लिहाजा अगर आप नाश्ते में ओट्स खाना चाहते हैं तो बिना फ्लेवर वाले नॉर्मल ओट्स को दूध, ताजे फल, नट्स और शहद के साथ मिलाकर खाएं।

फ्लेवर वाली मीठी दही ब्रेकफास्ट में न खाएं - Breakfast me na khaye flavour wali dahi

बहुत से लोगों को लगता है कि सुबह के नाश्ते में दही या योगर्ट का सेवन करने से वे एक हेल्दी ब्रेकफास्ट कर रहे हैं, लेकिन आप नाश्ते में कौन सी या किस तरह की दही खा रहे हैं यह सबसे ज्यादा अहमियत रखता है। फ्लेवर वाली मीठी दही में चीनी या हाई-फ्रक्टोज कॉर्न सिरप, आर्टिफिशल फ्लेवर्स और प्रिजर्वेटिव्स होते हैं और इसलिए ब्रेकफास्ट में इसे खाना कहीं से भी हेल्दी ऑप्शन नहीं है। आप चाहें तो घर में जमाई हुई सादी दही का सेवन कर सकते हैं। अगर आपको दही में फ्लेवर डालना ही तो उसमें ताजे फल, सूखे मेवे और बीज मिलाकर खाएं। यह ज्यादा हेल्दी ब्रेकफास्ट होगा।

(और पढ़ें - खाने के बाद दही का सेवन क्यों है फायदेमंद)

सुबह के नाश्ते में न खाएं पूड़ी-सब्जी - Nashte me na khaye poori sabji

चूंकि ज्यादातर लोगों का यही मानना है कि सुबह का नाश्ता हेवी होना चाहिए इसलिए बहुत से लोग ब्रेकफास्ट में पूड़ी सब्जी भी खाना पसंद करते हैं। लेकिन यह भी नाश्ते का एक अनहेल्दी विकल्प है क्योंकि पूड़ी तली हुई होती है और सुबह-सुबह इतनी तली-भुनी चीज का सेवन करना आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं है। आप चाहें तो पूरी की जगह रोटी का सेवन कर सकते हैं, जिसमें तेल या घी की जरूरत नहीं होती।

सुबह के नाश्ते में न करें चाय या कॉफी का सेवन - Nashte ki jagah chai coffee na piye

अगर आपको सुबह आंख खोलने के साथ ही चाय या कॉफी पीने की आदत है तो अपनी इस बुरी आदत को आज ही बदल दें। खाली पेट चाय या कॉफी पीकर कैफीन के साथ अपने दिन की शुरुआत करना कहीं भी हेल्दी विकल्प नहीं है। आपके पेट में एक बार कुछ हेल्दी सॉलिड नाश्ता चला जाए उसके बाद चाय या कॉफी पी सकते हैं लेकिन खाली पेट चाय या कॉफी का सेवन बिल्कुल न करें।

(और पढ़ें- खाली पेट सुबह चाय या कॉफी पीना क्या अच्छी आदत है)

Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Avtar Singh Kochar

Dr. Avtar Singh Kochar

पोषणविद्‍
20 वर्षों का अनुभव

Dr. priyamwada

Dr. priyamwada

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें