• हिं

यदि आप दैनिक रूप से जैकफ्रूट यानी कटहल के बीज का सेवन करते हैं तो यह विभिन्न प्रकार से स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। यह एशिया में लोकप्रिय है। यह उष्णकटिबंधीय जगहों पर उगाया जाता है। जैकफ्रूट के बीज विभिन्न पोषक तत्वों से परिपूर्ण होते हैं जो आपके ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, इस फल में कोलेस्ट्रॉल और सैचुरेटेड फैट की कोई मात्रा नहीं होती है।

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय)

  1. कटहल के बीज के फायदे - Kathal ke Beej ke Fayde
  2. कटहल के बीज के नुकसान - Kathal ke beej ke nuksan

100 ग्राम कटहल के बीज की एक सर्विंग में 185 कैलोरी होती है। साथ ही इसमें 7 ग्राम प्रोटीन, 38 ग्राम कार्ब और 1.5 ग्राम फाइबर की मात्रा होती है। और इसके अलावा कटहल के बीजों में 1 ग्राम से भी कम फैट होती है।

ये बीज थियामीन और रिबोफ्लाविन के भी बहुत ही अच्छे स्रोत होते हैं। इसमें जिंक, आयरन, पोटेशियम, तांबे और मैंगनीज की भी कुछ मात्रा होती है। इसके अलावा इन बीजों में अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व सैपोनिन जैसे फाइटोकेमिकल्स भी होते हैं। तो आइये जानते हैं इसके लाभों के बारे में -

(और पढ़ें - कटहल के फायदे)

कटहल के बीज के फायदे बचाएं एनीमिया से - Kathal ke beej ke fayde bachayen anemia se

ये बीज लौह में परिपूर्ण होते हैं, जो हीमोग्लोबिन का एक महत्वपूर्ण तत्व होता है। यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण खनिज है क्योंकि यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की प्रक्रिया में मदद करता है। इसके अलावा यह शरीर की लोहे की जरूरत को पूरा करने में मदद कर सकता है। जिससे एनीमिया के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही यह आपकी रक्त से जुड़ी समस्याओं को भी कम कर सकता है।

(और पढ़ें - हीमोग्लोबिन बढ़ाने के उपाय)

 

कटहल के बीज का उपयोग बढ़ाएं एनर्जी का स्तर - Kathal ke beej ka upyog badhayen energy ka star

कटहल के बीजों में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट की भरपूर मात्रा होती है। इसीलिए यदि आप अपने ऊर्जा के स्तर को बढ़ाना चाहते हैं तो आपको इसका उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा इसमें फ्रक्टोज़ के साथ-साथ सुक्रोज की भी भरपूर मात्रा होती है जो चीनी का एक अन्य प्रकार होता है जो शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसीलिए यदि आप अपनी ऊर्जा को बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको सुबह नाश्ते में जैकफ्रूट के बीजों का सेवन करना चाहिए ताकि आप पूरे दिन ऊर्जा से ओतप्रोत रह सकें।

(और पढ़ें - ऊर्जा बढ़ाने के उपाय)

कटहल के बीज के लाभ रखें पाचन को बेहतर - Kathal ke beej ke labh rakhen paachan ko behtar

कटहल के बीज फाइबर का अच्छा स्रोत होते हैं, जो पाचन स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। इसके अलावा, फाइबर का सेवन आपके शरीर के अंदर भोजन को पचाने में भी मदद कर सकता है। इस प्रकार यह आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके अलावा इसके अंदर मौजूद फाइबर के कारण, आपको जल्दी से भूख नहीं लगती है। जिसके कारण यह वजन को नियंत्रित रखने में आपकी मदद कर सकता है।

(और पढ़ें - पाचन तंत्र के रोग)

कटहल के बीजों का पाउडर कब्ज और अन्य पाचन समस्याओं का इलाज करने में मदद कर सकता है।

कुछ सूत्रों के अनुसार दस्त के इलाज के लिए कटहल के बीज भी उपयोग किए जा सकते हैं। लेकिन इनका उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय)

