myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है जब एक गर्भवती महिला के खानपान का ध्यान रखने से ज्यादा जरूरी कुछ नहीं होता। इस समय सब के मन में यही सवाल रहते हैं कि किन चीजों से परहेज करना चाहिए। जो खाद्य पदार्थ फायदेमंद होते हैं वो ज्यादातर सबको मालूम होते हैं लेकिन किन चीजों से परहेज करना चाहिए और क्यों, ये कम ही लोगों को मालूम होता है।

आज इस लेख के जरिए हम जानेंगे की प्रेगनेंसी में चाइनीस व्यंजनों का क्या असर पड़ता है? इस दौरान चाइनीस व्यंजन खाने चाहिए या नहीं?

निम्नलिखित कारणों से गर्भावस्था के दौरान चाइनीस फूड से दूर रहना चाहिए:

  • चाइनीस व्यंजनों में मोनोसोडियम ग्लूटामेट मौजूद होता है। गर्भवती स्त्री को इनसे बचना चाहिए क्योंकि इनका सेवन करने से एलर्जी हो सकती है। इससे सिरदर्द होने के साथ-साथ गर्मी भी लग सकती है।
  • मोनो सोडियम ग्लूटामेट का इस्तेमाल चीनी व्यंजनों में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। गर्भावस्था में चाइनीस फूड का सेवन करने से मॉर्निंग सिकनेस की समस्या बढ़ सकती है। इससे चेहरा और गर्दन के सुन्न होने और घबराहट की शिकायत हो सकती है। (और पढ़ें - प्रेगनेंसी में होने वाली समस्याएं)
  • चाइनीस फूड में अत्यधिक मात्रा में नमक होता है जो गर्भावस्था में सोडियम का स्तर बढ़ा सकता है और इस वजह से शरीर में पानी की मात्रा बढ़ (वॉटर रिटेंशन) सकती है।
  • अगर किसी को मोनो सोडियम ग्लूटामेट से गर्भावस्था से पहले से ही एलर्जी है तो उसे चाइनीस फूड से परहेज करना चाहिए। इस दौरान चाइनीस फूड खाने से उल्टी, मतली, सिरदर्द और बार-बार नींद टूटने जैसी समस्याएं हो सकती हैं। (और पढ़ें - अच्छी गहरी नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय)
  • इन खाद्य पदार्थों को नहीं खाने की सलाह देने का एक बड़ा कारण ये भी है कि इनमें लिस्टेरिया या साल्मोनेला नामक घातक बैक्टीरिया होने की संभावना रहती है जो कि शिशु और गर्भवती महिला के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
  • मानव शरीर भी स्वाभाविक रूप से ग्लूटामेट का उत्पादन करता है और यह फलों एवं सब्जियों में भी पाया जाता है, चाइनीस फूड में इस्तेमाल किया जाने वाला मोनो सोडियम ग्लूटामेट चीनी से बनाया जाता है जो मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है इसलिए इससे परहेज करना ही गर्भावस्था के दौरान सबसे अच्छा है।
  • मोनोसोडियम ग्लूटामेट मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के विकास को नुकसान पहुंचा सकता है।

गर्भावस्था में चाइनीस फूड क्यों नहीं खाना चाहिए? इस सवाल के जवाब के लिए ऊपर लिखे सभी बिंदु पर्याप्त हैं। इसके बावजूद भी अगर गर्भवती स्त्री का चाइनीस फूड खाने का मन करता है तो डॉक्टर से सलाह लेना बेहतर रहेगा। प्रेगनेंसी में बिना डॉक्टर की सलाह के वैसे भी अपने आहार में कुछ भी शामिल नहीं करना चाहिए। हर खाद्य पदार्थ के अगर फायदे होते हैं तो उनके नुकसान भी होते हैं इसलिए सावधानी बरतना ही समझदारी होगी।

कई महिलाओं को चाइनीज फूड बहुत पसंद होता है और वो इसे गर्भावस्था में भी खाना चाहती हैं लेकिन इस समय चाइनीज व्यंजनों से दूर ही रहना चाहिए। इस समय जितना ज्यादा पोषक तत्व युक्त आहार लिया जाए उतना ही मां और बच्चे दोनों के लिए स्वास्थ्यवर्धक होता है। 

(और पढ़ें - गर्भावस्था में क्या खाना चाहिए)

और पढ़ें ...