myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पेट फूलने की समस्या तब होती है जब हमारे जठरांत्र में हवा, गैस, कोई तरल पदार्थ या तेल एकत्रित हो जाता है। लोगों को ज्यादा खाने-पीने के बाद ऐसा महसूस होता है जैसे उनके पेट में हवा भर गई है और पेट फूल रहा है। ये समस्या बहुत आम है और आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाती है। हालांकि, कुछ लोगों को पेट फूलने की समस्या ज्यादा होती है, जिसके कारण परेशान करने वाले लक्षण होने लगते हैं।

(और पढ़ें - पेट फूलने के घरेलू उपाय)

पेट फूलने पर अन्य समस्याएं भी होने लगती हैं, जैसे पेट दर्द, पेट में गैस, डकार और पेट में से आवाज आना आदि। ये समस्याएं गंभीर तो नहीं होती, लेकिन इनके कारण आपको अपने रोजमर्रा के सामान्य काम करने में परेशानी होती है।

(और पढ़ें - खट्टी डकार के कारण)

पेट फूलने की समस्या के लिए आमतौर पर डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि ये कुछ घरेलू उपाय और अन्य तरीकों से ठीक हो जाती है। हालांकि, कभी-कभी आपको इसके लिए डॉक्टर से सलाह लेने की आवश्यकता हो भी सकती है।

इस लेख में पेट फूलने पर क्या करें और इसके लिए डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए के बारे में बताया गया है।

  1. पेट फूल रहा हो तो क्या करे - Pet ke foolne par kya karna chahiye
  2. पेट फूलने पर डॉक्टर के पास कब जाएं - Pet fulne par doctor ke pas kab jana chahiye

पेट फूलने की समस्या के लिए किसी विशेष उपचार या इलाज की आवश्यकता नहीं होती है, ये अपने आप कुछ मामूली तरकीबों से ठीक हो जाती है। हालांकि, इसके लक्षणों से राहत के लिए आप निम्नलिखित तरीके से प्राथमिक उपचार कर सकते हैं -

  • खाना खाते समय मुंह के द्वारा पेट में हवा जाने के कारण भी पेट फूलने की समस्या होती है, इसीलिए खाते समय बात न करें और मुंह बंद करके खाना खाएं। (और पढ़ें - खाना खाने का सही तरीका)
  • अगर आप च्विंगम चबाते हैं, तो इस आदत को छोड़ने का प्रयास करें। च्विंगम चबाने के कारण पेट में हवा जाती है और पेट फूलने की समस्या हो सकती है। (और पढ़ें - च्युइंग गम चबाने के नुकसान)
  • सैर करने से कब्ज की समस्या भी दूर होती है और पेट में मौजूद अतिरिक्त गैस और मल भी बाहर निकल जाते हैं। अगर आपका पेट फूल रहा है या बार-बार पेट फूलने की समस्या होती है, तो खाना खाने के बाद सैर करने की आदत बनाएं। (और पढ़ें - कब्ज से राहत पाने के लिए क्या करें)
  • पानी से भरपूर खाद्य पदार्थ लेने से पेट फूलने की समस्या में आराम मिलता है और पेट में मौजूद अतिरिक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। खीरा, तरबूज, अजमोद और ऐसे ही अन्य खाद्य पदार्थ लेने से आपको पेट फूलने की समस्या से राहत मिल सकती है। (और पढ़ें - पानी की कमी को दूर करने वाले फल)
  • पेट फूलने पर सोडा और कोल्ड ड्रिंक जैसी गैस युक्त चीजें लेने से आपकी समस्या बढ़ सकती है। वैसे भी ऐसे पदार्थों का सेवन करना आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता। (और पढ़ें - पेट में गैस बनने पर क्या करना चाहिए)
  • योग करने से स्वास्थ्य तो अच्छा रहता ही है, साथ ही पेट में मौजूद गैस भी बाहर निकलती है, जिससे पेट फूलने पर बहुत आराम मिलता है। अगर आपको पेट फूलने की समस्या रहती है या आपका पेट फूल रहा है, तो आप योग कर सकते हैं। (और पढ़ें - पेट की गैस के लिए योग)
  • जल्दबाजी में खाना खाने के कारण भी पेट में हवा जाती है, इसीलिए खाना आराम से पूरी तरह चबाकर खाएं और कोई भी पेय पदार्थ पीने के लिए स्ट्रा का उपयोग न करें। (और पढ़ें - फूड पाइजनिंग के लक्षण)
  • अगर पेट फूलने के कारण आपके पेट में दर्द हो रहा है, गर्म सिकाई करने से या गर्म पानी से नहाने से आपको आराम मिल सकता है। (और पढ़ें - पेट में दर्द होने पर क्या करना चाहिए)
  • ऐसा माना जाता है कि तनाव के कारण हमारी पाचन क्रिया ठीक से काम नहीं कर पाती, जिसके कारण पेट से संबंधित कई समस्याएं होने लगती हैं। अगर आपका पेट फूलता है, तो तनाव कम करने का प्रयास करें। इसके लिए आप थेरेपिस्ट के पास जा सकते हैं, तनाव कम करने के लिए योग कर सकते हैं या कई अन्य तरीकों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। (और पढ़ें - तनाव दूर करने के घरेलू उपाय)
  • स्टार्च लेने से आपके शरीर में वाटर रिटेंशन की समस्या हो सकती है, इसीलिए ऐसे पदार्थों का सेवन कम करें जिनमें कार्बोहायड्रेट हों खासकर रात के समय में। रात को इन पदार्थों का सेवन काम करने से आपको सुबह के समय पेट फूलने की समस्या न हो। (और पढ़ें - वाटर रिटेंशन के उपाय)
  • अगर आपको पेट फूलने की समस्या होती है, तो नींबू पानी पीने से आपको आराम मिल सकता है। सुबह उठकर और हर बार खाना खाने के बाद एक गिलास नींबू पानी पीने से आपको पेट फूलने पर राहत मिलेगी। (और पढ़ें - पेट में सूजन के लिए क्या करना चाहिए)
  • आगर आपको लैक्टोज असहिष्णुता की समस्या है, तो डेयरी उत्पादों का सेवन न करें। ऐसा करने से आपको पेट फूलने की समस्या हो सकती है। (और पढ़ें - पेट की सूजन का इलाज)
  • कई महिलाओं को उनके मासिक धर्म के पहले, यानि पीएमएस में पेट फूलने की समस्या होने लगती है। अगर आपको भी ये समस्या होती है, तो अपने खाने में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम और मैग्नीशियम लें। इन दोनों से ही पेट फूलने में राहत मिलती है। (और पढ़ें - कैल्शियम युक्त भारतीय आहार)
  • पेट फूलने पर ऐसे पदार्थों का सेवन न करें जो गैस करते हैं, जैसे गोभी, फलियां और दालें। इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है। (और पढ़ें - पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय)
  • कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि प्रोबायोटिक्स लेने से पाचन क्रिया अच्छी होती है और पेट फूलने पर आराम मिलता है। आप चाहें तो पेट फूलने पर प्रोबियोटिक्स लेकर देख सकते हैं। दही, सेब और डार्क चॉक्लेट जैसे पदार्थों में प्रोबियोटिक्स पाए जाते हैं। (और पढ़ें - पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय)
  • पेट में जैसा बनने से पेट फूलने की समस्या होती है, इसीलिए आप चाहें तो केमिस्ट के पास मिलने वाली गैस की दवाएं और सिरप ले सकते हैं। याद रहे कि ये दवाएं लेने से पहले इनके पैकेट पर दिए गए निर्देशों को अच्छे से पढ़ लें। (और पढ़ें - पेट की गैस से राहत पाने के लिए जूस)
  • खाने-पीने वाले कई उत्पादों में आर्टिफिशल स्वीटनर मिलाए जाते हैं, जो पचाने मुश्किल होते हैं। इनके कारण आपका पेट फूल सकता है। अगर आपका पेट फूल रहा है, तो इन आर्टिफिशल स्वीटनर की जगह असली चीनी लें। हालांकि, आपको चीनी का सेवन कम से कम करने की सलाह दी जाती है। (और पढ़ें - शुगर के लक्षण)
  • पोटैशियम से शरीर में तरल पदार्थों का संतुलन बना रहता है और पेट फूलने की समस्या नहीं होती। अगर आपका पेट फूल रहा है, तो केले, संतरे और टमाटर जैसे खाद्य पदार्थ लें, जिनमें पोटैशियम की मात्रा बहुत अधिक होती है। इन पदार्थों के सेवन से आपको आराम मिलेगा। (और पढ़ें - पोटेशियम की कमी के लक्षण)
  • मसाज करने से आपको मल आने में या पेट की गैस निकलने में मदद मिल सकती है। ये मसाज करने के लिए -
  • पेट फूलने पर शराब या सिगरेट का सेवन करने से आपकी समस्या बढ़ सकती है। अगर आप शराब या सिगरेट पीते हैं, तो अपनी ये आदत छोड़ने का प्रयास करें या हो सके तो समस्या ठीक न हो जाने तक इनसे दूर रहें। (और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय)

