myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नाश्ते और दोपहर के खाने के अलावा रात के खाने पर भी ध्यान देना बेहद जरूरी है। रात के खाने पर ध्यान देना इसलिए आवश्यक है क्योंकि इससे न सिर्फ आपकी नींद पर असर पड़ता है बल्कि आपकी सेहत भी इससे जुड़ी होती है। अगर आप सही आहार खाते हैं तो आपको नींद बेहद अच्छी आएगी और आप हमेशा स्वस्थ रहेंगे।

रात के खाने में अस्वस्थ खाद्य पदार्थ शामिल करने से वजन बढ़ता है और एक अच्छी नींद लेने में भी परेशानी होती है। इस लेख में हमने आपको रात के खाने में क्या खाएं और क्या न खाएं के बारें में बताया है, जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।     

इसके साथ ही कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखें जैसे कि रोजाना रात का भोजन 7 बजे तक कर लें, रात के खाने और सोने के बीच तीन घंटे का अंतराल रखें, दस बजे के बाद खाना न खाएं।

(और पढ़ें - स्वस्थ रहने के कुछ नियम)

तो चलिए आपको बताते हैं रात को क्या खाएं और क्या न खाएं:

  1. रात को क्या खाना चाहिए - Raat ko kya khana chahiye
  2. रात को क्या नहीं खाना चाहिए - Raat ko kya nahi khana chahiye
  3. आयुर्वेद के अनुसार रात में ये खाएंगे तो रहेंगे स्वस्थ

क्या रात को दही खाना चाहिए या नहीं? - Kya raat ko dahi khana chahiye ya nahi

सोते समय शरीर न चलने की वजह से मांसपेशियों को नुकसान पहुंच सकता है। दही में मौजूद प्रोटीन आपकी मांसपेशियों को मजबूती देने में मदद करता है। रात को सोने से पहले, यानी खाने में अगर आप एक कप दही खाते हैं तो आपको 11 ग्राम प्रोटीन प्राप्त होगा जो कि मांसपेशियों के लिए काफी अच्छा है। इसके अलावा अगर आप वजन नहीं बढ़ाना चाहते हैं तो रात में दही लें। एक कप दही में 180 कैलोरीज होती हैं जो कि आपके वजन को नियंत्रित रखने के लिए फायदेमंद है।

(और पढ़ें - नींद की कमी का इलाज)

हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि हर प्रकार के दही में एक ही तरह के पोषक तत्व नहीं होते हैं। रात के समय आप बिना शुगर वाला दही खा सकते हैं। जबकि फलों से बने दही में अधिक मात्रा में चीनी होती है, इसलिए जब भी दही खरीदें तो डब्बे पर लिखी सभी जानकारियों को ध्यान से पढ़ लें।

(और पढ़ें - पेट खराब होने का इलाज)

क्या रात को केला खाना चाहिए या नहीं? - Kya raat ko kela khana chahiye ya nahi

आप सोच रहे होंगे कि केला खाना तो अच्छा होता है लेकिन हम आपको बताते हैं कि इसे रात में खाना अच्छा है या नहीं? आयुर्वेद के अनुसार रात को केला खाने से इतनी बड़ी कोई समस्या तो नहीं होती पर रात में इसे कम खाएं। आयुर्वेद में कहा गया है कि रात में केला खाने से सर्दी जुकाम की समस्या हो सकती है और इसके पचने में काफी समय लगता है, जिसकी वजह से आप सुस्ती महसूस करने लगते हैं।

न केवल आयुर्वेद बल्कि कई फिटनेस एक्सपर्ट भी कहते हैं कि केला स्वस्थ और ऊर्जा देने वाला फल है लेकिन जो लोग सर्दी जुकाम, अस्थमा या साइनस से पीड़ित हैं, उन्हें रात में केला नहीं खाना चाहिए। एक अध्ययन के अनुसार यदि रात में एक केला खाया जाए तो इससे सीने में जलन और पेट में अल्सर की समस्या दूर हो सकती है। लेकिन अधिक न खाएं। 

(और पढ़ें - सीने की जलन के उपाय​)

क्या रात को दूध पीना चाहिए या नहीं? - Kya raat ko doodh peena chahiye ya nahi

दूध सेहत के लिए कितना अच्छा होता है यह तो आप सभी जानते हैं, लेकिन क्या रात को दूध आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है? लैक्टोज दूध में एक प्रकार की चीनी होती है जिसकी वजह से दूध का स्वाद मीठा रहता है और संतुष्टि भी मिलती है। लेकिन दुर्भाग्य से दूध में मौजूद लैक्टोस से लैक्टोज इनटॉलेरेंस (Lactose intolerance) से ग्रस्त लोगों को परेशानी हो सकती है।

अगर आप लैक्टोज असहिष्णुता से पीड़ित हैं तो सोने से पहले दूध पीने से आपको पाचन से संबंधित समस्या हो सकती है। पेट में गैस, पेट फूलनापेट में मरोड़ और दस्त आदि पाचन से संबंधित परेशानीयां लैक्टोज असहिष्णुता के कारण होती हैं।

(और पढ़ें - लैक्टोज असहिष्णुता के आयुर्वेदिक इलाज)

इसके अलावा एक ग्लास दूध में 120 कैलोरीस होती है। जब आप सोते हैं तो आपका मेटाबॉलिज्म थोड़ा धीमा पड़ जाता है, ऐसे में रात को दूध पीने से कैलोरी को बर्न करना थोड़ा मुश्किल होता है। इससे आपका वजन बढ़ भी सकता है।

(और पढ़ें - अच्छी गहरी नींद आने के घरेलू उपाय)

क्या रात को खीरा खाना चाहिए या नहीं? - Kya raat ko kheera khana chahiye ya nahi

रात का खाना हमेशा हल्का होना चाहिए। इसलिए सलाद और सूप रात के खाने के लिए बेहद अच्छे होते हैं। सलाद में मौजूद खीरा जल्दी पेट भर देता है और आसानी से पच जाता है। इसलिए खीरे को रात के समय खाना चाहिए क्योंकि रात के समय मेटाबॉलिज्म की गति धीमी हो जाती है। यदि आप रात के वक्त खीरा खाते हैं तो आपको बीच रात में भूख नहीं लगेगी। 

(और पढ़ें - रात को जल्दी सोने के उपाय)

रात में चावल खाने चाहिए या नहीं? - Raat me chawal khane chahiye ya nahi

चावल के कारण आपका वजन बढ़ सकता है, क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट के रूप में कैलोरी बहुत अधिक मात्रा में होती है, जो कि आपके शरीर में फैट के रूप में जमा हो जाती है। इसके अलावा जब आप रात में चावल खाते हैं तो यह जल्दी व आसानी से पच जाते हैं, लेकिन क्योंकि सोने के बाद आप पूरी रात कुछ नहीं खाते इसीलिए शरीर को कोई अन्य पोषण नहीं मिलता। इसी कारण सुबह उठने पर आपको बहुत तेज भूख लगती है, क्योंकि रात भर आपका पेट खाली रहता है।

(और पढ़ें - खाना खाने का सही समय)

लोग सोचते हैं कि चावल क्योंकि हल्के होते हैं तो उन्हें रात में खाना चाहिए, लेकिन सच यह है कि चावल की जगह फाइबर युक्त आहार खाना अधिक बेहतर विकल्प है। इसलिए चावल की जगह आप रोटी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - ब्राउन राइस के फायदे)

क्या रात को दलिया खाना चाहिए? - Kya raat ko daliya khana chahiye

रात में स्वस्थ भोजन ही खाना चाहिए। ओट्स को आप कभी भी और दिन के किसी भी समय खा सकते हैं। वास्तव में ओट्स सबसे स्वस्थ आहार में से एक है। यह आपके हृदय के लिए बहुत ही अच्छा होता है। जब तक की किसी व्यक्ति को ग्लुटामिन इनटॉलेरेंस न हो, इसे खाने से कोई नुकसान भी नहीं होता है।

