myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती और उसके होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य से ज्यादा जरूरी शायद ही कुछ होता है। गर्भावस्था में सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है गर्भवती स्त्री के आहार पर क्योंकि इस समय वह सिर्फ अपने लिए भोजन नहीं करती, उसके आहार से जुड़ा होता है गर्भस्थ शिशु का स्वास्थ्य। आज इस लेख के माध्यम से हम बात करेंगे की गर्भावस्था में अंगूर खाना स्वस्थ्यवर्धक है या नहीं? गर्भावस्था में अंगूर खाए जा सकते हैं या नहीं?

अंगूर सीमित मात्रा में खाए सकते हैं क्योंकि वे विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट, कार्बनिक अम्ल, फाइबर, फोलिक एसिड, पेक्टिन के आलावा अन्य बहुत से महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं जो गर्भावस्था के दौरान और प्रसव के बाद शरीर में होने वाले परिवर्तनों में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में फोलिक एसिड का महत्व)

  1. गर्भावस्था में अंगूर खाने के फायदे - Pregnancy mein angoor khane ke laabh
  2. गर्भावस्था में अंगूर खाने के नुकसान - Pregnancy mein angoor khane ke nuksan
  3. गर्भावस्था में अंगूर को कैसे और कितना खाएं - Pregnancy mein angoor ko kaise aur kitna khaye
  4. गर्भावस्था में अंगूर खाने की सावधानियां - Pregnancy mein angoor khane ki savdhaniyan

अंगूर खाने के निम्नलिखित फायदे होते हैं:

  • अंगूर में पाया जाने वाला आयरनहीमोग्लोबिन बनाने में मदद करता है जिससे खून बनने की क्रिया में मदद मिलती है। (और पढ़ें - हीमोग्लोबिन बढ़ाने के उपाय)
  • अंगूर में सूजन-रोधी गुण पाए जाते हैं जो अस्थमा और गठिया से बचाव करते हैं।
  • अंगूर कार्बनिक अम्ल और कैल्शियम दोनों का एक अच्छा स्रोत है। कार्बनिक अम्ल मुंह में हानिकारक बैक्टीरिया को बेअसर करते हैं, जिससे गर्भावस्था के दौरान दांतों को मजबूत रखने में मदद मिलती है।
  • गर्भावस्था के दौरान अधिकतर महिलाओं को कब्ज होना एक आम समस्या है।अंगूर में पाया जाने वाला फाइबर मलत्याग की क्रिया में सुधार करता है और कब्ज से बचाव करता है।
  • अंगूर खाने से ऐंठन से राहत मिलती है क्योंकि वे मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत होते हैं।

अंगूर के सेवन के निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं:

  • अधिक मात्रा में अंगूर के सेवन से डायरिया का खतरा होता है।
  • एक बार में ही ज्यादा अंगूर खाने से कब्ज और दस्त होने की संभावना होती है।  
  • अंगूरों के अधिक सेवन से वजन में वृद्धि होती है। (और पढ़ें - वजन घटाने के उपाय )
  • एक बार में बहुत सारे अंगूरों का सेवन करने से ब्लड शुगर में असंतुलन पैदा हो सकता है। (और पढ़ें - नार्मल ब्लड शुगर लेवल कितना होना चाहिए)
  • अंगूर को सुबह खाली पेट खाने से बचें।
  • चूंकि गर्भावस्था में महिलाओं की पाचन शक्ति पहले से ही कमजोर होती है और ऐसे में काले अंगूरों का पचना आसान नहीं होता इसलिए इनसे परहेज करना चाहिए। (और पढ़ें - पाचन शक्ति कैसे मजबूत करें)
  • इस फल का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।
  • अंगूर का सेवन सलाद, स्मूदी, जूस के तौर पर भी कर सकते हैं। (और पढ़ें - जूस और स्मूदी में अंतर)

गर्भावस्था में अंगूर खाने में निम्नलिखित सावधानियां रखें:

गर्भावस्था के समय खाद्य पदार्थों का सेवन करने से पूर्व विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। जिस प्रकार हर सिक्के के दो पहलू होते हैं ठीक उसी प्रकार किसी भी खाद्य सामग्री के सकारात्मक और नकारत्मक दोनों तरह के प्रभाव होते हैं इसलिए अंगूर को गर्भवती स्त्री के आहार का हिस्सा बनाने से पूर्व डॉक्टर से सलाह लेना न भूलें।

 

और पढ़ें ...