(और पढ़ें - शराब की लत छुड़ाने के घरेलू उपाय)

पेट फूलने पर वैसे तो डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन कभी-कभी ये किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। अगर इसका इलाज न किया जाए तो कुछ जटिलताएं भी हो सकती हैं, इसीलिए अगर आपको निम्नलिखित लक्षण अनुभव हो रहे हैं, तो अपने डॉक्टर के पास अवश्य जाएं -

  1. पेट में बहुत तेज दर्द होना। (और पढ़ें - पेट दर्द में क्या खाना चाहिए)
  2. छाती में दर्द होना। (और पढ़ें - छाती में दर्द होने पर क्या करें)
  3. पेट का दर्द ठीक न होना या ज्यादा लंबे समय से पेट दर्द होना। (और पढ़ें - पेट दर्द के घरेलू उपाय)
  4. बुखार होना। (और पढ़ें - तेज बुखार होने पर क्या करें)
  5. सांस लेने में तकलीफ होना। (और पढ़ें - सांस लेने में दिक्कत हो तो क्या करे)
  6. मल में खून आना या मल का रंग काला गहरा होना। (और पढ़ें - बवासीर में क्या करना चाहिए)
  7. उल्टी आना या उल्टी के कारण कुछ खा नहीं पाना। (और पढ़ें - उल्टी और मतली रोकने के घरेलू उपाय)
  8. थकान महसूस होना। (और पढ़ें - थकान दूर करने के घरेलू उपाय)
  9. छाती में दबाव महसूस होना। (और पढ़ें - छाती में दर्द के घरेलू उपाय)
  10. दस्त होना। (और पढ़ें - दस्त बंद करने के लिए क्या करना चाहिए)
  11. किसी चोट के बाद फूलने की समस्या होना। (और पढ़ें - चोट लगने पर क्या करें)
  12. खून की उल्टी आना या उल्टी में कालापन और ब्राउन रंग दिखना। (और पढ़ें - बलगम में खून आने के कारण)
  13. सीने में जलन होना या जलन बढ़ना। (और पढ़ें - सीने में जलन के घरेलू उपाय)
  14. पेट में या शरीर के किसी अन्य भाग में अचानक सूजन आना। (और पढ़ें - गर्भावस्था में सूजन के कारण)
  15. बिना किसी वजह वजन कम होना। (और पढ़ें - लगातार वजन कम होने के कारण)
  16. किसी सर्जरी के बाद पेट फूलना। (और पढ़ें - पेट के कैंसर की सर्जरी)
  17. नब्ज तेज होना। (और पढ़ें - नब्ज कैसे देखते हैं)
  18. लिवर फेल होना। (और पढ़ें - लिवर खराब होने के लक्षण)
  19. पीलिया के लक्षण महसूस होना। (और पढ़ें - पीलिया में क्या खाएं)
  20. किडनी फेल हो जाना। (और पढ़ें - किडनी खराब करने वाली आदतें)
     

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...