myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

दस्त एक मौसमी बीमारी है, जो संक्रमण की वजह से होता है। लोग इसे लूज मोशन के नाम से भी जानते हैं। यह एक ऐसी बीमारी है, जो आपके शरीर को डिहाइड्रेट करता है। दस्त में संक्रमण मुख्य रूप से आपके खाने-पीने से होता है, जिसे आप फूड प्वाइजिंग भी कह सकते हैं। इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि दस्त में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा दस्त या लूस मोशन के दौरान आपको अधिक से अधिक पानी भी पीना चाहिए। इसके साथ ही साथ कुछ खाद्य पदार्थों से दस्त या लूमोशन में आपको परहेज करना चाहिए।

(और पढ़ें - दस्त रोकने के घरेलू उपाय)

  1. दस्त (लूज मोशन) में क्या खाना चाहिए - What to eat in loose motions in Hindi
  2. दस्त में परहेज और क्या न खाएं - What to avoid and not eat in diarrhea in Hindi

डायरिया में खाना चाहिए केला - Eat bananas in loose motion in Hindi

लूज मोशन के दौरान केला खाना आपके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। केला में मौजूद पोटैशियम आपके पाचन को सामान्य बनाने में मदद करता है। इसके अलावा केला में स्टार्च भी होता है, जो आपके पेट में नमक और पानी के अवशोषण को बेहतर बनाता है, जिससे आपका मल टाइट हो जाता है। इसके साथ ही साथ इसमें फाइबर भी मौजूद होते हैं, जो आपके आंतों के लिए लाभदायक हैं। इसलिए डायरिया या दस्त की समस्या में अन्य फल खाने की बजाय केला खाएं।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय)

लूज मोशन में खाना चाहिए दही - Eat curd in diarrhea in Hindi

दही आपके पेट को शांत रखता है और ठंडक भी पहुंचाता है। इसलिए दस्त में दही खाना बहुत अच्छा होता है। यह एक प्रोबायोटिक है, जिसमें अच्छे बैक्टीरिया होते हैं, जो पाचन क्रिया में सहायक होते हैं और मल त्याग में भी मदद करते हैं। इसी वजह से लूज मोशन में दही खाने की सलाह दी जाती है। 

(और पढ़ें - रात को दही खाना चाहिए या नहीं)

दस्त में खाएं खिचड़ी - Eat khichdi in diarrhea in Hindi

दस्त या डायरिया में हल्का भोजन खाना आपके लिए बहुत ज्यादा लाभदायक होता है। इसलिए मूंगदाल की खिचड़ी खाना आपके लिए बहुत अच्छा होगा। यह आपको आवश्यक उर्जा प्रदान करता है और आसानी से पच जाता है। व्हाइट राइस फाइबर युक्त अनाज की तुलना में बहुत आसानी से पच जाता है और आपके मल को भी टाइट बनाता है।

(और पढ़ें - खिचड़ी के फायदे)

डायरिया में खाएं सेब - Eat apple in loose motions in Hindi

दस्त के दौरान आप सेब भी खा सकते हैं। यह पैक्टीन का बहुत अच्छा स्त्रोत है, जिसमें किसी चीज को बांधने या गढ़ा करने के गुण होते हैं। सेब को आप धीमी आंच पर पका कर खाएं, यह आपके लिए और लाभदायक होगा है। इसलिए लूज मोशन या डायरिया की समस्या में सेब खाएं।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे)

दस्त में खाएं ओटमील - Eat oatmeal in diarhhea in Hindi

ओटमील में घुलनशील फाइबर होते हैं, जो जठरांत्र नली (गैस्ट्रोइन्टेस्टनल ट्रैक्ट) से पानी को अवशोषित करते हैं। इससे आपके मल को टाइट होने में मदद मिलता है, जिससे आपको बार-बार मल त्याग की इच्छा नहीं होती है। ओटमील में दूध न मिलाएं, इसके जगह पर आप सब्जियां जैसे बीन्स, खीरे और गाजर मिलाकर ओटमील को और भी स्वादिष्ट बना सकते हैं। इसलिए जब भी आपको दस्त की समस्या हो, तो ओटमील खाएं और इस समस्या से राहत पाएं।

(और पढ़ें - हेल्दी और स्वादिष्ट ओट्स रेसिपी)

दस्त रोकने के लिए खाना चाहिए उबला आलू - Eat boiled potatoes if you have lose motions in Hindi

आलू को उबालकर या बेक्ड आलू को मसलकर उसमें एक चुटकी नमक और मिर्च मिलाकर खाएं। इससे आपको दस्त से जल्द से जल्द राहत मिलेगी। दस्त की समस्या में हमेशा स्टार्च युक्त भोजन की सलाह दी जाती है। इसलिए लूज मोशन में आलू खाना बहुत ज्यादा उपयोगी होता है। दस्त के दौरान आपके शरीर से विटामिन सी और विटामिन बी-6 मल के रूप में बाहर निकल जाते हैं। अत: आलू आपके शरीर में विटामिन सी और विटामिन बी-6 की पुन: से भरपाई करता है।

(और पढ़ें - कार्बोहाइड्रेट के फायदे)

इसके साथ ही साथ दस्त के दौरान आपके शरीर से बहुत अधिक मात्रा में पानी, सोडियम और खनिज मल के रूप में बाहर निकल जाते हैं। इसलिए आहार या पेय पदार्थ के माध्यम से इनका भरपाई करना बहुत जरूरी होता है। पेय पदार्थ में नारियल पानी और छाछ पीएं। इसके अलावा संतरा, अनार और तरबूज का जूस पी सकते हैं। डिहाइड्रेशन और थकान से बचने के लिए जूस और तरल पेय सबसे अच्छा तरीका है।

(और पढ़ें - थकान दूर करने के लिए क्या खाएं)

डायरिया में बचना चाहिए शुगर युक्त खाद्य पदार्थों से - Do not eat sugar rich foods in diarrhea in Hindi

फलों में फ्रुक्टोज (एक प्रकार का शुगर) मौजूद होते हैं। अधिक शुगर युक्त खाद्य पदार्थ खाने से आपको गैस, ऐंठन और मल त्याग के दौरान परेशानी होती है। इसके अलावा चाय, कॉफी, बेक्ड खाद्य पदार्थ और प्रोसेस्ड फूड में रिफाइंड शुगर का इस्तेमाल किया जाता है, जो बड़ी आंत में पानी के अवशोषण में बाधा उत्पन्न करता है। इससे दस्त की समस्या बढ़ जाती है। 

(और पढ़ें - गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

लूज मोशन में नहीं खाना चाहिए डेरी प्रोडक्ट - Do not eat dairy products in loose motions in Hindi

दस्त के दौरान आपको डेरी उत्पाद जैसे पनीर, दूध और बटर आदि नहीं खाना चाहिए क्योंकि इनमें लैक्टोज के रूप में शुगर मौजूद होते हैं। इस प्रकार के शुगर दस्त की समस्या को और भी बढ़ाते हैं। न्यूट्रिनिस्टि (आहार विशेषज्ञ) प्रवीन वर्मा बताते हैं कि लूजमोशन में डेरी उत्पादों को खाने से आपके आंत में जलन पैदा होती है। इसलिए दस्त के दौरान डेरी उत्पादों को नहीं खाना चाहिए। डेरी उत्पादों की जगह आप दही खाएं, यह आपके आंतो के लिए फायदेमंद है। दही में जीवित एंजाइम होते हैं, जो अच्छे बैक्टीरिया में बदल कर दस्त से राहत दिलाते हैं।

(और पढ़ें - आंतों में सूजन का इलाज)

दस्त में अधिक नहीं खाना चाहिए वसा वाले खाद्य पदार्थ - Do not eat excess fat foods in loose motions in Hindi

अधिक वसा वाले और अधिक तले हुए खाद्य पदार्थों को लूज मोशन के दौरान किसी भी हाल में नहीं खाना चाहिए। अधिक वसा वाले खाद्य पदार्थ आंतों पर दबाव डालते हैं और इसे प्रभावित भी करते हैं, जो कि पहले से ही बहुत ज्यादा संवेदनशील होता है। इसलिए दस्त में इन पदार्थों को न खाएं।

(और पढ़ें - संतुलित आहार किसे कहते है)

दस्त में न खाएं ये सब्जियां - Avoid these vegetables in diarrhea in Hindi

कुछ सब्जियां, जैसे ब्रोकली, बंदगोभी, बीन्स और फूल गोभी को दस्त की समस्या में नहीं खाना चाहिए। यह सब्जियां आसानी से नहीं पचती हैं। लूजमोशन के दौरान इन्हें खाने से आपको गैस की समस्या होती है। इसलिए इन सब्जियों को नहीं खाना चाहिए, इन्हें खाने से दस्त की समस्या और भी बढ़ सकती है।

