myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

सर्दियों में एक तरफ जहां ठंड की वजह से तापमान तेजी से कम होने लगता है, वहीं दूसरी तरफ छोटे बच्चों के माता-पिता की टेंशन उसी अनुपात में बढ़ने लगती है। इसका कारण यह है कि वैसे तो ठंड के मौसम में अगर जरा सी लापरवाही की जाए तो किसी भी उम्र के लोगों के बीमार पड़ने का खतरा रहता है लेकिन वायरस और बैक्टीरिया के ज्यादा सक्रिय रहने की वजह से सर्दियों में बच्चों और बुजुर्गों में बीमारियों का जोखिम कुछ ज्यादा हो जाता है। 

(और पढ़ें - नवजात शिशु को सर्दी-जुकाम)

नाक बहना, गले में खराश, सर्दी-जुकाम और बुखार जैसी दिक्कतें ठंड के मौसम में बच्चों को होना आम बात है जिसकी वजह से उन्हें लेकर बाल रोग विशेषज्ञ के पास बार-बार जाने की जरूरत पड़ती है। ठंड के मौसम में बच्चों को अच्छी तरह से गर्म कपड़े पहनाकर रखने के साथ ही यह भी जरूरी है कि उन्हें सही पोषण मिले और उनका शरीर अंदर से गर्म रहे ताकि उनकी बीमारियों से लड़ने की क्षमता (इम्यूनिटी) मजबूत बनी रहे और वे कम बीमार पड़ें। इसमें अहम भूमिका निभाता है भोजन।

(और पढ़ें - बच्चों की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं)

सर्दी के मौसम में बच्चों का मेटाबॉलिज्म भी स्लो हो जाता है और इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाने की जरूरत होती है। ऐसे में बच्चे के नियमित आहार में कुछ बदलाव कर उन्हें ऐसे खाद्य पदार्थ खिलाने चाहिए जो हेल्दी भी हों और जिन्हें पचाना भी आसान हो। हम आपको उन विंटर फूड्स के बारे में बता रहे हैं जो न सिर्फ बीमारियों को दूर रखेंगे बल्कि बच्चे को अंदर से गर्माहट भी देंगे जिससे सर्दियों का मौसम बिना बीमारियों की टेंशन के कैसे निकल जाएगा, आपको पता भी नहीं चलेगा।

  1. बच्चों को सर्दियों में खिलाएं ड्राई फ्रूट्स - Bacchon ko sardi me khilaye dry fruits
  2. बच्चों को सर्दियों में खिलाएं संतरा और आंवला - Bacchon ko sardi me khilaye orange aur amla
  3. बच्चों को ठंड के मौसम में खिलाएं गाजर - Bacchon ko thand me khilaye gajar
  4. बच्चों को सर्दी में खिलाएं खजूर - Bacchon ko thand me khilaye khajoor
  5. बच्चों को ठंड के मौसम में खिलाएं शकरकंद - Bacchon ko thand me khilaye shakarkand
  6. बच्चों को सर्दियों में खिलाएं हरी पत्तेदार सब्जियां - Bacchon ko sardi me khilaye hari sabji
  7. बच्चों को ठंड के मौसम में खिलाएं गुड़ - Bacchon ko thand me khilaye gud
  8. ठंड में बच्चों को खिलाएं ये मसाले - Winter season me bacchon ko khilaye ye masale
  9. सर्दियों में बच्चों को पिलाएं सूप - Sardi ke mausam me bacchon ko pilaye soup
  10. बच्चों को सर्दियों में खिलाएं अंडा - Bacchon ko thand me khilaye anda

ठंड के मौसम में बड़ों के साथ ही बच्चों की डाइट में भी ड्राई फ्रूट्स यानी सूखे मेवों को शामिल करना बेहद जरूरी है। इसकी वजह ये है कि सूखे मेवे विटामिन ई, विटामिन सी, ओमेगा-3 फैटी एसिड, फोलेट और एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होते हैं जो शरीर को अंदर से गर्म रखने के साथ ही इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं और एनर्जी देने का भी काम करते हैं। लिहाजा अपने बच्चे की डाइट में बादाम, अखरोट, काजू, किशमिश और अंजीर को भी शामिल करें। आप चाहें तो बच्चों के लिए ड्राई फ्रूट्स के लड्डू, चिक्की या ड्राई फ्रूट्स की चॉकलेट भी बना सकती हैं ताकि बच्चे उसे मन से खाएं। अगर बच्चा छोटा हो तो आप इन ड्राई फ्रूट्स को पीसकर इनका पाउडर बना लें और बच्चे के दूध में इस पाउडर को मिलाकर उन्हें खिलाएं।

(और पढ़ें - बच्चों को बादाम कैसे खिलाएं और उसके फायदे)

विटामिन सी, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर आंवला भी ठंड के मौसम के लिहाज से बेहतरीन फल है जिसका सेवन आपके बच्चे को जरूर करना चाहिए। आंवला सर्दियों में आने वाला फल है और विटामिन सी का बेहतरीन सोर्स होने के कारण इम्यूनिटी मजबूत बनाने में भी मदद करता है। आंवले की ही तरह संतरा भी विटामिन सी, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है और सर्दियों का मौसमी फल भी है। बच्चे इसे पसंद से खाते भी हैं। वहीं आंवले की बात करें तो अगर आंवले को काटकर कच्चा खाने में बच्चे आना-कानी करें तो उन्हें आंवले का जूस पिला सकते हैं, आंवले का मुरब्बा, आंवले की कैंडी आदि कई तरीके हैं जिसके जरिए आप आंवले को बच्चे की डाइट में शामिल कर सकती हैं।

(और पढ़ें - आंवले का मुरब्बा बनाने की रेसिपी)

मौसमी फल और सब्जियों का सेवन किया जाए तो न सिर्फ उनका स्वाद बेहतरीन होता है बल्कि वे सेहत के लिए भी अच्छे होते हैं। सर्दियों में मिलने वाली ऐसी ही एक और मौसमी सब्जी है गाजरविटामिन ए और बीटा-कैरोटिन से भरपूर गाजर न सिर्फ आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करती है बल्कि सफेद रक्त कोशिकाओं को भी बढ़ाती है जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाकर वायरल इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है। इसके अलावा गाजर में एंटीऑक्सिडेंट्स और फाइबर भी होता है और इसलिए इसे पचाना भी आसान होता है। आप चाहें तो बच्चों को गाजर का हलवा खिला सकती हैं, गाजर का जूस पिला सकती हैं, सलाद के तौर पर गाजर काटकर दे सकती हैं या फिर फिंगर फूड के तौर पर छोटे बच्चों को हाथ में गाजकर काटकर पकड़ा सकती हैं।

(और पढ़ें - तनाव दूर करने के लिए पिएं गाजर ब्रोकली का जूस)

खजूर बच्चों की सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है खासकर सर्दियों के मौसम में क्योंकि यह शरीर को अंदर से गर्म रखने में मदद करता है। कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, विटामिन ए, विटामिन के जैसे विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होने के साथ ही खजूर का स्वाद भी मीठा और टेस्टी होता है जो बच्चों को काफी पसंद आता है। खजूर, बच्चों की हड्डियों को भी मजबूत बनाने में मदद करता है। आप चाहें तो बच्चों को स्नैक के तौर पर रोजाना 3-4 खजूर खाने के लिए दे सकती हैं या फिर बच्चों के मिल्कशेक या स्मूदी में चीनी की जगह खजूर डाल सकती हैं। लड्डू बना रही हों तो उसमें भी खजूर डाल सकती हैं।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में खजूर खाना चाहिए या नहीं)

सर्दियों का एक और बेहद टेस्टी और गुणों से भरपूर खाद्य पदार्थ है शकरकंद। डाइट्री फाइबर, विटामिन ए, बीटा कैरोटिन और पोटैशियम से भरपूर शकरकंद इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करता है जिससे आपका बच्चा सर्दियों में होने वाली कॉमन बीमारियों और इंफेक्शन्स से बचा रहता है। आप चाहें तो बच्चे के लिए घर पर ही बेहद टेस्टी शकरकंद की चाट बना सकती हैं, फ्रेंच फ्राइज के तौर पर आलू की जगह शकरकंद यूज कर सकती हैं या फिर शकरकंद को उबालकर पीस लें और इस प्यूरी को मैकरोनी या फिर किसी मीठ डिश में डालकर बच्चों को खिलाएं।

(और पढ़ें - बच्चों को अक्सर खाने की इन चीजों से हो सकती है एलर्जी)

सर्दियों का मौसम आया नहीं कि मार्केट में पालक, मेथी का साग, बथुआ का साग, सरसों का साग, पुदीना- इस तरह की हरी पत्तेदार सब्जियां खूब मिलने लगती हैं और ये मौसमी होने के साथ ही विटामिन ए, विटामिन सी, फोलेट और ल्यूटेन जैसे पोषक तत्वों से भी भरपूर होती हैं। खासकर पालक तो सर्दियों के मौसम में बच्चों के लिए सुपरफूड की तरह है। ये सब्जियां बच्चों का पेट साफ करने के साथ ही उनके शरीर को अंदर से गर्माहट देने में भी मदद करती हैं। लिहाजा बच्चों को पालक की सब्जी खिलाने के साथ ही आप उन्हें पालक का सूप, पालक का परांठा या पूरी, मेथी की सब्जी, परांठा या थेप्ला, सरसों का साग आदि जरूर खिलाएं।

(और पढ़ें - बच्चों के लिए ये हैं संतुलित आहार)

पालक की ही तरह गुड़ भी एक सुपरफूड है जिसे ठंड के मौसम में बच्चों की डाइट का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। गुड़ खाने से सर्दियों में होने वाली कॉमन बीमारियां जैसे- सर्दी-जुकाम, खांसी, फ्लू आदि से बचने में मदद मिलती है। साथ ही गुड़, पाचन एंजाइम्स को सक्रिय बनाता है जिससे कब्ज, पेट में गैस आदि की दिक्कत भी नहीं होती है। आप चाहें तो बच्चों के लिए ड्राई फ्रूटस लड्डू बनाते वक्त उसमें गुड़ डाल सकती हैं, मूंगफली और गुड़ को मिलाकर चिक्की तैयार कर सकती हैं। लेकिन जब बच्चा 1 साल का हो जाए उसके बाद ही उसे गुड़ खिलाना शुरू करें। गुड़ इम्यूनिटी को भी मजबूत बनाने में मदद करता है।

(और पढ़ें - बच्चों में बदहजमी की समस्या)

जायफल, हल्दी, काली मिर्च, लौंग, दालचीनी, अजवायन, मेथी दाना आदि- ये ऐसे मसाले हैं जिनकी तासीर गर्म होती है और सर्दियों में हमारे शरीर को इनकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है। बच्चों के खाने में थोड़ी मात्रा में इन मसालों का इस्तेमाल जरूर करें ताकि उन्हें इसके फायदे मिल सकें। इसके अलावा आप चाहें तो बच्चों को रोजाना हल्दी वाला दूध भी पिला सकती हैं जो इम्यूनिटी को मजबूत बनाकर बच्चों को बीमार पड़ने से बचाता है। इसके अलावा ये मसाले बच्चे की भूख बढ़ाने का भी काम करते हैं और खांसी, गले में दर्द या खराश जैसी समस्याएं भी दूर करने में मददगार माने जाते हैं।

(और पढ़ें - दूध में ये चीजें मिलाएंगे तो बच्चे दूध पीने से मना नहीं करेंगे)

ठंड के मौसम में बच्चों को गर्मा गर्म सूप पिलाना भी कई तरह से फायदेमंद साबित हो सकता है। सर्दियों में सूप पीने के कई फायदे भी हैं। गाजर, चुकंदर, टमाटर, पालक आदि सब्जियों को मिलाकर बच्चे के टेस्टी सूप बना सकते हैं जो न सिर्फ उनके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाकर बीमारियों से लड़ने में मदद करेगा बल्कि सूप सांस से जुड़े संक्रमण जैसे- सर्दी-खांसी और बुखार को भी दूर करने में मदद करता है। सूप शरीर को हाइड्रेटेटड रखता है, इसमें ढेर सारी सब्डियों के गुण होते हैं और साथ ही में यह बच्चे का पेट भरने के भी काम आता है।

(और पढ़ें - मूंग दाल और गाजर का टेस्टी सूप)

आपने देखा होगा कि सर्दियों में होने वाली सामान्य बीमारियां जैसे- सर्दी-जुकाम और फ्लू को दूर करने के लिए जो दवाइयां दी जाती हैं उनमें जिंक होता है। इसका कारण ये है कि जिंक, एक ऐसा खनिज है जो इन बीमारियों से उबरने में मदद करता है। लिहाजा ठंड के मौसम में बच्चों को अंडा जरूर खिलाएं जिसमें जिंक भरपूर मात्रा में होता है। इसके अलावा अंडा प्रोटीन का भी बेहतरीन सोर्स होता है जो हमारा शरीर संक्रमण और बीमारियों से लड़ने के लिए जिन एंटीबॉडीज का निर्माण करता है उसके लिए प्रोटीन की जरूरत होती है। लिहाजा बच्चों को प्रोटीन से भरपूर आहार खिलाना भी जरूरी है। 

(और पढ़ें - अंडे का सफेद भाग या पीला भाग, क्या है ज्यादा हेल्दी)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