myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

गर्भावस्था के दौरान, ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन (एचसीजी; HCG) हार्मोन का उत्पादन होता है। यह प्लेसेंटा में बनने वाली कोशिकाओं द्वारा उत्पादित होता है, जो निषेचन के बाद अंडे को पोषित करता है और गर्भाशय की दीवार से जुड़ने में मदद करता है।

गर्भधारण के 11 दिनों बाद रक्त परीक्षण और 12-14 दिनों बाद मूत्र परीक्षण द्वारा इसके स्तर का पता लगाया जा सकता है।

(और पढ़ें - पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करें और बच्चा गोरा होने के उपाय)

आमतौर पर, हर 72 घंटों में एचसीजी का स्तर दोगुना होता जाता है। गर्भावस्था के शुरुआती 8-11 हफ़्तों में इस हार्मोन का स्तर चरम पर पहुंच जाता है और फिर शेष गर्भावस्था में इसके स्तर में गिरावट आती जाती है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी टेस्ट और test tube baby in hindi)

  1. एचसीजी हार्मोन के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य - Things to know about HGC hormone in Hindi
  2. प्रेग्नेंसी में एचसीजी हार्मोन के लिए गाइड लाइन - Guideline to HCG levels during pregnancy in Hindi
  3. एचसीजी हार्मोन का स्तर कम और अधिक होने का अर्थ - What Can a low hcg or high HCG level means in Hindi
  4. गर्भावस्था की समाप्ति के बाद एचसीजी हार्मोन का स्तर - HCG levels after pregnancy loss in Hindi
  5. एचसीजी के स्तर पर अन्य चीज़ों का प्रभाव - What can interfere with hcg levels in Hindi
  1. जैसे जैसे आपकी गर्भावस्था बढ़ती है आपका एचसीजी स्तर भी अधिक हो जाता है बल्कि यह इतनी तेज़ी से बढ़ता है कि 96 घंटों में दोगुना भी हो सकता है।
  2. बहुत अधिक एचसीजी स्तर न हो इसके लिए सावधानी बरतनी चाहिए। एक सामान्य गर्भावस्था में एचसीजी का स्तर कम हो सकता है और परिणामस्वरूप आप एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती हैं। अल्ट्रासाउंड के परिणामस्वरुप 5-6 हफ़्तों के गर्भ के बाद अगर एचसीजी स्तर का उपयोग किया जाये तो अधिक सटीक परिणाम सामने आते हैं। (और पढ़ें - गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड)
  3. 5 एमआईयू/एमएल से कम एचसीजी स्तर गर्भावस्था के लिए नकारात्मक माना जाता है, और 25 एमआईयू / एमएल से ऊपर के स्तर को गर्भावस्था के लिए सकारात्मक माना जाता है।
  4. 6 और 24 एमआईयू/एमएल के बीच के एचसीजी स्तर को ग्रे (Grey) क्षेत्र माना जाता है, और आपको गर्भावस्था की पुष्टि के लिए इसकी दोबारा जांच करनी पड़ सकती है। (और पढ़ें - प्रेग्नेंट होने के उपाय)
  5. एचसीजी हार्मोन मिली इंटरनेशनल यूनिट प्रति मिलीलीटर (mIU/mL- एमआईयू/एमएल) में मापा जाता है।
  6. एचसीजी का स्तर 1,000-2,000 एमआईयू / एमएल के बीच पहुंचने के बाद, ट्रांसवैजिनल अल्ट्रासाउंड (Transvaginal Ultrasound) में गर्भावधि सैक दिखाई देने लगता है क्योंकि थोड़े थोड़े स्तर से इतना अंतर पड़ सकता है कि गर्भधारण की तिथि गलत निकल सकती है। इसलिए जब तक एचसीजी स्तर तक कम से कम 2,000 एमआईयू / एमएल तक नहीं हो जाये तब तक गर्भावस्था की पुष्टि नहीं की जा सकती।
  7. केवल एचसीजी स्तर को गर्भावस्था की तिथि के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि ये संख्या काफी भिन्न हो सकती है।
  8. एचसीजी परीक्षण के दो सामान्य प्रकार हैं। गुणात्मक (Qualitative) एचसीजी परीक्षण रक्त में  एचसीजी के होने की पुष्टि करता है। मात्रात्मक (Quantitative) एचसीजी परीक्षण (या बीटा एचसीजी) वास्तव में रक्त में मौजूद एचसीजी की मात्रा को मापता है।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के हफ्ते)

आखिरी मासिक धर्म (LMP- एलएमपी) से एचसीजी हार्मोन का स्तर सप्ताह में (गर्भकालीन आयु):

