myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ताड़ के पेड़ पर उगने वाला खजूर अंडे के आकार का होता है। दुनियाभर में इस्‍तेमाल होने वाले खजूर का इस्‍तेमाल कई तरह की रेसिपी में किया जाता है। फल देने वाले पेड़ों में खजूर को सबसे पुराना माना जाता है। बाइबिल में इसके पेड़ को 'जीवन प्रदान करने वाला वृक्ष’ कहा गया है।

ताड़ के पेड़ पर खजूर गुच्‍छों में उगते हैं। खजूर एक ऐसा फल है जो प्राकृतिक तरीके से पाचन प्रक्रिया में मदद करता है। इसमें कई तरह के पोषक तत्‍व और मिनरल्‍स होते हैं जो शरीर को स्‍वस्‍थ एवं बीमारियों से दूर रखते हैं। सेहत के लिए फायदेमंद होने के कारण पिछले कुछ वर्षों में खूजर की लोकप्रियता में इजाफा हुआ है।

(और पढ़ें - पाचन क्रिया कैसे सुधारे)

आमतौर पर खजूर के पेड़ 21-23 मीटर (69-75 फीट) की ऊंचाई तक बढ़ते हैं। खजूर का फल स्‍वाद में मीठा होता है और सूखने पर इसमें लगभग 75 फीसदी चीनी की मात्रा होती है। खजूर को तीन वर्गों में बांटा गया है – मुलायम, हल्‍का नरम और सूखा खजूर। खजूर के कुछ सामान्‍य प्रकारों में बारही खजूर, डेगलेड नूर खजूर, हलवाई खजूर, खदरवे खजूर, थूरी खजूर, जहिदी खजूर शामिल हैं। किस्‍म के आधार पर खजूर का रंग थोड़ा लाल-पीला या सफेद और काला हो सकता है।

इराक, अरब, उत्तरी अफ्रीका, मोरक्को में खजूर एक महत्वपूर्ण पारंपरिक फसल है। विश्‍व स्‍तर पर खजूर का सबसे बड़ा उत्‍पादक मिस्‍त्र को माना जाता है और इसके बाद ईरान एवं सऊदी अरब का नाम आता है। भारत में राजस्‍थान, पश्चिम में गुजरात और दक्षिण में तमिलानडु एवं केरल में सबसे ज्‍यादा खजूर उगाए जाते हैं। भारत दुनिया में खजूर का सबसे बड़ा आयातक है।

खजूर के बारे में तथ्‍य:

  • वानस्‍पतिक नाम: फीनिक्स डेक्टाइलेफेरा
  • कुल: ताड़, एरिकेसी
  • सामान्‍य नाम: डेट पाम, खजूर
  • संस्‍कृत नाम: खूर्जरम
  • उपयोगी भाग: फल, पत्तियां, बीज और रस
  • भौगोलिक विवरण: खजूर की उत्पत्ति मिस्र और मेसोपोटामिया के बीच के उपजाऊ क्षेत्रों से हुई है। इसकी खेती मुख्य रूप से उत्तरी अफ्रीका, दक्षिण एशिया और मध्य पूर्व में की जाती है।
  • रोचक तथ्‍य: ऊंट के दूध में खजूर मिलाकर खाना बहुत फायदेमंद होता है। ऊंट के दूध में वसा और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। खजूर में विटामिन ए, बी और डी पाया जाता है। इसलिए इन दोनों को मिलाकर लेने से भरपूर पोषण प्राप्‍त होता है।
  1. छुहारा और खजूर में अंतर - Difference Between Fresh Dates and Dried Dates in Hindi
  2. खजूर के फायदे - Khajoor ke Fayde in Hindi
  3. खजूर खाने के नुकसान - Khajur Khane ke Nuksan in Hindi
  4. छुहारे के फायदे - Chuhare ke Fayde in Hindi
  5. छुहारे के नुकसान - Chuhare ke Nuksan in Hindi
  6. खजूर खाने का सही तरीका - Ways to eat Dates in Hindi

खजूर सॉफ्ट सेमी, सॉफ्ट या सूखे रूप में उपलब्ध होते हैं। वहीं छुहारे खजूर के समान नहीं होते हैं। छुहारे में खजूर की तुलना में कम नमी होती है। अगर खजूर को एक बंद हवा रहित कंटेनर में रखा जाए तो यह 8 महीनों तक रह सकता है। वहीं अगर इसे फ्रीजर में रखा जाए तो यह एक वर्ष तक ताजा रहता है।

छुहारे को जानबूझकर नमी को हटाने के लिए निर्जलित किया जाता है। छुहारे, खजूर की तुलना में अधिक दिनों तक चलते हैं। एक वायुरोधी कंटेनर में छुहारे एक वर्ष तक के लिए ताजा रखा जा सकता है वहीं इसे अगर फ्रीजर में रखे जाएँ तो पांच साल तक ताजा रह सकता है।

जब कैलोरी की बात आती है, तो छुहारों में खजूर की तुलना में काफी अधिक कैलोरी होती है। 100 ग्राम छुहारे में लगभग 284 कैलोरी होती है, वहीं 100 ग्राम खजूर में 142 कैलोरी होती है। यदि आप अपने वजन को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहे हैं तो आपके लिए खजूर बेहतर विकल्प हैं। कम एनर्जी-डेंसिटी (energy-density) वाले खाद्य पदार्थ, अधिक एनर्जी-डेंसिटी (energy-density) वाले खाद्य पदार्थों की तुलना में कम कैलोरी के साथ-साथ अपनी भूख को भी संतुष्ट करने में सहायता करते हैं।

मैक्रोन्युट्रिएंट्स ऐसे पोषक तत्व है जिनकी आपके शरीर को सबसे अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है और जिसमें साथ ही प्रोटीन, वसा और कार्बोहाइड्रेट होते हैं। छुहारे और खजूर में मैक्रोन्यूट्रिएंट सामग्री भिन्न होती है। जबकि प्रोटीन और वसा केवल थोड़ा अलग होता है, खजूर की तुलना में छुहारे में कार्बोहाइड्रेट दोगुनी होता है। छुहारे फाइबर का अच्छा स्रोत भी है। 100 ग्राम खजूर में 1.8 ग्राम प्रोटीन, 1 ग्राम वसा, 37 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3.5 ग्राम फाइबर होता है। वहां 100 ग्राम छुहारे में प्रोटीन 2.8 ग्राम, 0.6 ग्राम वसा, 76 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 5 ग्राम फाइबर पाया जाता है।

माइक्रोन्यूट्रिएंट्स ऐसे पोषक तत्व होते हैं जिनकी आपके शरीर को छोटे मात्रा में जरूरत होती है जैसे विटामिन और खनिज। खजूर की तुलना में छुहारे कैल्शियम और आयरन का एक बेहतर स्रोत हैं, लेकिन खजूर विटामिन सी का एक बेहतर स्रोत है। 100 ग्राम खजूर में 34 मिलीग्राम कैल्शियम, 6 ग्राम आयरन और 30 मिलीग्राम विटामिन सी होता है वहीं 100 ग्राम छुहारों में 81 मिलीग्राम कैल्शियम, 8 मिलीग्राम लौह और 0 मिलीग्राम विटामिन सी होता है।

खजूर के फायदे शरीर को दें ऊर्जा - Dates for energy in Hindi

कई बार हमें बहुत ज़्यादा कमजोरी लगने लगती है, ऐसे में खजूर खाने से आपके शरीर को तुरंत ऊर्जा मिलती है। यह उन लोगो के लिए तो बहुत ही अच्छा है जिन्हें बार बार मीठा खाने की इच्छा होती है। क्योंकि खजूर फास्ट फूड की तरह अनहेल्थी भी नहीं होते हैं।

खजूर में ग्लूकोज, फ्रक्टोज और सुक्रोज जैसे प्राकृतिक शर्करा अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसलिए, यह तुरंत ऊर्जा प्राप्त करने के लिए उचित नाश्ता है। कई लोग जब दोपहर में सुस्त महसूस करते हैं तो वे खजूर का सेवन कर सकते हैं जो उनके आलस को दूर करने में मदद कर सकता है। आप इसे कसरत करने के बाद शरीर में ऊर्जा वापस लाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें- ऊर्जा बढ़ाने के उपाए)

