myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

रक्त में यूरिक एसिड के उच्च स्तर को हाइपरयूरीसेमिया (Hyperuricemia) भी कहा जाता है। यूरिक एसिड का उच्च स्तर, शरीर में यूरिक एसिड के उत्पादन में वृद्धि या गुर्दे के माध्यम से इसका कम उत्सर्जन होने की वजह से हो सकता है। इससे कई समस्याएं हो सकती हैं, जैसे गौटी गाउट (यूरिक एसिड क्रिस्टल जोड़ों में जमा हो जाते हैं, आमतौर पर बड़ी पैर की ऊँगली पर), किडनी स्टोन और गुर्दे का खराब होना। हाल के अध्ययनों में हाई ब्लड यूरिक एसिड को हाइपरटेंशन और ह्रदय की बीमारी से भी जोड़ा गया है। 

सामान्य यूरिक एसिड का स्तर -

  1. पुरुष - 3.4–7.0 मिलीग्राम/डेसीलीटर
  2. महिलाओं -  2.4–6.0 मिलीग्राम/डेसीलीटर

विभिन्न प्रयोगशालाओं में इसके माप भिन्न हो सकते हैं।

हाई यूरिक एसिड को बढ़ाने वाले कारक, आहार में पुरीन्स की अधिक मात्रा होना (पुरीन्स जब टूटता है तो ये यूरिक एसिड में बदल जाता है), अधिक शराब का सेवन, गुर्दे का खराब होना, मोटापा, थाइरोइड, अनुवांशिक, अंत: स्रावी (Endocrine) या चयापचय स्थिति जैसे शुगर या अम्लरक्तता (Acidosis) और कुछ अन्य बीमारियां हैं।

कुछ कैंसर, कीमोथेरेपी और अन्य इलाज जैसे ड्यूरेटिक्स भी हाई यूरिक एसिड का कारण बनते हैं। लेकिन आप इस समस्या को घर बैठे-बैठे भी कम कर सकते हैं। बस हमारे द्वारा बताये जाने वाले कुछ प्राकृतिक उपायों और टिप्स को ध्यान में रखें और यूरिक एसिड को नियंत्रित करें। साथ ही किसी पेशेवर डॉक्टर द्वारा सही तरीके से जांच और इलाज भी ज़रूर करवाएं।

(और पढ़ें - यूरिक एसिड का इलाज)

तो आइये आपको बताते हैं यूरिक एसिड के घरेलू उपाय और नुस्खे –

  1. यूरिक एसिड का उपाय है सेब का सिरका - Uric acid ka upay hai seb ka sirka in Hindi
  2. यूरिक एसिड को कम करने के घरेलू नुस्खे करें नींबू से - Uric acid badhne par kare nimboo ka istemal in Hindi
  3. यूरिक एसिड को दूर करने का उपाय है चेरी - Uric acid ko door karne ka desi nuskha hai cherry in Hindi
  4. यूरिक एसिड से बचने का उपाय है बेकिंग सोडा - Uric acid se bachne ka tarika hai baking soda in Hindi
  5. यूरिक एसिड को कंट्रोल करने का उपाय है जैतून का तेल - Uric acid control kare jaitoon ke tel se in Hindi
  6. यूरिक एसिड को कम करने का प्राकृतिक उपाय है पानी - Uric acid ko kam karne ka prakrtik upay hai pani peena in Hindi
  7. यूरिक एसिड कम करने का तरीका है प्यूरीन कम खाना - Uric acid kam karne ka nuskha hai purine kam khana in Hindi
  8. यूरिक एसिड को कम करने का उपाय है हाई फाइबर फ़ूड - Uric acid ko kam karne ka tarika hai high fiber food in Hindi
  9. यूरिक एसिड से छुटकारा दिलाता है डेयरी उत्पाद - Uric acid se chutkara pane ka tarika hai dairy utpad in Hindi
  10. यूरिक एसिड खत्म करने का उपाय है गेहूं के ज्वार - Uric acid ki matra ko kam karne ka upay hai gehu ke jwar in Hindi
  11. यूरिक एसिड के लिए ज़रूरी टिप्स - Uric acid kam karne ke tips in Hindi

सेब का सिरका प्राकृतिक क्लीन्ज़र और डिटॉक्सीफायर से समृद्ध होता है, जो शरीर की विषाक्ता जैसे यूरिक एसिड को शरीर से साफ़ करने में मदद करता है। इसमें मौजूद एसिड, यूरिक एसिड को तोड़ता है और उसे बाहर निकालता है। सेब का सिरका शरीर में अल्कलाइन एसिड को फिर से वापस लाता है और सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट्स का लाभ देता है।

(और पढ़ें - सेब खाने के फायदे)

