myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ब्रेन ट्यूमर का अर्थ है अविकसित कोशिकाओं की अनियंत्रित गुणन के कारण मस्तिष्क में गांठ बनना। ब्रेन ट्यूमर को दो प्रकार में बांटा गया है, प्राइमरी और मेटास्टेसिस। प्राइमरी ब्रेन ट्यूमर मस्तिष्क या उसके आस-पास के ऊतकों में ही शुरू होता है, जबकि मेटास्टेसिस ब्रेन टयूमर शरीर के किसी अन्य हिस्से में शुरू होकर दिमाग तक फ़ैल जाता है, ज्यादातर खून के माध्यम से। प्राइमरी ब्रेन ट्यूमर सामान्य या घातक हो सकते हैं, लेकिन मेटास्टेसिस ब्रेन टयूमर हमेशा घातक ही होते हैं।

ब्रेन ट्यूमर के लक्षण ट्यूमर की जगह पर निर्भर करते हैं। इसके सबसे मुख्य लक्षण हैं, सिरदर्द, उलझन, भ्रम, देखने व सुनने में दिक्कत, संतुलन खोना और ध्यान लगाने या सोचने में दिक्कत। ब्रेन ट्यूमर के कारण व्यक्ति को दौरे भी पड़ सकते हैं।

ब्रेन ट्यूमर के मुख्य कारण का अभी तक पता नहीं चल पाया है. लेकिन इसके कुछ जोखिम कारक सामने आए हैं। ट्यूमर होने का खतरा उम्र के साथ-साथ बढ़ता है, हालांकि कुछ प्रकार के ब्रेन ट्यूमर छोटे उम्र के लोगों में अधिक सामान्य हैं। ज्यादा देर तक रेडिएशन के संपर्क में रहना, परिवार में किसी को ब्रेन ट्यूमर का इतिहास और टर्नर सिंड्रोम जैसे अनुवांशिक कारणों के कारण भी ट्यूमर होने का खतरा बढ़ जाता है।

ब्रेन ट्यूमर का पता लगाने के लिए अक्सर सीटी स्कैन या एमआरआई जैसे इमेजिंग टेस्ट का उपयोग किया जाता है, जिनसे ट्यूमर के प्रकार के साथ-साथ उसके स्वभाव का भी पता चलता है। अंतिम पुष्टि करने के लिए व्यक्ति की बायोप्सी भी की जा सकती है।

(और पढ़ें - ब्रेन कैंसर के लक्षण)

होम्योपैथी में ऐसी कुछ दवाएं मौजूद हैं, जिनके उपयोग ब्रेन ट्यूमर के लक्षणों को ठीक करने के लिए किया जा सकता है। ऐसी कुछ दवाएं हैं, अर्निका मोंटाना, प्लंबम मेटालिकम और बैरीटा कार्ब। अध्ययनों से ये पाया गया है कि ट्यूमर के लिए किए जाने वाले मुख्य उपचार के साथ होम्योपैथिक इलाज का उपयोग करने से अच्छा असर होता है।

  1. होम्योपैथी में ब्रेन ट्यूमर का उपचार कैसे होता है - Brain tumor ka homeopathic ilaj
  2. ब्रेन ट्यूमर की होम्योपैथिक दवा - Brain tumor ke liye homeopathic medicine
  3. होम्योपैथी में ब्रेन ट्यूमर के लिए खान-पान और जीवनशैली के बदलाव - Homeopathy me brain tumor ke khan-pan aur jeevanshaili me badlav
  4. ब्रेन ट्यूमर के होम्योपैथिक इलाज के नुकसान और जोखिम कारक - Brain tumor ke homeopathic upchar ke nuksan aur jokhim karak
  5. ब्रेन ट्यूमर के लिए होम्योपैथिक उपचार से जुड़े अन्य सुझाव - Brain tumor ke homeopathic upchar se jude anya sujhav
  6. ब्रेन ट्यूमर की होम्योपैथिक दवा और इलाज के डॉक्टर