खजूर के फायदे हड्डियों को करें मज़बूत - Dates for bone strength in Hindi

खजूर में अच्छी मात्रा में मिनरल्स होते हैं इसलिए यह हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। यह ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी से होने वाले दर्द को दूर करने में भी मदद करता है। खजूर में सेलेनियम, मैंगनीज़, कॉपर और मैग्नीशियम होता है, जो स्वस्थ हड्डियों के विकास में मदद करता है। उम्र बढ़ने के साथ लोगो की हड्डियाँ कमजोर होने लगती हैं, ऐसे में यदि आप पहले से खजूर का सेवन करते रहेंगे तो आपकी हड्डियाँ लंबे समय तक मजबूत रहेंगी। उत्तरी डकोटा स्टेट यूनिवर्सिटी (North Dakota State University) द्वारा दी गई एक रिपोर्ट के अनुसार, खजूर में बोरोन (boron) होता है जो हड्डियों के लिए स्वस्थ है।

(और पढ़ें - गठिया को दूर करने के लिए कुछ जूस रेसिपी)

खजूर के लाभ वजन घटाने में - Khajoor for weight loss in Hindi

बहुत से लोग जो अपना वजन कम करना चाहते हैं वो सूखे मेवे लेने से डरते हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि ड्राइ फ्रूट खाने से चर्बी बढ़ती है। लेकिन खजूर के साथ ऐसा कुछ नहीं है, इसमें फैट बहुत कम होता है और साथ ही खजूर कोलेस्ट्राल फ्री है। इसलिए बिना कोई चिंता करे आप इसकी थोड़ी मात्रा अपने नियमित दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - वजन कम करने के तरीके)

खजूर और दूध के फायदे खाँसी जुकाम में - Benefits of khajoor with milk in Hindi

खजूर सर्दियों में तो और भी फायदेमंद है जब आपको अक्सर खाँसी जुकाम की परेशान हो जाती है। ऐसे में एक गिलास दूध में छोटे कटे हुए पाँच खजूर डालें, साथ ही एक चुटकी काली मिर्च और इलायची पाउडर मिला कर दूध उबाल लें। इसमें एक चम्मच घी भी मिला सकते हैं। रोज़ रात को सोते समय इसे पीने से आपका खाँसी जुकाम ठीक हो जाएगा। 

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

खजूर के गुण पाचन तंत्र के लिए - Dates for digestive system in Hindi

यदि आपका पाचन तंत्र कमज़ोर है तो खजूर आप के लिए भी फायदेमंद है। खजूर में घुलनशील फाइबर का स्तर अधिक होता है, जो आंतों के माध्यम से पचे हुए भोजन को शरीर से बहार निकालने में मदद करता है। जिससे कब्ज के लक्षणों से छुटकारा मिल सकता है। आपको बस इतना करना है कि कुछ खजूर को रात भर पानी में भिगो दें और सुबह उठकर अच्छे से चबा कर ख़ालें। जिन लोगों को कब्ज की समस्या अक्सर रहती है, उनके लिए तो यह बहुत ही फायदेमंद है। 

(और पढ़ें- कब्ज दूर करनर के घरेलू उपाए)

खजूर के लाभ त्वचा के लिए फायदेमंद - Khajoor benefits for skin in Hindi

खजूर में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी2, फॉस्फरस, कैल्शियम, आइरन और मैग्नीशियम होता है। यह सभी तत्व आपकी त्वचा को सुंदर और लचीला बनाने में मदद करते हैं। खजूर विटामिन सी और विटामिन बी का भी अच्छा स्रोत है। खजूर में विटामिन सी और विटामिन डी होते हैं जो त्वचा के लचीलेपन में काम करते हैं। यह फल त्वचा की समस्याओं से लड़ने में भी मदद कर सकता है। साथ ही इसमें मौजूद न्यूट्रियेंट्स आपकी त्वचा को मुलायम बनाते हैं। फ्री रेडिकल्स आपकी त्वचा को नुकसान पहुँचाते हैं जिसकी वजह से वक्त से पहले ही आपकी त्वचा बूढ़ी दिखाई देने लगती है। खजूर में मौजूद विटामिन सी आपकी त्वचा को फ्री रॅडिकल्स से बचाता है। इससे हमारी त्वचा पर झुर्रियां जल्दी नही आती हैं। आप अपने आहार में खजूर को शामिल कर सकते हैं और इसके परिणाम देख सकते हैं।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल कैसे करें)

खजूर के अन्य फायदे - Khajur Other Health Benefits in Hindi

खजूर के अन्य फायदे इस प्रकार हैं - 

  • खजूर आयरन का अच्छा स्रोत है। इसलिए जो लोग एनीमिया का शिकार हैं, उन्हें खजूर का सेवन ज़रूर करना चाहिए। (और पढ़ें - एनीमिया के प्रकार)
  • विटामिन की कमी से आपके बाल कमजोर हो जाते हैं। खजूर में मौजूद विटामिन बी आपके बालो को गिरने से बचाता है और उन्हें मजबूत बनाता है। (और पढ़ें- बालों को मजबूत करने के उपाए)
  • खजूर पेट में कैंसर होने की संभावना को भी कम करता है। इसलिए इसे दैनिक जीवन में ज़रूर शामिल कर लेना चाहिए।
  • शीघ्रपतन की समस्या में लगातार खाली पेट तीन महीनों तक खजूर का सेवन करने से इस समस्या से निजाद पाया जा सकता है।
  • खजूर पोटेशियम का एक काफी अच्छा स्त्रोत है, पर इसमें सोडियम की भी थोड़ी मात्रा होती है, और यह आपके तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। पोटेशियम, कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है, और स्ट्रोक का खतरा कम करता है।(और पढ़ें - ब्रेन स्ट्रोक का उपचार)
  • खजूर में आयरन होने की वजह से यह सिर की त्वचा में रक्त के बहाव को बढ़ाता है और बालों को लम्बा करता है।

(और पढ़ें - बालों को लम्बा करने का तरीका)

खजूर का फायदा एलर्जी के लिए - Khajur ka fayda for Allergy in Hindi

काफी मुश्किल से किसी खाद्य पदार्थ में सल्फर होता है। खजूर में सल्फर पाया जाता है। यह एलर्जी प्रतिक्रियाओं और मौसमी एलर्जी को कम करने में मदद करता है। 2002 में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, सल्फर मौसमी एलर्जिक राइनाइटिस से पीड़ित लोगों के शरीर पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। खजूर, एलर्जी को कम करने के लिए या उससे बचने के लिए एक काफी अच्छा आहार माना जाता है।

(और पढ़ें- एलर्जी के घरेलू उपाए)

 

खजूर का फायदा यौन दुर्लभता के लिए - Khajur ka fayda for Sexual Weakness in Hindi

अध्ययनों से पता चला है कि यौन दुर्लभता के लिए खजूर फायदेमंद होता है। बकरी के ताजा दूध के साथ खजूर को रात भर भिगो कर रख दें, फिर इसी दूध में इलायची पाउडर और शहद के मिश्रण को मिलांए और एक साथ पीस लें। यह मिश्रण यौन दुर्लभता और यौन विकारों को दूर करने में मदद करता सकता है। 2006 में, बहमानपुर (Bahmanpour) अध्ययन द्वारा यह पता चला है कि खजूर और खजूर का तेल यौन दुर्लभता को दूर करने में मदद करता है क्यूंकि इनमें इसमें पाए जाने वाले कुछ घटक शुक्राणु की संख्या को बढ़ाते हैं। तो, यदि आपको किसी तरह का यौन विकार है तो खजूर का सेवन करना आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

(और पढ़ें- यौन शक्ति)

खजूर का फायदा गर्भावस्था के लिए - Khajur ka fayda for Pregnancy in Hindi

सामान्य महिलाओं की तुलना में गर्भवती महिलाओं को 300 कैलोरी अधिक की आवश्यकता होती है। लेकिन ज्यादातर गर्भवती महिलाएं अधिक कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ चुनती हैं जिनमें पोषक तत्वों कम होते हैं, जो की उनकी लिए एक स्वस्थ आहार नहीं होता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को खजूर का सेवन करने को कहा जाता है क्यूंकि इनमें हर तरह के जरुरी पोषक तत्व हैं। हालांकि इसमें कैलोरी की मात्रा थोड़ी अधिक होती है, पर इसमें पोषक तत्व की मात्रा भी अधिक होती हैं। एक जॉर्डन अध्ययन (Jordan study) के मुताबिक, प्रसव (labor) से चार हफ्ते पहले इनका उपभोग गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा परिणाम उत्पन्न कर सकता है। गर्भावस्था के आखिरी महीनों में गर्भाशय की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए भी खजूर का सेवन करना प्रभावशाली माना जाता है।

(और पढ़ें- नार्मल डिलीवरी के लिए क्या खाएं)

खजूर की तासीर - Khajur ki taseer

खजूर की तासीर ठंडी होती है। इसलिए इसे गर्मियों के मौसम में उपयोग करने की सलाह दी जाती है। खजूर शरीर को ठंडक पहुंचता है। पर इसका ज्यादा सेवन भी आपके शरीर के लिए सही नहीं है।

(और पढ़ें - गर्मियों के मौसम में क्या खाना चाहिए)

खजूर खाने के नुकसान इस प्रकार हैं -

  • खजूर में चीनी की मात्रा अधिक होती है इसलिए रक्त शर्करा से बचने के लिए खजूर सीमित मात्रा में खाना चाहिए। परन्तु सभी प्रकार के खजूर हानिकारक नहीं होते हैं क्योंकि सूखे खजूर का ग्लाइसेमिक सूचकांक अधिक होता है।
  • खजूर फाइबर से अधिक मात्रा में फाइब पाया जाता है और फाइबर वजन घटाने में मदद करता है। परंतु यदि आप अधिक मात्रा में खजूर का सेवन करते हैं तो शारीर में कैलोरी की मात्रा सकती है, जिससे वजन बढ़ता है।
  • जैसा की हम जानते हैं खजूर में फाइबर बहुत अधिक होता है और अधिक मात्रा में फाइबर का सेवन करने से पेट में दर्द हो सकता है। सल्फाइट एक रासायनिक यौगिक है जो खजूर की बनावट और चमक बनाए रखने के लिए उसमें डाला जाता है। अगर आप सल्फाइट के प्रति संवेदनशील हैं, तो यह सूजन, पेट में दर्द और दस्त जैसी जटिलताएं पैदा कर सकता है।
  • खजूर में हिस्टामिन काफी होता है जो एलर्जी का कारण हो सकता है। खजूर में पाए जाने वाला सैलिसिलेट भी एलर्जी के लक्षणों का कारण हो सकता है।
  • ज्यादा खजूर खाने से दांत की सड़न भी हो सकती है।
  • बच्चों के लिए, खजूर को पचाना मुश्किल है। उनके दांत और आंत खजूर जैसे खाद्य पदार्थों को पचाने के लिए अभी भी काफी मजबूत नहीं होते इसलिए अच्छा होगा कि उन्हें ये ना खिलाएं।
  • दमा की परेशानी में सुबह शाम दो-दो खजूर चबा कर खाने से राहत मिलती है। (और पढ़ें - अस्थमा का घरेलू उपाय)
  • खजूर काफ़ी स्वादिष्ट होते हैं इसलिए इनके नुकसान से बचने के लिए यह ज़रूरी है कि इन्हें सीमित मात्रा में ही खाया जाए।

खजूर या फीनिक्स डैक्टाइलीफेरा (Phoenix Dactylifera) सबसे पौष्टिक खाद्य पदार्थों में से एक है जिनका सेवन हम ताजा या सुखाने के बाद कर सकते हैं। सूखे खजूर जिसे हिंदी में 'छुहारा' के नाम से भी जाना जाता है। छुहारा कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए एक प्राकृतिक उपचार माना जाता है।

छुहारे को विटामिन्स का खान माना जाता है। इसमें विटामिन ए, सी, ई, के, बी 2, बी 6, नियासिन और थायामिन सहित विटामिन की एक विस्तृत श्रृंखला होती है। ये विटामिन हमारे स्वास्थ्य और कल्याण के लिए महत्वपूर्ण हैं। इसलिए हमारे समग्र स्वास्थ्य में सुधार के लिए ड्राई डेट्स का सेवन करना फायदेमंद है।

छुहारे में आयरन, पोटेशियम, सेलेनियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस और तांबे जैसे सभी आवश्यक खनिज होते हैं, जिनके बिना हमारे शरीर की कोशिकाएं अपनी नियमित गतिविधियां नहीं कर सकती हैं।

  1. छुहारे के फायदे कब्ज को ठीक करने के लिए - Dry Dates for Constipation in Hindi
  2. छुहारे के लाभ हैं हृदय के लिए उपयोगी - Chuhara Benefits for Cardiovascular System in Hindi
  3. छुहारे के गुण करें पाचन को बेहतर - Dried Dates for Digestion in Hindi
  4. छुहारे खाने के लाभ बढ़ाएं मांसपेशियों की ताकत - Dried Dates for Muscle in Hindi
  5. छुहारे खाने के फायदे ऊर्जा को बढ़ाने के लिए - Dried Dates for Energy in Hindi
  6. छुआरे के फायदे त्वचा को स्वस्थ बनाएं - Dry Dates Good for Skin in Hindi
  7. बालों के विकास के लिए खाएं छुहारे - Dry Dates for Hair Growth in Hindi

छुहारे के फायदे कब्ज को ठीक करने के लिए - Dry Dates for Constipation in Hindi

छुहारा में मौजूद फाइबर प्रभावी ढंग से कब्ज को ठीक करने में मदद करता है। फाइबर मल की मात्रा को बढ़ाकर हमारे बृहदान्त्र को साफ कर सकता है। यह एक रेचक के रूप में कार्य करता है और हमारे शरीर के भीतर आँतों की मूवमेंट की सुविधा प्रदान करता है। छुहारे मैग्नीशियम से भी समृद्ध होते हैं जो आपके आंत्र की मांसपेशियों को हल्के रेचक के रूप में काम करने में मदद करते हैं।

आप इन्हें एक दिन के लिए पानी में भिगों लें और रात में सोने से पहले इनका सेवन करें। इससे कब्ज में राहत मिलेगी।

(और पढ़ें - कब्ज में क्या खाना चाहिए)

छुहारे के लाभ हैं हृदय के लिए उपयोगी - Chuhara Benefits for Cardiovascular System in Hindi

एक्सपर्ट्स के अनुसार हमारे कार्डियोवास्कुलर सिस्टम (हृदय प्रणाली) पर छुहारों का काफी अच्छा प्रभाव पड़ता है। छुहारे में वसा की मात्रा बहुत कम होती है और इनमें किसी भी प्रकार का कोलेस्ट्रॉल भी नहीं होता है। इसके अलावा, यह हमारे खून में कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन या खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। छुहारे में सोडियम की मात्रा बहुत कम होती है और पोटेशियम अधिक होता है जो हमारे शरीर में रक्त के दबाव को नियंत्रित करने के लिए बड़े पैमाने पर फायदेमंद होता है।

(और पढ़ें- हृदय रोग का इलाज)

छुहारे के गुण करें पाचन को बेहतर - Dried Dates for Digestion in Hindi

कई शोधों में देखा गया है कि ड्राई डेट्स में बहुत ही अच्छे एंटी-ऑक्सीडेटिव गुण होते हैं, जो हमारे पाचन को स्मूथ बनाते हैं और हमारे पेट को स्वस्थ रखते हैं। आवश्यक अमीनो एसिड और घुलनशील और अघुलनशील फाइबर से भरे होने के कारण, ड्राई डेट्स पाचन रस के स्राव को बढ़ाते हैं और खाद्य पदार्थों के पाचन में वृद्धि करते हैं। इनमें फाइबर होता है जो कब्ज ठीक करने के लिए जाना जाता है। यह मल पदार्थ की मात्रा को बढ़ाकर हमारे कोलन को साफ़ रख सकते हैं। यह फल लक्सेटिव (laxatives) के रूप में भी काम करता है और मल त्यागने में मदद करता है। इनके अलावा, ये एसिडिटी, पेट के अल्सर, सीने में जलन और बृहदांत्रशोथ (colitis) जैसे रोगों को ठीक करने में भी फायदेमंद है। हालांकि, यह सलाह दी जाती है कि दिन में 2 या 3 से अधिक छुहारे नहीं खाने चाहिए क्यूंकि इनमें कैलोरी अधिक मात्रा में होती है।

(और पढ़ें- पेट की समस्या के लिए योग)

छुहारे खाने के लाभ बढ़ाएं मांसपेशियों की ताकत - Dried Dates for Muscle in Hindi

छुहारों के सेवन से मांसपेशियों की ताकत बढ़ जाती है। हमारे दिल की मांसपेशियों पर इनका महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है और छुहारों को हमारे दिल को मजबूत बनाने के लिए भी जाना जाता है। गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से छुहारों का सेवन करना चाहिए क्योंकि वे गर्भाशय की मांसपेशियों को मजबूत कर सकता है और बच्चे के जन्म के समय मददगार साबित हो सकता है।

(और पढ़ें- मांसपेशियों में दर्द के घरेलू उपाए)

छुहारे खाने के फायदे ऊर्जा को बढ़ाने के लिए - Dried Dates for Energy in Hindi

छुहारे में प्राकृतिक शर्करा (ग्लूकोज और फ्रुक्टोज) की एक बड़ी मात्रा होती है, जो छुहारे को एक बहुत ही अच्छा ऊर्जा बूस्टर बनाती है। इन पौष्टिक फल की सहायता से आप अपनी शारीरिक सहनशक्ति को बढ़ा सकते हैं। अपने शरीर की ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने के लिए सूखे छुहारों का सेवन करें। कई लोग ऐसा भी मानते कि छुहारे, आपकी शारीरिक सहनशक्ति के साथ-साथ कामेच्छा में भी सुधार करने में मदद करते हैं। 

