myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एक नस या कई नसों में क्षति, जलन और दबाव की वजह से हाथ सुन्न या फिर हाथों में झनझनाहट महसूस हो सकती है। यह तो महज़ एक छोटी सी वजह है। शायद आप इस तथ्य से अवगत हों कि हाथ कई अन्य वजहों से भी सुन्न हो जाते हैं। खासकर पेरिफेरल नर्व से संबंधित बीमारियां जैसे कि डायबिटीज। हालांकि, डायबिटीज की वजह से हाथ से पहले पैर सुन्न होते हैं।

मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी में हुई किसी समस्या की वजह से झनझनाहट या सुन्नपन महसूस होता है। इसके साथ ही यह स्ट्रोक और ट्यूमर जैसी गंभीर बीमारी का भी लक्षण हो सकता है। ये बात और है कि हाथ में झनझनाहट या सुन्नपन के साथ-साथ स्ट्रोक में अन्य लक्षण भी दिखते हैं। आइए जानते हैं कि हाथों में सुन्नपन क्यों आता है।

स्ट्रोक

हाथों में झनझनाहट या सुन्नपन स्ट्रोक की चेतावनी हो सकती है। यदि आपको हाथों में सुन्नपन के साथ-साथ कुछ अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी हो रही हैं तो डाॅक्टर से जरूर संपर्क करें।

स्वास्थ्य समस्याएं इस प्रकार हैं - अचानक पैरों और हाथ में कमजोरी आना और हाथों में सुन्नपन महसूस होना, खासकर जब ये लक्षण शरीर के किसी एक हिस्से में दिखाई दें। बोलने और समझने में दिक्कत होना, उलझन में रहना, चेहरे का बेजान दिखना, धुंधला दिखना और बहुत तेज सिरदर्द होना। ध्यान रखें कि ऐसी स्थिति में तुरंत डाॅक्टर से संपर्क करें ताकि समय रहते आपका इलाज किया जा सके।

विटामिन और मिनरल की कमी

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि विटामिन बी 12 नसों को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी है। इसकी कमी की वजह से हाथ और पैर सुन्न हो जाते हैं और झनझनाहट होने लगती है। पोटेशियम और मैग्नीशियम की कमी की वजह से हाथ और पैरों में झनझनाहट महसूस होती है या फिर वो सुन्न हो जाते हैं। विटामिन बी-12 की कमी होने पर कमजोरी, थकान, आंखों और त्वचा का पीला पड़ना (पीलिया), बेसुध होना, चलने में परेशानी आना और मतिभ्रम जैसे लक्षण भी नजर आते हैं।

स्लिप सर्वाइकल डिस्क

स्‍पाइन से हड्डियों (वर्टीब्रा) को अलग करने वाले मुलायम कुशन को डिस्‍क कहा जाता है। लेकिन इस डिस्क में दरार आने पर मुलायम कुशंस के मध्य हिस्से पर दबाव पड़ता है जिसे हर्नियेटेड या स्लिप डिस्क कहते हैं। रीढ़ की हड्डी में इस समस्या की वजह से भी हाथों और पैरों में सुन्नपन या झनझनाहट की समस्या पैदा हो सकती है।

डायबिटीज

डायबिटीज में शरीर को रक्त वाहिकाओं से कोशिकाओं में शुगर संचारित करने में दिक्कत आती है। अगर आपको लंबे समय से हाई ब्लड शुगर है तो इस वजह से भी नसों को नुकसान हो सकता है जिसे डायबिटिक न्यूरोपैथी कहा जाता है। 

डाॅक्टर को कब दिखाएं

यदि लंबे समय तक हाथ में सुन्नपन रहे तो इसके प्रति लापरवाही करना सही नहीं है। जैसा कि बार-बार बताया जा रहा है कि सुन्नपन कई बीमारियों का संकेत हो सकता है इसलिए इसे नज़रअंदाज़ न करें। अगर सुन्नपन के साथ निम्न संकेत भी दिख रहे हैं तो डाॅक्टर के पास जाने में कतई देरी न करें।

और पढ़ें ...