कैसे इस्तेमाल करें -

  1. सबसे पहले एक चम्मच सेब के सिरके को एक ग्लास पानी में डाल लें।
  2. फिर इस मिश्रण को पूरे दिन में दो से तीन बार पीयें।

नोट - आप धीरे-धीरे सेब के सिरके की मात्रा को एक से दो चम्मच भी बढ़ा सकते हैं। इस उपाय को तब तक दोहराएं जब तक यूरिक एसिड की समस्या दूर न हो जाए।

(और पढ़ें - जोड़ों में दर्द का कारण)

हालांकि, ऐसा लगता है कि नींबू का जूस शरीर में एसिड के स्तर को और अधिक बढ़ा देता है। लेकिन वास्तव में यह अल्कलाइन प्रभाव को बढ़ाता है और यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके साथ ही, इसके विटामिन सी के गुण यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - नींबू पानी पीने के फायदे)

कैसे इस्तेमाल करें -

  1. सबसे पहले नींबू के जूस को एक ग्लास गर्म पानी में निचोड़ लें। फिर इसे सुबह-सुबह खाली पेट पीयें। इस उपाय को कुछ हफ्ते तक जारी रखें।
  2. इसके अलावा आप विटामिन सी के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं। लेकिन सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर बात कर लें।

(और पढ़ें - गठिया में क्या खाएं)

चेरी और डार्क चेरी में केमिकल्स होते हैं, जो यूरिक एसिड को कम करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही, बैंगनी और नीले रंग की बेरी में फ्लवोनोइड्स नामक तत्व होता है। यह यूरिक एसिड को कम करता है और सूजन और अकड़न को भी दूर रखता है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के उपाय)

कैसे इस्तेमाल करें - 

  1. कुछ हफ्तों तक एक या आधा कप चेरी रोजाना खाएं। इसके अलावा आप एक या दो कप टार्ट चेरी जूस को चार हफ्तों तक पी सकते हैं।
  2. साथ ही, ब्लूबेरी, स्ट्रॉबेरी, टमाटर, बेल पेपर और अन्य विटामिन सी व एंटीऑक्सीडेंट समृद्ध फल और सब्जियों को भी अपने आहार में शामिल करें।

(और पढ़ें - गठिया के लिए योग)

बेकिंग सोडा को बाइकार्बोनेट ऑफ़ सोडा भी कहा जाता है। यह यूरिक एसिड का स्तर कम करने के लिए बेहतरीन उपाय है और गाउट के दर्द को भी दूर करता है। बेकिंग सोडा शरीर में प्राकृतिक अल्कलाइन स्तर को बनाये रखता है और यूरिक एसिड को और अधिक घुलनशील बना देता है, जिससे यूरिक एसिड किडनी द्वारा आसानी से बाहर हो जाता है।

(और पढ़ें - गठिया से बचने के उपाय)

कैसे इस्तेमाल करें -

  1. सबसे पहले एक या आधा चम्मच बेकिंग सोडा को एक ग्लास पानी में मिला दें। फिर इस मिश्रण को पी जाएं।
  2. इस मिश्रण को पूरे दिन में चार ग्लास रोजाना दो हफ्तों तक पीयें। आप इसे हर दो या चार घंटे बाद भी पी सकते हैं।

नोट - अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो इस उपाय का इस्तेमाल न करें। जिन लोगों की उम्र 60 या उससे भी ज़्यादा है वे इस मिश्रण को रोजाना तीन बार से ज़्यादा न पीयें।

(और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर में परहेज)

ज़्यादातर सब्जियों का तेल गर्म या प्रोसेस्ड होने से रेंसिड फैट में बदल जाता है। रेंसिड फैट शरीर से विटामिन ई को खत्म कर देता है, जो कि यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने के लिए बेहद आवश्यक है।

कैसे इस्तेमाल करें -

सब्जियों के तेल, बटर के इस्तेमाल की बजाए कोल्ड प्रेस्ड जैतून के तेल का इस्तेमाल करें। जैतून के तेल में मोनोअनसेचुरेटेड फैट होता है जो गर्म करने के बाद भी वैसा का वैसा ही रहता है। साथ ही ये विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट्स से समृद्ध होता है और इसमें सूजनरोधी गुण भी मौजूद होते हैं।

(और पढ़ें - एंटीऑक्सीडेंट के फायदे)

रोजाना ज्यादा से ज्यादा पानी पीयें जिससे यूरिक एसिड को शरीर से बाहर निकालने में मदद मिलेगी। पानी यूरिक एसिड को पतला करता है और किडनी को उत्तेजित करता है जिससे शरीर से यूरिक एसिड मूत्र के माध्यम से बाहर निकल जाता है।

इसके साथ ही, रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पीयें, जिससे गाउट की समस्या उत्पन्न न हो। अमेरिकन कॉलेज ऑफ रुयूमैटोलॉजी की 2009 की वार्षिक बैठक में प्रस्तुत एक इंटरनेट-आधारित अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि प्रतिभागी जिन्होंने पांच से आठ ग्लास पानी 24 घंटे पीया था, उनमें गाउट का जोखिम एक ग्लास या उससे कम पानी पीने वाले लोगों के मुकाबले 40% कम हो गया।

(और पढ़ें - पानी कितना कब और कैसे पीना चाहिए)

कैसे पीयें पानी -

  1. पूरे दिन में आठ से दस ग्लास पानी ज़रूर पीयें।
  2. साथ ही और भी कई तरल पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें, जैसे फलों और सब्जियों का जूस।

(और पढ़ें - पौष्टिक आहार के नाम)

प्यूरीन में नाइट्रोजन युक्त योगिक होता है जो यूरिक एसिड में बदल जाता है, इस तरह शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। उच्च मात्रा में प्यूरीन जानवरों के प्रोटीन में पाया जाता है। यूरिक एसिड में इन्हे न खाएं, जैसे मीट, अंगों का मीट, मछली और चिकन। फलियां, खमीर, मशरूम, एस्परैगस और बीन्स में भी प्यूरीन की काफी अधिक मात्रा होती है। बियर भी पुरीन्स से समृद्ध होती है।

(और पढ़ें - प्रोटीन युक्त आहार)

जो खाद्य पदार्थ फाइबर से समृद्ध होते हैं, वो यूरिक एसिड के स्तर को अवशोषित करके और शरीर से उन्हें निकालने में मदद करते हैं। आप स्टार्च वाले कार्बोहाइड्रेट से समृद्ध आहार खा सकते हैं, इनमे पुरीन्स की मात्रा भी बहुत कम होती है। साबुत अनाज, सेब, रहिला, संतरे और स्ट्रॉबेरी जैसे कुछ आहार हैं जो फाइबर से समृद्ध हैं। स्टार्ची कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ जैसे चावल, साबुत आनाज वाला पास्ता, साबूदाना, क्विनोआ, आलू, ओट्स और केला भी आप खा सकते हैं।

(और पढ़ें - कम कार्बोहाइड्रेट वाला भोजन)

 

कम वसा वाला दूध और डेयरी उत्पाद यूरिक एसिड को कम करते हैं और गाउट के जोखिम को दूर करते हैं। उदाहरण के लिए स्किम दूध, इसमें ऑरोटिक एसिड होता है जो यूरिक एसिड के पुनः अवशोषण को कम करता है और गुर्दे के माध्यम से इसे हटाने में मदद करता है।

(और पढ़ें - किडनी को खराब करने वाली आदतें)

कैसे इस्तेमाल करें -

  1. रोजाना एक से पांच कप मलाईदार दूध पीयें।
  2. आप कम वसा वाली दही और अन्य डेयरी उत्पाद भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - दही खाने के फायदे)

गेहूं के ज्वार रक्त में अल्कलाइनिटी को फिर से वापस लाने में मदद करता हैं। साथ ही, ये विटामिन सी, क्लोरोफिल और फाइटोकेमिकल्स से भी समृद्ध होता है। ये प्रोटीन का भी अच्छा स्रोत है। बस आपको दो चम्मच गेहूं के ज्वार के जूस को नींबू के जूस के साथ मिलाकर रोजाना पीना है। इसे तब तक पीना है जब तक यूरिक एसिड का स्तर कम न हो जाए।

(और पढ़ें - नींबू के रस के फायदे)

यूरिक एसिड के लिए ज़रूरी टिप्स कुछ इस प्रकार हैं - 

  1. शराब का सेवन नियंत्रित करें, क्योंकि इससे यूरिक एसिड कम करने में दिक्कत होगी। (और पढ़ें - शराब छुड़ाने के उपाय)
  2. हाई फ्रुक्टोस कॉर्न (High-fructose corn) या ग्लूकोस फ्रुक्टोस (Glucose-fructose) से भी यूरिक एसिड का स्तर बढ़ता है।
  3. रोजाना व्यायाम करें और स्वस्थ वजन बनाये रखें। यह कहा जाता है कि फैटी उत्तकों की वजह से भी यूरिक एसिड का उत्पादन बढ़ता है। (और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)
  4. यूरिक एसिड की समस्या में संतुलित आहार खाएं जो कार्बोहाइड्रेट में उच्च हो और प्रोटीन में कम हो। रिफाइन कार्बोहाइड्रेट से बने आहार न खाएं जैसे वाइट ब्रेड, केक और कैंडीज।
  5. वसा से बने आहार न खाएं, इससे यूरिक एसिड को शरीर से बाहर निकालने में दिक्कत आ सकती है।

(और पढ़ें - यूरिक एसिड टेस्ट क्या है)

और पढ़ें ...