कटहल के बीज के गुण करें कब्ज को दूर - Kathal ke beej ke gun karen kabj ko dur

कटहल के बीज में मौजूद फाइबर, एक अघुलनशील फाइबर होता है जिसका मतलब है कि यह पाचन को बेहतर रखने में आपके शरीर की मदद कर सकता है। इस प्रकार यह कब्ज को रोकने में भी लाभकारी साबित हो सकता है क्योंकि इस फाइबर की उपस्थिति के कारण आपकी पाचन प्रक्रिया स्मूथ हो जाती है। इसके अलावा फाइबर का सेवन भी आपके कोलन को डिटॉक्सीफाई करने और कई प्रकार की बीमारियों को रोकने में मदद करता है।

(और पढ़ें - कब्ज को दूर करने के उपाय)

जैकफ्रूट सीड्स फॉर इम्यून सिस्टम - Jackfruit seeds for immune system

प्रतिरक्षा प्रणाली का मजबूत रहना आपके शरीर के लिए बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि यह विभिन्न खतरनाक चीजों से लड़ने में लाभकारी होती है जो बैक्टीरिया, वायरस और कई अन्य बीमारियों का कारण बन सकती हैं। इस फल के अंदर मौजूद पोषक तत्व आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने और मजबूत रखने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा कटहल के बीजों में ज़िंक की भी भरपूर मात्रा पाई जाती है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करती है। साथ ही इस फल के अंदर एंटीमाइक्रोबायल गुण भी होते हैं जो आपके शरीर में प्रवेश करने वाले बैक्टीरिया से सुरक्षा प्रदान करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - बच्चों की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं)

कटहल के बीज के औषधीय गुण बचाएं कैंसर से - Kathal ke beej ke aushdhiya gun bachayen cancer se

यह फल एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है जिसके कारण यह शरीर के अंदर कैंसर से लड़ने में भी मदद करता है। इसके अंदर एंटीऑक्सिडेंट फ्लैवोनॉयड के साथ-साथ फाइटोन्यूट्रिएंट्स पाया जाता है। ये दो बहुत ही महत्वपूर्ण यौगिक होते हैं जो आपके शरीर के अंदर कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा, ये यौगिक मुक्त कणों से लड़ने में भी मदद करते हैं। इसके अलावा ये बीज कोलन कैंसर के खतरे को भी कम करने में लाभकारी होते हैं, क्योंकि ये आपके पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा ये कोलन से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करते हैं।

(और पढ़ें - कैंसर से लड़ने वाले आहार)

कटहल के बीज का लाभ है अस्थमा में उपयोगी - Kathal ke beej ke labh hain asthma mein upyogi

अस्थमा के कारण श्वसन तंत्र में कुछ समस्या पैदा हो सकती है जिसमें से एक है ब्रोन्कियल डिसऑर्डर। अस्थमा मुख्य रूप से एलर्जी के कारण होता है जैसे धूल और अन्य छोटे कण। लेकिन अस्थमा के लक्षणों का इलाज करने के लिए आप कुछ दवाओं का सेवन कर सकते हैं। अगर आप इन लक्षणों को कम करना या रोकना चाहते हैं तो आपको कटहल के बीजों का सेवन करने चाहिए। क्योंकि ये अस्थमा के लक्षणों को होने से रोकने में मदद कर सकते हैं।

(और पढ़ें - अस्थमा से छुटकारा पाने के उपाय)

कटहल के बीज है कामोद्दीपक औषधी - Kathal ke beej hain kamodhopak aushdhi

कुछ स्रोत के अनुसार कटहल के बीजों में मौजूद आयरन यौन आनंद को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा यौन विकारों के इलाज के लिए पारंपरिक एशियाई दवाओं में कटहल के बीजों का उपयोग किया जाता था। कटहल के बीजों को भून कर खाया जा सकता है और कुछ विशेषज्ञों द्वारा इसे एफ़्रोडायसियाक (aphrodisiac - कामोद्दीपक) माना जाता है।

