myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आपने दूध के फायदों के बारें में तो सुना होगा, लेकिन क्या आपने कच्चे दूध के लाभ के बारें में सुना है। कच्चा दूध पीने से न सिर्फ आपकी त्वचा को लाभ पहुंचता है बल्कि इसे पीने से स्वास्थ भी बेहतर होता है। दूध गर्म करने के बाद उसमें से पोषक तत्व निकल जाते हैं, लेकिन अगर आप दूध को कच्चा पीते हैं तो आपके शरीर को ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्व मिलेंगे। कच्चे दूध के फायदों के अलावा इससे जुड़े कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारें में आप इस लेख में जानेंगे।

(और पढ़ें - डेयरी प्रोडक्ट के गुण)

तो चलिए आपको बताते हैं कच्चे दूध के फायदे और नुकसान:

  1. कच्चा दूध क्या है - Kacha doodh kya hai
  2. कच्चा दूध पीने के फायदे - Kacha doodh peene ke fayde
  3. कच्चा दूध पीने के नुकसान - Kacha doodh peene ke nuksan

कच्चे दूध में कई पोषक तत्व और एंजाइम होते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं, एलर्जी को कम करते हैं और कच्चा दूध आसानी से पच भी जाता है। कच्चा दूध दस्त में भी फायदेमंद होता है। कच्चे दूध को पाश्चराइज्ड (Pasteurized) या होमोजेनाइज्ड (Homogenized) नहीं किया जाता। कच्चा दूध मुख्य रूप से गाय,  बकरी, भैंस और ऊंट से प्राप्त होता है। इसका इस्तेमाल कई तरह के उत्पादों जैसे चीजदही और आइसक्रीम आदि बनाने के लिए किया जाता है।

(और पढ़ें - गर्म दूध पीने के फायदे)

कच्चे दूध के लाभ करे ब्लड प्रेशर नियंत्रित - Kacha doodh peene se blood pressure niyantrit rehta hai

कच्चे दूध में अधिक मात्रा में प्रोटीन होता है जो केसिन (Casein) से बना होता है। इससे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है और शरीर में मिनरल्स ज्यादा अवशोषित हैं। कच्चा दूध पीने से आपको विटामिन डी और कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में मिलता है, यह दोनों हाई बीपी की समस्या को कम करते हैं।

(और पढ़ें - ब्लड प्रेशर में क्या खाना चाहिए​)

कच्चा दूध पीने से लाभ है एलर्जी में - kacha doodh peene se hoti hai allergy door

एक स्टडी का कहना है कि जो बच्चे कच्चा दूध पीते हैं, उनमें कच्चा दूध न पीने वाले बच्चों की तुलना में एलर्जी होने का खतरा 50% और दमा होने का खतरा 41% कम हो जाता है। कई अध्ययनों के मुताबिक कच्चा दूध बच्चों के विकास और अन्य स्वास्थ्य कारणों से भी फायदेमंद होता है, जैसे संक्रमण के प्रति प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना, दांतों को स्वस्थ रखना आदि।

(और पढ़ें - एलर्जी होने पर क्या करें)

कच्चे दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व जैसे प्रोबायोटिक्स, विटामिन डी और इम्यूनोग्लोबुलिंस (एंटीबॉडी) प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। ये बच्चों व वयस्कों में एलर्जी होने का जोखिम भी कम कर देते हैं। कच्चे दूध में मौजूद एंजाइम्स पाचन क्रिया को सही रखने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - एलर्जी के घरेलू उपाय)

कच्चा दूध पीने के फायदे करे पोषण की कमी दूर - Kacha doodh peene ke fayde karte hain poshan ki kami door

एक गिलास कच्चे दूध में लगभग 400 मिलीग्राम कैल्शियम, 50 मिलीग्राम मैग्नीशियम और 500 मिलीग्राम पोटैशियम होता है। यह खनिज कोशिकाओं के कार्य, हाईड्रेशन, रक्त परिसंचरण, हड्डियों की मजबूती, विषाक्त पदार्थ निकालने, मांसपेशियों के स्वास्थ्य और मेटाबॉलिज्म के लिए आवश्यक होते हैं।

(और पढ़ें - पोषण की कमी के इलाज)

