कीमोथेरेपी एक तरह का कैंसर का इलाज है, जिसका इस्तेमाल कैंसर सेल्स को नष्ट करने के लिए किया जाता है. अगर कैंसर शरीर में फैल गया है या फैलने का खतरा है, तब कीमोथेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है. कैंसर को पूरी तरह से ठीक करने के लिए इस्तेमाल होने वाली कीमोथेरेपी को क्यूरेटिव कीमोथेरेपी के नाम से जाना जाता है.

कीमोथेरेपी के दौरान डाइट का खासतौर पर ध्यान रखना जरूरी होता है. इस दौरान पोषक तत्वों से भरपूर सब्जियां, फल, प्रोटीन और स्वस्थ वसा डाइट में शामिल करना चाहिए. जैसे, प्रोटीन और कैलोरी युक्त अंडे, मछली और बीन्स. कीमोथेरेपी के समय कुछ चीजों के सेवन से बचना चाहिए जैसे कि कच्ची मछली, बिना पकी सीप, कच्चे मेवे.

आज इस लेख में जानेंगे कि कीमोथेरेपी के दौरान क्या खाना चाहिए, क्या नहीं -

(और पढ़ें - कीमोथेरेपी के बाद की डाइट)

  1. कीमोथेरेपी के दौरान क्या खाना चाहिए
  2. कीमोथेरेपी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए
  3. सारांश
कीमोथेरेपी के दौरान क्या खाएं, क्या नहीं के डॉक्टर

कीमोथेरेपी के जरिए कैंसर का इलाज करवा रहे मरीजों को एक्सट्रा कैलोरी और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए है. मरीज को नियमित अंतराल पर खाने की कोशिश करनी चाहिए. साथ ही अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए. दरअसल, जब कीमोथेरेपी कैंसर कोशिकाओं को मारती है, तो यह स्वस्थ कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचा सकती है. इसके अलावा, कीमोथेरेपी से गुजर रहे लोगों को कई तरह की अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे- गले में खराश, मतली और भूख न लगना. ऐसे में कीमोथेरेपी के दौरान डाइट का ध्यान रखना और भी जरूरी हो जाता है.

आइए विस्तार से जानें कि कीमोथेरेपी के दौरान क्या खाना चाहिए -

हाई प्रोटीन खाद्य पदार्थ

दही, सीड्स, चिकन, सलाद, उबले अंडे, फिश, सेम, फलियां, नट्स व दूध के उत्पाद जैसे हाई प्रोटीन खाद्य पदार्थों का सेवन कीमोथेरेपी के दौरान फायदेमंद हो सकता है. दरअसल, शरीर के ऊतकों की मरम्मत करने, उन्हें बढ़ने और इम्यूनिटी को बढ़ाने लिए शरीर को प्रोटीन की आवश्यकता होती है. इसके साथ ही प्रोटीन युक्त डाइट से शरीर की स्ट्रेंथ और एनर्जी बढ़ती है.

यदि किसी व्यक्ति को पर्याप्त प्रोटीन नहीं मिलता है, तो उसका शरीर आवश्यक ईंधन के लिए मसल्स के टिश्यू को तोड़ना शुरू कर देता है, जिससे कैंसर से ठीक होने की संभावना कम हो जाती है और इंफेक्शन बढ़ने का डर रहता है.

(और पढ़ें - रेडिएशन थेरेपी के फायदे)

तरल पदार्थ ज्यादा लें

कीमोथेरेपी के दौरान पानी सहित लिक्विड पदार्थों जैसे सूप, दाल का पानी, ताजा जूस आदि का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए, इससे शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिल सकते हैं. कैंसर से पीड़ि‍त एक वयस्क दिन में 8 से 12 कप तरल पदार्थ का सेवन कर सकता है.

(और पढ़ें - रेडिएशन के बाद की डाइट)

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ

कीमोथेरेपी के दौरान फाइबर युक्त मसूर की दाल, जौ के बीज, जामुन, बेरीज और सीड्स का सेवन करना चाहिए.

(और पढ़ें - रेडिएशन के दौरान की डाइट)

कार्बोहाइड्रेट

कीमोथेरेपी के समय कार्बोहाइड्रेट शरीर का मुख्य ऊर्जा स्रोत होता है. ये शरीर को शारीरिक गतिविधियों और अंगों को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए आवश्यक एनर्जी देता है. फल, सब्जियां, बीन्स और साबुत अनाज में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन किया जा सकता है.

(और पढ़ें - कैंसर के लिए होम्योपैथिक दवा)

स्वस्थ वसा और फैटी एसिड

शरीर के लिए एक ऊर्जा स्रोत के रूप में स्वस्थ वसा और फैटी एसिड काम करते हैं. शरीर वसा को तोड़ता है और ऊर्जा को संग्रहित करने, शरीर के टिशू को इंसुलेट करने और रक्त के माध्यम से कुछ विटामिन को ले जाने के लिए उनका उपयोग करता है. कीमोथेरेपी होने पर एक व्यक्ति को ऊर्जा बनाए रखने में मदद करने के लिए अधिक स्वस्थ वसा और फैटी एसिड की आवश्यकता हो सकती है, जो नट्स, बीज, बटर, जैतून के तेल, एवोकाडो, दही और डेयरी उत्पादों में पाया जाता है.

(और पढ़ें - कैंसर का आयुर्वेदिक इलाज)

विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट

संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त विटामिन और मिनरल्स प्राप्त करना महत्वपूर्ण है. कैंसर से पीड़ित कुछ लोगों को विशिष्ट विटामिन और मिनरल्स की आवश्यकता हो सकती है. कीमोथेरेपी करवाने वाले लोगों में मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन-डी और फोलेट जैसे कई पोषक तत्वों की कमी होने की संभावना अधिक होती है. ऐसे में विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन-ईसेलेनियम युक्त एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर डाइट लेना भी जरूरी है, क्योंकि ये मुक्त कणों को बेअसर करते हैं और उन्हें स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने से रोकते हैं.

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाएं)

कीमोथेरेपी के दौरान मरीजों को डाइट में कुछ चीजों का परहेज करना जरूरी है, क्योंकि ऐसा न करने पर कैंसर बढ़ने या इंफेक्शन होने का खतरा रहता है. ऐसे में कच्चे मेवे, कच्ची फिश, कच्चे नट्स और बांसी खाने का सेवन नहीं करना चाहिए. आइए जानते हैं, कीमोथेरेपी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए-

  • कच्ची मछली, जैसे सुशी और बिना पकी सीप नहीं खानी चाहिए. 
  • कच्चे मेवे का सेवन नहीं करना चाहिए. 
  • बाहर का खाना या जंक फूड नहीं खाने चाहिए. 
  • जिन खाद्य पदार्थों की एक्स्पायरी डेट चली गई हैं, उन्हें न खाएं. 
  • खराब होने वाला भोजन जो 2 घंटे से अधिक समय तक कमरे के तापमान पर रहा हो उसे न खाएं.
  • बचे हुए खाने या 3 दिन से अधिक समय तक रेफ्रिजरेटर में रखे फूड को न खाएं. 
  • वसायुक्त, मसालेदार और मीठे फूड्स खाने से बचें.
  • सोडा ड्रिंक, पैक्ड फूड्स और प्रिजर्वेटिव फूड्स का सेवन न करें.

(और पढ़ें - पेट के कैंसर का होम्योपैथिक इलाज)

कैंसर एक खतरनाक बीमारी है, यह अगर किसी को हो जाती हैं, तो अधिकांश मामलों में उपचार में कीमोथेरेपी करवाना जरूरी होता है. कीमोथेरेपी के दौरान उचित पोषक तत्वों का सेवन करना जरूरी हो जाता है. ऐसा करने से कैंसर से जल्दी ठीक होने में, इंफेक्शन से बचने में और कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों की तीव्रता को कम किया जा सकता है. अगर आप कीमोथेरेपी का ट्रीटमेंट ले रहे हैं, तो डाइट में बदलाव करने से पहले डाइटीशियन और डॉक्टर से जरूर सलाह लें.

(और पढ़ें - ब्रेस्ट कैंसर में क्या खाना चाहिए)

Dr. Anil Heroor

Dr. Anil Heroor

ऑन्कोलॉजी
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Kumar Gubbala

Dr. Kumar Gubbala

ऑन्कोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Patil C N

Dr. Patil C N

ऑन्कोलॉजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Amit Agarwal

Dr. Amit Agarwal

ऑन्कोलॉजी
19 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