(और पढ़ें - सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं)

इसके अलावा, आयरन प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ाने में भी मदद करता है। इसलिए आपको इस फल के बीजों का भरपूर सेवन करना चाहिए।

(और पढ़ें - प्रजनन क्षमता में कमी का इलाज)

कटहल के बीज का सेवन है त्वचा के लिए लाभकारी - Kathal ke beej ka sewan hai tvcha ke liye labhkari

कटहल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मुक्त कणों से लड़ने में मदद कर सकते हैं। इन मुक्त कणों की वजह से समय से पहले उम्र बढ़ने लगती है। कटहल के बीज इसके लक्षणों को कम करते हैं जिससे झुर्रियों को भी कम करने में मदद मिलती हैं। ठंडे दूध में कटहल के बीजों को पीस कर पेस्ट तैयार करें। और इस पेस्ट को नियमित रूप से अपने चेहरे पर दिन में एक या दो बार लगाएं।

(और पढ़ें - झुर्रियों का इलाज)

इसके अलावा आप इन बीजों को दूध और शहद में भिगो कर रखें। इसके बाद इस मिश्रण से एक पेस्ट तैयार करें। और इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं। इसके बाद पेस्ट को पूरी तरह सूखने दें और गर्म पानी के साथ अच्छे से धो लें।

(और पढ़ें - दूध पीने के फायदे)

कटहल के बीज रखें बालों को स्वस्थ - Baalon ko swsth rakhen kathal ke beej se

कटहल के बीजों में विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती है। यह बालों को टूटने से रोकने में मदद करता है। इन बीजों में प्रोटीन की भरपूर मात्रा बालों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होती है।

(और पढ़ें - प्रोटीन की कमी से होने वाले रोग)

इसके बीज आयरन से परिपूर्ण होने के कारण, खोपड़ी के रक्त परिसंचरण को बढ़ाते हैं। ये बीज मानसिक तनाव को भी कम करने में मदद करते हैं साथ ही बालों को गिरने से रोकने में लाभकारी होते हैं।

(और पढ़ें - ब्लड सर्कुलेशन धीमा होने के कारण)

ज्ञात जानकारी के अनुसार कटहल के बीज के कोई नुकसान नहीं है पर अधिक मात्र में इसका सेवन आपके स्वास्थ के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

संदर्भ

  1. Ranasinghe, R.A.S.N. et al. Nutritional and Health Benefits of Jackfruit (Artocarpus heterophyllus Lam.): A Review. Int J Food Sci. 2019; 2019: 4327183. PMID: 30723733
  2. Spada, Fernanda Papa. et al. Physicochemical characteristics and high sensory acceptability in cappuccinos made with jackfruit seeds replacing cocoa powder. PLoS One. 2018; 13(8): e0197654. PMID: 30110324
  3. Kabir, S. Jacalin: A Jackfruit (Artocarpus Heterophyllus) Seed-Derived Lectin of Versatile Applications in Immunobiological Research. J Immunol Methods , 212 (2), 193-211. PMID: 9672207
  4. Amadi, Joy. et al. Nutrient and Phytochemical Composition of Jackfruit (Artocarpus heterophyllus) Pulp, Seeds and Leaves. International Journal of Innovative Food, Nutrition &Sustainable Agriculture 6(3):27-32.
  5. Nascimento, J.S. et al. Nutritive Value of Cooked and Uncooked Jackfruit Seed Flour (Artocarpus Integrifolia) (Author's Transl. Rev Bras Pesqui Med Biol , 7 (5-6), 521-4. PMID: 4457964
  6. Khan, M.R. et al. Antibacterial Activity of Artocarpus Heterophyllus. Fitoterapia , 74 (5), 501-5. PMID: 12837372
  7. Octavia, Swastika. et al. Anti-angiogenic effect of Artocarpus heterophyllus seed methanolic extract in ex ovo chicken chorioallantoic membrane. Asian Pacific Journal of Tropical Biomedicine Volume 7, Issue 3, March 2017, Pages 240-244.
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