कच्चे दूध में मौजूद फैट में विटामिन ए, विटामिन K और विटामिन ई सहित घुलनशील विटामिन होते हैं। यह पानी में घुलनशील विटामिन जैसे विटामिन सी और विटामिन बी से भी समृद्ध होता है, जो आमतौर पर दूध को अत्यधिक गर्म करने पर खत्म हो जाते हैं।

(और पढ़ें - सैचुरेटेड फैट क्या है)

कच्चा दूध पीने से फायदा है पेट के लिए - Kacha doodh peene se pet swasth rehta hai

कच्चा दूध स्वस्थ बैक्टीरिया से समृद्ध होता है और इसीलिए यह बहुत अच्छी प्रोबायोटिक ड्रिंक है जो पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद मानी जाती है। इसमें कई एंज़ाइम्स भी होते हैं जो अन्य खाद्य पदार्थों में मौजूद पोषक तत्वों को पचाने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - पाचन तंत्र मजबूत करने के उपाय)

कच्चे दूध के उपयोग रखे हड्डियां स्वस्थ - Kache doodh se haddiya aur dant hote hain swasth

दूध को कैल्शियम का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। कच्चे दूध में पेस्चुराइज्ड दूध के मुकाबले अधिक मात्रा में कैल्शियम होता है। कैल्शियम हड्डियां और दांत मजबूत व स्वस्थ बनाने में मदद करता है। बल्कि, कच्चे दूध में मौजूद कैल्शियम शरीर में आसानी से अवशोषित हो जाता है।

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत कैसे करें​​)

कच्चा दूध से होता है त्वचा खूबसूरत - Kache doodh se twacha khubsurat hoti hai

कच्चा दूध स्किन टोनर और मॉइस्चराइजर की तरह कार्य करता है। त्वचा को सॉफ्ट और कोमल बनाने के लिए कच्चे दूध का आप सर्दियों में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे रोजाना चेहरे व त्वचा पर लगाने से त्वचा निखरने लगती है। त्वचा की देखभाल करने के लिए जितना हो सके उतना कच्चे दूध का उपयोग करें।

(और पढ़ें - चेहरे पर कच्चा दूध लगाने के फायदे)

कच्चा दूध पीने के अन्य फायदे - Kache doodh peene ke any fayde

कच्चे दूध को पीने से ऊपर बताए गए लाभों के अलावा कुछ अन्य फायदे भी हैं। जैसे - त्वचा, बाल और नाखून स्वस्थ रहते हैं, वजन कम होता है, मांसपेशियों में मांस बढ़ता है, हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (Helicobacter pylori) संक्रमण से लड़ता है, शरीर में लैक्टोज की मात्रा पूरी होती है।

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

कच्चा दूध पीने के नुकसान भी हो सकते हैं, जैसे:

  • दूध पशुओं के अंदर एक स्टेराइल (किटाणु रहित) वातावरण से आता है। जिस समय पशु का दूध निकाला जाता है, उस समय दूध थन की त्वचा, दूध निकालने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले उपकरणों और कभी-कभी जानवरों के मल के संपर्क में भी आ जाता है, जिससे दूध के दूषित होने की संभावना बढ़ जाती है। 
  • कच्चा दूध बैक्टीरिया से संक्रमित होने पर साल्मोनेला (Salmonella) और ई.कोलाई (E.coli) जैसी बीमारियों का कारण बन सकता है। इन बीमारियों के कारण पेडू में दर्द, मतली और उल्टी तथा डायरिया होने की समस्या हो सकती है। (और पढ़ें - उल्टी रोकने के उपाय)
  • कुछ गंभीर मामलों में इन बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है, जिसकी वजह से आपको हॉस्पिटल भी जाना पड़ सकता है और कुछ मामलों में मौत भी हो सकती है। (और पढ़ें - पेडू में दर्द के उपाय)
  • एफडीए के अनुसार कच्चा दूध पीने के कारण कुछ दुर्लभ मामलों में लोगों को गिल्लन बर्रे सिंड्रोम (Guillain-Barré syndrome) हो जाता है, जिसके कारण व्यक्ति को पैरालिसिस हो सकता है।
  • दूध को फ्रिज में रखने से बैक्टीरया को बढ़ने से रोकने में मदद मिलती है, इससे फर्क नहीं पड़ता कि आपका दूद कच्चा है या पाश्चराइज्ड।

(और पढ़ें - पेट दर्द में क्या खाना चाहिए)

और पढ़ें ...