ब्रेन ट्यूमर के लिए उपयोग की जाने वाली होम्योपैथिक दवाओं का असरदार प्रभाव देखा गया है। होम्योपैथी ऐसा उपचार है, जिससे व्यक्ति का प्राकृतिक और सुरक्षित तरीके से कम से कम दुष्प्रभावों के साथ इलाज किया जाता है। इससे शरीर की इम्युनिटी बढ़ती है और बीमारियों के लक्षणों से निपटने के लिए शरीर की ताकत में भी वृद्धि होती है।

(और पढ़ें - बच्चों की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं)

यूनाइटेड किंगडम (UK) में किए गए एक अध्ययन से होम्योपैथिक दवाओं का ब्रेन ट्यूमर पर अच्छा असर देखा गया। विश्व भर में मौजूद ब्रेन ट्यूमर के रोगी अब एलोपैथिक उपचार को नहीं बल्कि होम्योपैथिक इलाज को पसंद कर रहे हैं।

अधिक मात्रा में दिए जाने वाली होम्योपैथिक दवाओं से ट्यूमर को बढ़ने से रोका जा सकता है और इनकी बहुत कम मात्राओं से ट्यूमर बनने की संभावना को कम किया जा सकता है। हालांकि, विशेषज्ञों का ऐसा मानना है की होम्योपैथिक दवाओं में मौजूद सक्रीय अणुओं से रोगी को दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं।

ब्रेन ट्यूमर के लिए उपयोग की जाने वाली दवाओं के बारे में नीचे दिया गया है:

होम्योपैथिक उपचार के साथ आपको कुछ बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता होती है, जिनके बारे में नीचे दिया गया है:

क्या करें:

क्या न करें:

 

होम्योपैथिक दवाओं को प्राकृतिक तत्वों से बनाया जाता है और उन्हें बहुत अधिक घोला जाता है, जिससे इन दवाओं के वास्तविक तत्व बहुत कम रह जाते हैं। इसके बाद व्यक्ति के स्वास्थ्य और लक्ष्णों को ध्यान में रखते हुए ये दवाएं उसे बहुत ही कम मात्रा में दी जाती हैं। इसी कारण, होम्योपैथिक दवाएं बहुत सुरक्षित होती हैं और इनके दुष्प्रभाव भी नहीं होते। दुष्प्रभाव न होने के बावजूद भी इन दवाओं को बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए।

ब्रेन ट्यूमर सामान्य और घातक दोनों प्रकार के हो सकते हैं।  इसके कारण ज्यादातर सिरदर्द, नज़र की समस्याएं, उलझन और संतुलन संबंधित समस्याएं होती हैं। ब्रेन ट्यूमर के कारण व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य और उसकी जीवनशैली पर काफी असर पड़ता है। होम्योपैथी ऐसा इलाज है जिसे मुख्य उपचार के साथ लिया जा सकता है और इसके दुष्प्रभाव भी नहीं होते हैं। हालांकि, बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा नहीं ली जानी चाहिए।

 

Dr. Ashwini Madandas Bairagi

Dr. Ashwini Madandas Bairagi

होमियोपैथ

Dr. Ravi Patel

Dr. Ravi Patel

होमियोपैथ

Dr. Harsh Gajjar

Dr. Harsh Gajjar

होमियोपैथ

और पढ़ें ...

References

  1. American Association of Neurological Surgeons. [Internet]. Rolling Meadows, IL, United States; Brain Tumors.
  2. Manfred Mueller. Is Homeopathy an Effective Cancer Treatment?. The American Homeopath Volume 18, 2012
  3. E. Ernst. Homeopathy for cancer?. Curr Oncol. 2007 Aug; 14(4): 128–130. PMID: 17710204
  4. William Boericke. Homeopathic Materia Medica. Homsopathic Materia Medica. Médi-T, 1999.
  5. National Center for Homeopathy. [Internet]. Mount Laurel NJ. Baryta carbonica.
  6. National Center for Homeopathy. [Internet]. Mount Laurel NJ. Conium maculatum.
  7. William Boericke. Materia Medica. Salvator Apotheke, 1901.
  8. James Tyler Kent. Materia Medica. Salvator Apotheke, 2014.
  9. Samuel Hahnemann. Organon Of Medicine. 6th edition. Aphorism 259 to 261