(और पढ़ें - गर्मियों में क्या खाना चाहिए)

लूस मोशन में नहीं खाना चाहिए फाइबर युक्त आहार - Fiber rich diet should not eat in diarrhea in Hindi

साबुत अनाज में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर मौजूद होते हैं। वैसे तो यह आपके स्वास्य्थ के लिए अच्छे होते हैं, लेकिन दस्त के दौरान इनका प्रभाव नाकारात्मक हो जाता है। इन्हें खाने से आपके पेट में पानी की मात्रा अधिक हो जाती है और आप बार-बार मल त्याग करते हैं। इसके अलावा जब आपकी पाचन क्रिया कि गति धीमी हो जाती है, तो इन सब्जियां की वजह से आपको गैस की समस्या भी हो सकती है। 

(और पढ़ें - निर्जलीकरण के लक्षण)

दस्त में नहीं करना चाहिए शराब का सेवन - Alcohol should not be consumed in loose motions in Hindi

अधिक शराब पीना आपके पेट के लिए नुकसादायक होता है। इसलिए अधिक शराब नहीं पीना चाहिए, खासकर दस्त के दौरान शराब बिल्कुन नहीं पीना चाहिए। शराब पीने से पाचन क्रिया तेज हो जाती है, जो आपके शरीर में पानी के अवशोषण क्षमता को प्रभावित करती है। इसी वजह से आप हैंगओवर के बाद या अधिक शराब पीने के बाद पूरे शरीर में हरारत (थकान सा) महसूस करते हैं। 

(और पढ़ें - शराब छुड़ाने के उपाय)

लूस मोशन में नहीं खाना चाहिए मसालेदार भोजन - Do not eat spicy food in loose motion in Hindi

अधिक मिर्च और मलासेदार भोजन आपके पेट में जलन पैदा करती है। जब आपको पेट में जलन महसूस होती है, तो इस जलन को कम करने के लिए आपका शरीर आंत में अधिक पानी पहुंचाता है। अधिक पानी की वजह से आंत भोजन को अधिक गति प्रदान करती है, जिसकी वजह से मल ढ़ीली हो जाती है।

(और पढ़ें - एसिडिटी का इलाज)

हालांकि, आप कुछ बातों को ध्यान में रख कर दस्त का उपचार कर सकते हैं, जैसे लूज मोशन के दौरान अपने शरीर को पर्याप्त आराम दें और ऐसे खाद्य पदार्थों को खाएं, जो आपके पेट को ठंडक पहुंचाए। इसके अलावा यदि दस्त बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो जल्द से जल्द डॉक्टर को दिखाएं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में दस्त के उपचार)

डायरिया में नहीं पीना चाहिए कॉफी और चाय - Do not drink coffee and tea in diarrhea in Hindi

कुछ लोगों के लिए चाय और कॉफी के बिना पूरे दिन गुजारना मुश्किल होता है, लेकिन दस्त की समस्या में किसी भी हाल में चाय और कॉफी नहीं पीना चाहिए। कॉफी में कैफीन होता है, जो आपके आंतों को उत्तेजित करता है। जब आपके आंत बहुत ज्यादा उत्तेजित होते हैं तो यह भोजन को अच्छी तरह से अवशोषित किए बिना ही आगे पहुंचा देते हैं। जब भोजन का अच्छी तरह से अवशोषण नहीं होता है, तो यह ठीक से नहीं पचता है और आपको एसिडिटी की भी समस्या होती है।

(और पढ़ें - कैफीन के नुकसान)

लूज मोशन में नहीं पीना चाहिए फलों के जूस - Avoid fruit juice if you have diarrhea in Hindi

लूज मोशन के दौरान हमेशा बहुत अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है। दस्त की समस्या में भरपूर मात्रा में पानी पीने से आप डिहाइड्रेशन से बच जाते हैं। हालांकि, फलों में शुगर की मात्रा होती है, जो आतों के लिए अच्छा नहीं होता है। इसलिए लूज मोशन में फलों का जूस न पीएं। इसके अलावा फलों में न पचने वाला सोर्बिटोल (एक प्रकार का शुगर) मौजूद होता है, जो आंत से पानी को अवशोषित करता है और ये प्रक्रिया पाचन क्रिया के दौरान और भी बढ़ जाती है।

(और पढ़ें - खाली पेट पानी पीने के फायदे)

और पढ़ें ...