(और पढ़ें- एनर्जी बढ़ाने के उपाए)

 

छुआरे के फायदे त्वचा को स्वस्थ बनाएं - Dry Dates Good for Skin in Hindi

छुहारे में मौजूद एंटी ऑक्सीडेटिव गुण फ्री रेडिकल से लड़ने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। ये फ्री रेडिकल हमारी त्वचा की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने के साथ समय से पूर्व त्वचा की उम्र बढ़ने का कारण बन सकते हैं। हर रोज इनका सेवन आपकी त्वचा को अच्छी तरह से टोन देता है, जिससे त्वचा के उम्र बढ़ने की परिक्रिया को रोका जा सकता है।

हमारी त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए विटामिन ए आवश्यक होता है। चुकी छुहारा विटामिन ए का समृद्ध स्रोत है जो त्वचा की नई कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाता है और हमें स्वस्थ और चमकदार त्वचा प्रदान करता है।

नियमित रूप से छुहारे का सेवन करना आपको चिकनी, अच्छी तरह से पोषित और उचित त्वचा प्रदान करता है, क्योंकि यह त्वचा के लिए आवश्यक सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का एक खजाना है।

(और पढ़ें- खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)

बालों के विकास के लिए खाएं छुहारे - Dry Dates for Hair Growth in Hindi

छुहारो में मौजूद पैंटोफेनीक एसिड या विटामिन बी 5 बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए अच्छा आहार है। यह बालों के लिए एक सुपर फ़ूड के रूप में काम करता है और अगर इसका नियमित रूप सेवन किया जाए तो यह बालों की विभिन्न समस्याएँ जैसे कि दोमुंहे बाल, ब्रिटल हेयर, शुष्क बाल, बालों का झड़ना आदि को रोकने में मदद कर सकता है

बालों का झड़ना हम में से ज्यादातर लोगों के लिए बड़ी समस्या है। यदि आप इस तरह की समस्या से पीड़ित हैं, तो ड्राई डेट्स का दैनिक रूप से उपयोग करें यह आपके बालों के झड़ने को रोकने में मदद करेगा। इसका कारण यह है कि छुहारे पोषक तत्वों से भरे हुए होते हैं जो बालों के स्वस्थ विकास के लिए जरूरी होते हैं और बाल की जड़ों से लेकर स्कैल्प तक को पोषण प्रदान करते हैं। इससे आपके बालों को मजबूती मिलती है और बाल स्वस्थ और चमकदार रहते हैं।

(और पढ़ें- बालों की देखभाल के घरेलू उपाए)

  1. यदि आपका शुगर लेवल अधिक बना रहता है तो आपको छुहारे का सेवन नहीं करना चाहिए।
  2. यदि आप वजन को कम करने वाले डाइट पर है तो इसका सेवन न करें क्योंकि यह आपका वजन बढ़ा सकता है।
  3. छुहारे का अधिक सेवन करने से पेट दर्द हो सकता है। (और पढ़ें – पेट दर्द का घरेलू इलाज)
  4. कुछ लोगों को इसके सेवन से एलर्जी भी हो सकती है। यदि आपको इसके सेवन से कोई परेशानी होती है तो आप इसका सेवन बंद कर दें। क्योंकि यह एलर्जी रिएक्शन हो सकता है।
  5. माना जाता है की अधिक छुहारे खाने से अस्थमा के दौरे आने की संभावनाएं बढ़ सकती है, हालांकि इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं पाया गया है।
  6. बच्चों के लिए छुहारों का सेवन करना फायदेमंद नहीं माना जाता है, उन्हें यह चबाने में कठिनाई महसूस होती है, और क्यूंकि उनकी आंतें पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं तो छुहार आसानी से पचना मुश्किल होता है।
  7. छुहारों में अधिक फाइबर होता है। इसलिए छुहारे का अधिक सेवन दस्त जैसी समस्या का कारण बन सकता है।
  8. अधिक छुहारे खाने से आपको किसी तरह की दांतों की समस्या भी हो सकती है।

(और पढ़ें - दांत दर्द के घरेलू उपाय)

  • आप खजूर को नाश्ता के रूप में ले सकते हैं।
  • आप इन्हें अखरोट, बादाम और काजू के साथ मिलाकर एक बेहतरीन स्नैक के रूप में उपयोग कर सकते हैं।
  • नाश्ते में सिरिअल (cereal) के साथ इन्हें मिलाकर खा सकते हैं।
  • चिकन सलाद में खजूर का उपयोग हो सकता है।
  • खजूर का जमे हुए वेनिला दही के साथ सेवन करना काफी स्वादिष्ट माना जाता है।
  • आप खजूर को थोड़ी देर पानी में भिगो कर रख लें और फिर उन्हें खाएं।
  • खजूर का सिरप भी शरीर के लिए फायदेमंद और स्वादिष्ट होता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो कुछ अध्ययनों के अनुसार, शहद की तुलना में अधिक प्रभावी होते हैं।
Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Baidyanath Eladi VatiBaidyanath Eladi Vati Combo Pack Of 2105
Himalaya PartyPARTY SMART CAPSULE 10S60
Himalaya GeriforteHimalaya Geriforte Syrup72
और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Basic Report: 09421, Dates, medjool. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  2. Ibrahim A. Alhaider et al. Date Palm (Phoenix dactylifera) Fruits as a Potential Cardioprotective Agent: The Role of Circulating Progenitor Cells. Front Pharmacol. 2017; 8: 592. PMID: 28928656
  3. Abdellaziz Souli et al. Effects of Dates Pulp Extract and Palm Sap (Phoenix dactylifera L.) on Gastrointestinal Transit Activity in Healthy Rats. J Med Food. 2014 Jul 1; 17(7): 782–786. PMID: 24611963
  4. H.A. Hajar Al Binali. Night Blindness and Ancient Remedy. Heart Views. 2014 Oct-Dec; 15(4): 136–139. PMID: 25774260
  5. Masoumeh Kordi. Effect of Dates in Late Pregnancy on the Duration of Labor in Nulliparous Women. Iran J Nurs Midwifery Res. 2017 Sep-Oct; 22(5): 383–387. PMID: 29033994
  6. Al-Kuran O et al. The effect of late pregnancy consumption of date fruit on labour and delivery. J Obstet Gynaecol. 2011;31(1):29-31. PMID: 21280989
  7. Selvaraju Subash et al. Diet rich in date palm fruits improves memory, learning and reduces beta amyloid in transgenic mouse model of Alzheimer's disease. J Ayurveda Integr Med. 2015 Apr-Jun; 6(2): 111–120. PMID: 26167001
  8. Noura Eid et al. The impact of date palm fruits and their component polyphenols, on gut microbial ecology, bacterial metabolites and colon cancer cell proliferation. J Nutr Sci. 2014; 3: e46. PMID: 26101614
  9. Eid N et al. Impact of palm date consumption on microbiota growth and large intestinal health: a randomised, controlled, cross-over, human intervention study. Br J Nutr. 2015 Oct 28;114(8):1226-36. PMID: 26428278
  10. Vayalil PK. Date fruits (Phoenix dactylifera Linn): an emerging medicinal food. Crit Rev Food Sci Nutr. 2012;52(3):249-71. PMID: 22214443
  11. Al-Farsi MA, Lee CY. Nutritional and functional properties of dates: a review. Crit Rev Food Sci Nutr. 2008 Nov;48(10):877-87. PMID: 18949591
  12. Taleb H et al. Chemical characterisation and the anti-inflammatory, anti-angiogenic and antibacterial properties of date fruit (Phoenix dactylifera L.). J Ethnopharmacol. 2016 Dec 24;194:457-468. PMID: 27729284
  13. Reem A. Al-Alawi et al. Date Palm Tree (Phoenix dactylifera L.): Natural Products and Therapeutic Options. Front Plant Sci. 2017; 8: 845. PMID: 28588600
  14. Al-Shahib W, Marshall RJ. The fruit of the date palm: its possible use as the best food for the future? Int J Food Sci Nutr. 2003 Jul;54(4):247-59. PMID: 12850886
  15. Mohammed I. Yasawy The unexpected truth about dates and hypoglycemia. J Family Community Med. 2016 May-Aug; 23(2): 115–118. PMID: 27186159
  16. David O. Kennedy. B Vitamins and the Brain: Mechanisms, Dose and Efficacy—A Review. Nutrients. 2016 Feb; 8(2): 68. PMID: 26828517
  17. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; Anaemia.