  1. 3 सप्ताह में एलएमपी: 5 - 50 एमआईयू / एमएल
  2. 4 सप्ताह में एलएमपी: 5-426 एमआईयू / एमएल
  3. 5 सप्ताह में एलएमपी: 18-7,340 एमआईयू / एमएल
  4. 6 सप्ताह में एलएमपी: 1,080 - 56,500 एमआईयू / एमएल
  5. 7-8 सप्ताह में एलएमपी: 7, 650 - 229, 000 एमआईयू / एमएल
  6. 9-12 सप्ताह में एलएमपी: 25,700 - 288,000 एमआईयू / एमएल
  7. 13-16 सप्ताह में एलएमपी: 13,300 - 254,000 एमआईयू / एमएल
  8. 17-24 सप्ताह में एलएमपी: 4,060 - 165,400 एमआईयू / एमएल
  9. 25-40 सप्ताह में एलएमपी: 3,640 - 117,000 एमआईयू / एमएल
  10. जो महिलाएं गर्भवती नहीं होतीं उनमें: 0 - 5 एमआईयू / एमएल
  11. जिन महिलाओं को रजोनिवृत्ति हो चुकी होती है उनमें: 0 - 8 एमआईयू / एमएल। (और पढ़ें - गर्भावस्था के हफ्ते)

उपर्युक्त संख्याएं सिर्फ एक संकेत हैं। वास्तव में हर महिला का एचसीजी स्तर अलग-अलग बढ़ सकता है।

(और पढ़ें - पीरियड से जुड़े सच और झूठ)

कम एचसीजी स्तर होने पर 48-72 घंटों के भीतर फिर से उसकी जांच करानी चाहिए यह देखने के लिए कि उसके स्तर में कैसे बदलाव आ रहा है। एचसीजी का कम स्तर निम्न बातों का संकेत करता है:

  1. गर्भावस्था की तिथि का गलत अनुमान लगाया गया हो।
  2. मिसकैरेज की संभावना या धब्बेदार अंडाणु।
  3. एक्टोपिक गर्भावस्था

एचसीजी हार्मोन का उच्च स्तर होने के भी कई मतलब हो सकते हैं और स्तर में कितना परिवर्तन हो रहा है ये जांचने के लिए 48-72 घंटों के अंदर इसकी दोबारा जांच करानी चाहिए। एचसीजी का उच्च स्तर निम्न बातों का संकेत करता है:

  1. गर्भावस्था की तिथि का गलत अनुमान लगाया गया हो।
  2. मोलर गर्भावस्था (गर्भावस्था की एक दुर्लभ समस्या)।
  3. मल्टीप्ल गर्भावस्था।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के महीने)

ज्यादातर महिलाएं प्रेग्नेंसी ख़त्म होने के चार से छह हफ़्तों के बाद उसी स्थिति में एचसीजी हार्मोन का स्तर लौटने की उम्मीद करती हैं।

हालांकि यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी प्रेग्नेंसी ख़त्म कैसे हुयी है। मतलब आपका अचानक मिसकैरेज हुआ है या डी एंड सी प्रक्रिया, गर्भपात, नार्मल डिलीवरी हुयी है साथ ही प्रेग्नेंसी ख़त्म होने के समय इसका स्तर कितना था, इन सभी बातों पर एचसीजी का स्तर निर्भर करता है।

डॉक्टर आमतौर पर गर्भावस्था ख़त्म होने के बाद एचसीजी के स्तरों का परीक्षण करना जारी रखेंगे जब तक कि वह 5.0 एमआईयू/एमएल से अधिक न हो जाये।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में डॉक्टर से जांच और गर्भावस्था में पेट में दर्द)

यदि आपको टेस्ट करने पर सकारात्मक परिणाम मिलता है, तो आपके गर्भवती होने की सबसे अधिक संभावना होती है। हालांकि, कुछ ऐसी स्थितियां हैं जो गलत सकारात्मक परिणाम दे सकती हैं, जैसे कुछ प्रकार के कैंसर और शुरुआती मिसकैरेज। कुछ एंटीबॉडी भी टेस्ट के परिणाम पर असर डालती हैं साथ ही साथ कुछ दवाएं भी एचसीजी के स्तर पर प्रभाव डाल सकती हैं।

(और पढ़ें - गर्भवती महिला के लिए भोजन)

इन दवाओं का अक्सर प्रजनन क्षमता के इलाज में उपयोग किया जाता है और आपके डॉक्टर को भी आपको यह सलाह देनी चाहिए कि वे किस प्रकार आपके टेस्ट को प्रभावित कर सकती हैं।

एंटीबायोटिक दवाओं, दर्द निवारक, गर्भनिरोधक गोलियों या अन्य हार्मोन संबंधी दवाओं जैसी अन्य सभी दवाओं का एचसीजी के परीक्षण पर कोई प्रभाव नहीं होना चाहिए।

(और पढ़ें - महिला स्वास्थ्य के लिए हार्मोन्स का महत्व)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें