myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

जब किसी मासपेशी में छेद होने की वजह से कोई अंदरूनी अंग उभरकर बाहर आने लगता है, उसे हर्निया कहते हैं। उदाहरण के तौर पर जब पेट का हिस्सा डायाफ्राम (diaphragm) के जरिए हमारी छाती के गुहा तक पहुंच जाता है तो इसे हाइटल हर्निया (Hiatal hernia) कहते हैं।

(और पढ़ें - हर्निया क्या है)

हर्निया के कई लक्षणों में एक अहम लक्षण है एसिड रिफ्लक्स। इस स्थिति में आपको कुछ भी खाते समय या खाने के बाद दर्द और असहजता का अनुभव होने लगता है। दर्द और असहजता का अनुभव आपके खाने पर भी निर्भर करता है। इसलिए ऐसे खाद्य पदार्थों का चयन करें, जिनमें एसिड की मात्र कम हो और जिनको खाने से आपको एसिड रिफ्लक्स की समस्या न हो।

इस लेख में हमने आपको हर्निया में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए के बारे में जानकारी दी है। इन खाद्य पदार्थों का सेवन हर्निया बीमारी में ध्यानपूर्वक करें।

तो चलिए आपको बताते हैं हर्निया में परहेज, क्या खाएं और क्या न खाएं –

  1. हर्निया में क्या खाना चाहिए - Hernia me kya khana chahiye
  2. हर्निया में परहेज और क्या नहीं खाना चाहिए - Hernia me parhej aur kya nahi khana chahiye
  3. हर्निया में परहेज से जुड़े कुछ टिप्स - Hernia me parhej se jude kuch tips

हर्निया में सेब खाएं - Hernia me seb khaye

यह तो आपने सुना होगा कि दिन में एक सेब खाने से आप बीमारियों से दूर रहते हैं। सेब में मौजूद पोषक तत्व​ पाचन क्रिया को ठीक रखते हैं। इसमें एसिड की मात्रा भी कम होती है, साथ ही यह आपको पूरे दिन ऊर्जा से भरपूर रखता है। हर्निया में आप इसे रोज खा सकते हैं।

(और पढ़ें - हर्निया का घरेलू उपाय)

हर्निया में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए - Hernia me jyada se jyada pani piye

खाद्य पदार्थों के अलावा, हर्निया के लक्षणों से बचने के लिए पानी भी बेहद आवश्यक माना जाता है। पर्याप्त पानी पीने से शरीर में पानी की कमी नहीं होती और हर्निया के लक्षणों से भी आराम मिलता है। रोजाना सात से आठ ग्लास पानी जरूर पियें। साथ ही, कार्बोनेटेड पेय पदार्थ या कैफीन युक्त पेय पदार्थों को न पियें।

(और पढ़ें - पानी कब कितना और कैसे पीना चाहिए)

हर्निया में खाएं गाजर - Hernia me khaye gajar

गाजर हर्निया के लक्षणों को कम करने में मदद करती है। गाजर में एसिड की मात्रा कम होती है और कई अधिक पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं। तो रोजाना अपनी डाइट में गाजर को जरूर शामिल करें - आप चाहें तो साथ ही आप कच्ची गाजर भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - गाजर के जूस के फायदे)

हर्निया का भोजन है केला - Hernia ka bhojan hai kela

केले में पोटेशियम होता है जो मांसपेशियों की ऐंठन को कम करता है। केला हर्निया के लिए भी अच्छा होता है, क्योंकि इसमें एसिड की मात्रा कम होती है। केले को आप रोजाना सुबह नाश्ते में या पूरे दिन में कभी भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - पोटैशियम के स्रोत)

हर्निया में दालचीनी का प्रयोग करें - Hernia me dalcheeni ka prayog kare

हर्निया से पीड़ित लोगों को मसाले वाली चीजों से दूर रहने के लिए कहा जाता है। पाचन क्रिया को ठीक रखने के लिए आप मीठी चीजें खा सकते हैं। दालचीनी पेट से संबंधित परेशानियों से राहत दिलाने में मदद करती है और एसिड रिफ्लक्स के लक्षणों को दूर करती है। 

(और पढ़ें - दालचीनी के फायदे)

हर्निया में खाएं गेहूं से बने आहार - Hernia aahar me khaye gehu se bane aahar

आमतौर पर, गेहूं से बने आहार पाचन क्रिया को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं और गैस्ट्रोइंटेस्टिनल प्रक्रिया में सुधार करते हैं। गेहूं से बने आहार जैसे ओट्स, ब्राउन राइस और पास्ता हर्निया के लिए बेहद अच्छे विकल्प हैं।

(और पढ़ें - अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी)

हर्निया में खाए जाने वाले अन्य आहार - Hernia me khaye jane wale anya aahar

हर्निया से पीड़ित लोगों को ऐसे खाद्य पदार्थ खाने चाहिए जो फाइबर से समृद्ध हो और नॉन एसिडिक (जिनमें एसिड न हो) हो। ऊपर बताये गए खाद्य पदार्थों के अलावा आप इन खाद्य पदार्थों को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं जैसे -

(और पढ़ें - फाइबर युक्त आहार)

हर्निया में परहेज करें फैट युक्त खाद्य पदार्थों से - Hernia me parhej kare fat yukt khadya padarthon se

फैटी फूड, भोजन नली के निचले हिस्से को शिथिल बना देते हैं जिस कारण से स्फिंक्टर (Sphincter) बंद नहीं हो पाते और पेट के एसिड वापस भोजन नली में आने लगते हैं, इस स्थिति को एसिड रिफ्लेक्स कहा जाता है। खाद्य पदार्थ जो सेचुरेटेड फैट या ट्रांस फैट से समृद्ध होते हैं जैसे लाल मीट, अधिक वसा वाला डेयरी उत्पाद, तला खाना आदि से भी भोजन नली के निचले हिस्से में सूजन आ सकती है और वजन बढ़ सकता है। इस जोखिम को कम करने के लिए, सही मात्रा में स्वस्थ वसा वाले खाद्य पदार्थ खाएं जैसे ड्राई फ्रूट्स, जैतून का जैतून, कैनोला तेल, एवोकाडो और साल्मन।

(और पढ़ें - इनगुइनल हर्निया सर्जरी)

हर्निया में एसिड युक्त खाद्य पदार्थ न खाएं - Hernia me acid yukt khadya padarth na khaye

भोजन के द्वारा होने वाली एसिडिटी, हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मात्रा पर निर्भर करती है। यह पेट द्वारा बनाया जाने वाला एक अत्यधिक अम्लीय पदार्थ होता है, जो भोजन पचाने में मदद करता है। हालांकि कुछ एसिडिक फूड हानिकारक नहीं होते हैं और कभी-कभी पोषण से भी भरपूर होते हैं। कुछ खाद्य पदार्थों में ऐसे घटक होते हैं जो हर्निया में होने वाली एसिड रिफ्लक्स की समस्या को और ज्यादा बढ़ा देते हैं। अगर आपको बार-बार एसिड रिफ्लक्स की परेशानी होती है तो एसिड वाले आहार न खाएं जैसे संतरा, कैफीन युक्त पेय पदार्थ आदि। अन्य एसिडिक फ़ूड जैसे टार्ट सेब और चेरी, अनानास, टमाटर और टमाटर से बने उत्पाद, सिरका और सिरके से बनी सब्जियां जैसे अचार, चुकंदर आदि न खाएं।

(और पढ़ें - हर्निया के लिए योग)

हर्निया में चीनी वाले आहारों से दूर रहें - Hernia me meethe aaharo se door rahe

चीनी वाले पदार्थ जैसे हाई-फ्रुक्टोस कॉर्न सिरप, कैन शुगर, ब्राउन शुगर और शहद में कई मात्रा में कैलोरी व अधिक मिठास होती है और कम मात्रा में पोषक तत्व मौजूद होते हैं। चीनी वाले खाद्य पदार्थ ज्यादा खाने से आपका वजन बढ़ सकता है। इसके अलावा, ज्यादातर लोग चीनी वाले खाद्य पदार्थ आसानी से खा लेते हैं और इस वजह से उनका पेट भर जाता। पेट भरने के कारण वे अन्य पोषण से भरपूर आहार नहीं खा पाते। इस जोखिम को कम करने के लिए, अपनी डाइट में से चीनी वाले खाद्य पदार्थों को कम कर दें जैसे, सॉफ्ट ड्रिंक, कैंडी, पैनकेक सिरप, जेली, कुकीज, पेस्ट्री आदि। इससे आपको एसिड रिफ्लक्स की समस्या नहीं होगी और हर्निया रोग कम होगा। 

(और पढ़ें - चीनी की लत दूर करने के आसान उपाय)

हर्निया में स्टार्च युक्त आहारों से परहेज करें - Hernia me starch yukt aaharo se parhej kare

फाइबर से आपकी पाचन क्रिया अच्छी रहती है और ह्रदय स्वस्थ रहता है। कब्ज और मल त्याग में होने वाले खिंचाव से भी हर्निया की समस्या हो सकती है, इसलिए इससे बचने के लिए फाइबर से समृद्ध आहार खाएं। लो फाइबर स्टार्च जैसे वाइट ब्रेड, चावल और पास्ता की जगह आप कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट जैसे साबुत अनाज, शकरकंद और दाल खा सकते हैं। इनसे आपको फाइबर और अन्य पोषक तत्व मिलेंगे। काम्प्लेक्स कार्ब खाने से आप संतुष्ट रहते हैं और इस तरह आपका वजन संतुलित रहता है।

(और पढ़ें - वजन घटाने के आसान तरीके)

हर्निया में परहेज से जुड़े कुछ टिप्स इस प्रकार हैं –

  1. पूरे दिन में तीन बार खाना खाने की बजाए, टुकड़ों में खाना खाएं।
  2. आराम-आराम से खाना खाएं और खाने के साथ-साथ ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थ पियें।
  3. सोने से तीन घंटे पहले कोई भी ऐसा पेय पदार्थ न पियें जिनकी वजह से आपको एसिडिटी की समस्या हो जाये।
  4. टाइट कपड़े न पहनकर, ढीले कपड़े पहनें।
  5. खाना खाने से पहले व्यायाम न करें।
  6. खाना खाने के तीन घंटे के भीतर शरीर को झुकाएं नहीं या लेटे नहीं।
  7. धूम्रपान न करें। (और पढ़ें - सिगरेट कैसे छोड़ें)
  8. प्रोबायोटिक्स लें।
  9. रोजाना 15 से 20 मिनट तक मध्यम गति का व्यायाम करें।
  10. खाना बनाने के लिए ऐसे तेल का इस्तेमाल करें जो स्वास्थ्य के लिए स्वस्थ हो जैसे नारियल तेल और जैतून का तेल।
  11. कभी भी भूख न रहें या फिर इतना भी भर पेट खाना न खाएं, जिससे आपको बाद में परेशानी हो।
  12. तनाव को कम करने के लिए चलें, मेडिटेशन या योग करें। (और पढ़ें - पैदल चलने के फायदे)
  13. डॉक्टर से सलाह लेने के बाद आप मेडिकल स्टोर से एंटासिड में ले सकते हैं।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें