myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

खांसी, अचानक होने वाली एक अनैच्छिक गतिविधि होती है जो आमतौर पर बार-बार होती रहती है। ये गतिविधि एक सुरक्षात्मक प्रतिक्रिया होती है, जिससे सांस लेने वाली नली या गले में मौजूद कोई भी रुकावट निकल जाती है। ये रुकावट किसी बाहरी या तरल पदार्थ और कोई भी उत्तेजित करने वाले पदार्थों के कारण हो सकती है।

(और पढ़ें - नवजात शिशु की खांसी का इलाज)

खांसी होने पर पहले सांस मुंह से अंदर की तरफ खिंचती है और उसके बाद झटके से बाहर आती है। इस प्रक्रिया में तेज आवाज भी आती है।

(और पढ़ें - सांस लेने में दिक्कत हो तो क्या करे)

आमतौर पर खांसी की वजह बैक्टीरिया, वायरस, धुआं या दवाएं होती हैं। हालांकि, ये किसी गंभीर बीमारी के कारण भी हो सकती है, जिसके लिए इलाज लेना आवश्यक हो सकता है।

वैसे तो खांसी अपने आप या कुछ उपाय करने से ठीक हो जाती है, लेकिन कुछ मामलों में इसके लिए डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता भी हो सकती है, क्योंकि ज्यादा समय तक खांसी ठीक न होना किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है।

इस लेख में क्या खांसी आना खतरनाक होता है, खांसी हो तो क्या करे, सूखी खांसी में क्या करे, बलगम वाली खांसी होने पर क्या करना चाहिए, खांसी ज्यादा हो तो क्या करें और खांसी के लिए डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए के बारे में बताया गया है।

  1. क्या खांसी होना खतरनाक हो सकता है - Kya khansi hona gambhir hota hai
  2. खांसी आए तो क्या करना चाहिए - Khasi ho to kya karna chahiye
  3. खांसी के लिए डॉक्टर के पास कब जाए - Khasi hone par doctor ko kab dikhana chahiye

खांसी एक आम समस्या है जो किसी भी कारणवश हो सकती है। किसी सामान्य कारण की वजह से होने वाली खांसी आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाती है। खांसी के लिए कुछ घरेलू उपाय भी किए जा सकते हैं। हालांकि, कई गंभीर समस्याओं के कारण भी खांसी होती है। अगर खांसी कुछ दिनों में ठीक न हो, तो ये खतरे का संकेत हो सकता है।

(और पढ़ें - थकान दूर करने के लिए क्या खाएं)

लगातार खांसी करना थकाने वाली समस्या तो होती ही है और साथ ही साथ इससे अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे बहुत अधिक पसीना आना, सिरदर्द, पसलियों में फ्रैक्चर हो जाना या चक्कर आना अदि।

(और पढ़ें - सिरदर्द होने पर क्या करें)

कुछ समस्याएं या बीमारियां ऐसी होती हैं जिनका शुरूआती लक्षण होता है खांसी आना, जैसे-

धूम्रपान करने से भी खांसी आती है और कई बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

(और पढ़ें - सिगरेट पीना छोड़ने के घरेलू उपाय)

वैसे तो खांसी छोटे-मोटे उपाय करने से ठीक हो जाती है, लेकिन इससे होने वाली समस्याएं बहुत परेशान करने वाली होती हैं। खांसी के लिए प्राथमिक उपचार निम्नलिखित है जो आपको खांसी से जल्दी छुटकारा पाने में मदद करेंगे -

  1. कुछ ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण के कारण गले के पीछे की तरफ एक तरल स्त्राव रिसने लगता है, जिसके कारण खांसी आने लगती है। तरल पदार्थ या पानी पीने से आपका गला तर रहता है, जिससे ये स्राव गले में रगड़ता नहीं है और आपको खांसी नहीं आती। (और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन के लक्षण)
  2. रात के समय खांसी बढ़ जाती है, क्योंकि बलगम आपके गले के पीछे की तरफ जमने लगता है जिससे खांसी आती है। इसके लिए सोते समय अपने सिर के नीचे तकिये रखें ताकि आपका सिर ऊपर उठा रहे और बलगम गले में जमे नहीं।
  3. खांसी के लिए भाप लेना मददगार होता है। इसके लिए या तो आप गर्म पानी से नहा सकते हैं या एक बर्तन में गर्म पानी डालकर उसमें से निकलती भाप को अपनी नाक से अंदर ले सकते हैं। बर्तन से भाप लेने की तकनीक का इस्तेमाल सावधानी से करें और अगर आपको अस्थमा है, तो इसका उपयोग न करें क्योंकि इससे आपके लक्षण और बिगड़ सकते हैं। (और पढ़ें - भाप लेने का तरीका)
  4. नमक के पानी से गरारे करने से आपके गले को आराम मिलेगा और उसमें मौजूद बलगम भी निकल जाएगा। इसके लिए एक गिलास पानी को हल्का गर्म करके उसमें थोड़ा सा नमक मिला लें। अब इस पानी से कुछ समय तक गरारे करें। याद रहे कि ये पानी आप गले से अंदर न कर लें, इसे बाहर ही फेकें। (और पढ़ें - गले की खराश दूर करने के उपाय)
  5. खांसी के लिए मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली पुदीने की ड्रॉप्स भी ली जा सकती हैं। इससे आपके गले का पिछला भाग सुन्न हो जाएगा और आपको खांसी नहीं आएगी। (और पढ़ें - पुदीने की चाय के फायदे)
  6. आप अपने घर की हवा को नम बनाने के लिए “ह्युमिडिफायर” (Humidifier) का उपयोग भी कर सकते हैं। (और पढ़ें - गले में दर्द के घरेलू उपाय)
  7. अगर आप धूम्रपान करते हैं, तो ये आपकी खांसी को और बढ़ा सकता है। खांसी होने पर सिगरेट बिलकुल न पिएं और अगर कोई धूम्रपान कर रहा हो, तो उसके आस-पास न जाएं। (और पढ़ें - ज्यादा हिचकी आने पर क्या करें)
  8. चाय में थोड़ा सा शहद मिलाकर पीने से भी खांसी में आराम मिलता है। (और पढ़ें - दूध और शहद पीने के फायदे)
  9. ऐसी कोई भी चीज से दूर रहें जो खांसी कर सकती हैं, जैसे धूल, परफ्यूम अादि। (और पढ़ें - धूल से एलर्जी के लक्षण)
  10. अदरक वाली चाय या शहद से खांसी में आराम मिलता है। 1 साल से बड़े बच्चे और बड़े लोगों को खली शहद दिया जा सकता है। नवजात शिशुओं को शहद न दें, इससे उन्हें नुकसान हो सकता है। (और पढ़ें - अदरक की चाय के फायदे)
  1. सूखी खांसी के लिए क्या करना चाहिए - Sukhi khansi ke liye kya karna chahiye
  2. बलगम वाली खांसी कैसे ठीक करे - Balgam wali khansi ke liye kya kare
  3. ज्यादा खांसी आ रही हो तो क्या करना चाहिए - Jyada khasi aane par kya kare

सूखी खांसी के लिए क्या करना चाहिए - Sukhi khansi ke liye kya karna chahiye

सूखी खांसी वो होती है जिसमें गले में बलगम नहीं बनता। इस प्रकार की खांसी को ठीक करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है और ये ज्यादा परेशान करने वाली भी होती है। सूखी खांसी के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं -

  • सूखी खांसी के लिए आप गर्म पानी से गरारे कर सकते हैं ताकि आपका गला तर रहे। (और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)
  • इसके लिए मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली खांसी की मीठी गोलियां भी ली जा सकती हैं ताकि आपके गले को आराम मिले। (और पढ़ें - काली खांसी के लक्षण)
  • खांसी और कई श्वसन संबंधी समस्याओं के लिए अदरक को बहुत अच्छा माना जाता है। इसके लिए आप अदरक वाली चाय ले सकते हैं। (और पढ़ें - हांफने के कारण)
  • भाप लेने से गला तर होता है और खांसी में आराम मिलता है। इसके लिए आप गर्म पानी की भाप ले सकते हैं। (और पढ़ें - गुनगुना पानी पीने के फायदे)
  • गर्म तरल पदार्थ पीने से भी सूखी खांसी में आराम मिलता है।
  • खांसी के लिए मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली खांसी की दवाओं का उपयोग भी किया जा सकता है।
  • शहद का उपयोग करने से सूखी खांसी में आराम मिलता है। ध्यान रहे कि 1 साल से छोटे बच्चों को शहद न दें। इसका उपयोग किसी भी पीने वाले गर्म तरल पदार्थ में भी किया जा सकता है। (और पढ़ें - शहद और गर्म पानी के लाभ)
  • मेडिकल स्टोर पर सूखी खांसी के लिए कई कफ सिरप भी उपलब्ध होते हैं, आप इनका उपयोग भी कर सकते हैं। (और पढ़ें - घर में कफ सीरप बनाने का नुस्खा)
  • सूखी खांसी के लिए हल्दी का उपयोग भी किया जाता है। हल्दी को दूध का घी के साथ लेने से खांसी में आराम मिलता है। (और पढ़ें - गाय के घी के फायदे)
  • अगर खांसी एलर्जी या इन्फेक्शन के कारण है, तो एंटीबायोटिक एंटी-हिस्टामिन दवाएं भी ली जा सकती हैं। हालांकि, कोई भी दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। (और पढ़ें - एलर्जी होने पर क्या करें)
  • हो सके तो सोते समय अपने सिर को ऊपर की तरफ उठा कर रखें। इसके लिए अपने सिर के नीचे तकिये रख लें। (और पढ़ें - सिर दर्द से छुटकारा पाने के उपाय)

बलगम वाली खांसी कैसे ठीक करे - Balgam wali khansi ke liye kya kare

बलगम वाली खांसी अधिकतर वायरस के कारण होती ही है और इसमें आपके गले में बलगम जमने लगता है। इस खांसी के लिए आप निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं -

  1. गले में मौजूद बलगम को निकालने के लिए आप गर्म पानी से नहा सकते हैं या एक बर्तन में गर्म पानी डालकर उससे भाप ले सकते हैं। इस तकनीक के लिए एक बर्तन में गर्म पानी डाल लें और उससे निकलती भाप को अपने नाक या मुंह से अंदर लें। इस तकनीक का उपयोग करते समय सावधानी बरतें। (और पढ़ें - गर्म पानी से नहाने के फायदे)
  2. अपने घर की हवा को नम बनाने के लिए आप ह्युमिडिफायर का उपयोग कर सकते हैं। ये तकनीक रात को ज्यादा काम आती है। (और पढ़ें - रात को जल्दी सोने के उपाय)
  3. रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं ताकि बलगम बाहर निकल सके। (और पढ़ें - पानी कितना पीना चाहिए)
  4. सोने से पहले एक चम्मच शहद खाने से बलगम वाली खांसी में आराम मिलता है। 1 साल से छोटे बच्चों को शहद न खिलाएं। (और पढ़ें - बच्चों की खांसी के लिए शहद)
  5. डेयरी प्रोडक्ट, मांस या तला हुआ भोजन न खाएं, इससे अधिक बलगम बनता है। (और पढ़ें - मीट खाने के नुकसान)
  6. विटामिन सी लेने से वायरल इन्फेक्शन जल्दी ठीक होता है। दिन में या तो एक संतरा खाएं या संतरे का जूस पिएं। इससे वायरल इन्फेक्शन के कारण होने वाली खांसी में आराम मिलेगा। (और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण के लक्षण)
  7. बलगम को बाहर निकालने के लिए गर्म तरल पदार्थों का सेवन करें। (और पढ़ें - चाय के फायदे)
  8. बलगम वाली खांसी के लिए आप मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली कफ ड्रॉप्स का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  9. ऐसी कोई भी वस्तु का सुगंध से दूर रहें जो खांसी कर सकती है, जैसे पेंट, परफ्यूम या धुआं अादि। (और पढ़ें - दम घुटने के कारण)
  10. बलगम वाली खांसी के लिए अदरक वाली चाय पीना लाभदायक होता है। इससे गले में हुई सूजन भी कम होती है और गला तर रहता है। (और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)

(और पढ़ें - बलगम निकालने के उपाय)

ज्यादा खांसी आ रही हो तो क्या करना चाहिए - Jyada khasi aane par kya kare

घरेलू उपाय और प्राथमिक उपचार करने से आमतौर पर खांसी ठीक हो ही जाती है, लेकिन अगर ये ठीक न हो तो डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता होती है क्योंकि ये किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। अगर खांसी बहुत लम्बे समय से हो रही है, तो हो सकता है डॉक्टर भी उसका इलाज न कर पाएं। हालांकि, डॉक्टर की सलाह का सही तरह से पालन करने से खांसी में आराम मिल सकता है।

(और पढ़ें - गले की परेशानियों से छुटकारा पाने के उपाय)

बहुत ज्यादा खांसी होने पर आप कुछ उपाय कर सकते हैं, जैसे पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं, अदरक वाली चाय पिएं, पानी में थोड़ा नमक डालकर गरारे करें, शहद खाएं या चाय में शहद डालकर पिएं और डॉक्टर की सलाह से कफ ड्रॉप्स लें।

(और पढ़ें - खांसी में क्या खाएं)

खांसी के लिए आमतौर पर डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन निम्नलिखित स्थितियों को नजरअंदाज न करें और अपने डॉक्टर से सलाह लें अगर -

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...