यदि आप रात में भी ओट्स खाना पसंद करते हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। हालांकि, ज्यादातर लोग सोचते हैं कि ओट्स को नाश्ते में ही खाना चाहिए लेकिन हकीकत में आप ओट्स को रात में भी बिना किसी चिंता के खा सकते हैं। क्योंकि ओट्स में अधिक मात्रा में पानी व फाइबर होता है और कम वसा होती है। रात को साबुत अनाज के ओट्स खाने से कब्ज और हृदय रोग नहीं होता है। ओट्स खाने से आप स्वस्थ व फिट रहते हैं और इसे खाने से नींद भी अच्छी आती है।

(और पढ़ें - कब्ज में क्या खाएं​)

रात को प्याज खाना चाहिए या नहीं? - Raat ko pyaaj khana chahiye ya nahi

रात के खाने के साथ अगर आप प्याज को सलाद के रूप में खाते हैं तो यह स्वास्थ्य के लिए सही है लेकिन आयुर्वेदा स्पेशलिस्ट डॉक्टर रोशन के अनुसार, प्याज को रात में सोने से पहले कभी भी अधिक मात्रा में न लें। प्याज अधिक मात्रा में लेने से एसिडिटी और खट्टी डकार की समस्या हो सकती है। रात को सोने से पहले हर चीज को सीमित मात्रा में ही लें।

(और पढ़ें - एसिडिटी में क्या खाएं)

रात को लौंग खाना चाहिए या नहीं? - Raat ko laung khana chahiye ya nahi

एक या दो लौंग का इस्तेमाल खाने में करने से आपको किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्याएं नहीं होंगी, लेकिन आयुर्वेदा स्पेशलिस्ट डॉक्टर रोशन कहते हैं कि अधिक मात्रा में लौंग का सेवन करने से आपको गले व पेट से संबंधित परेशानी हो सकता है। रात को सोने से पहले कभी भी लौंग अधिक मात्रा में न खाएं।

(और पढ़ें - गले की खराश दूर करने के उपाय)

रात को इलायची खानी चाहिए या नहीं? - Raat ko ilaichi khani chahiye ya nahi

इलायची चाय में या खाने में डालने से बेहद स्वादिष्ट लगती है लेकिन आयुर्वेदा स्पेशलिस्ट डॉक्टर रोशन का कहना है कि जिन लोगों को वजन घटाना होता है उन लोग को रात को सोने से पहले इलाइची नहीं खानी चाहिए। इससे वजन बढ़ सकता है। इसके अलावा जो लोग वजन बढ़ाना चाहते हैं वो रात को सोने से पहले खाने में या दूध में डालकर इलाइची का इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - दूध से एलर्जी के उपचार​)

रात को गुड खाना चाहिए या नहीं? - Raat ko gud khana chahiye ya nahi

रात को सोने से पहले गुड़ खाना बेहद अच्छा होता है। अगर आप सफेद चीनी की जगह गुड़ का इस्तेमाल करें तो यह आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा के लिए भी फायदेमंद होगा, ऐसा कहना है डॉक्टर रोशन का। डॉक्टर रोशन की सलाह है कि पेट से जुडी समस्याएं कम करने के लिए आप रात में गुनगुने पानी में गुड़ डालकर पी सकते हैं। इससे सुबह आपको कब्ज नहीं होगी और पेट साफ रहेगा।

(और पढ़ें - कब्ज दूर करने के घरेलू उपाय)

रात को यह आहार न खाएं:

1. तेल वाले खाद्य पदार्थ न खाएं:
तेल और वसा वाले खाद्य पदार्थ खाने से न सिर्फ सुबह आप सुस्त महसूस करते हैं, बल्कि आपके पाचन तंत्र को खाना पचाने में समय लगता है। जंक फूडनट्स, आइस क्रीम या चीजवाले खाद्य पदार्थ सोने से पहले न खाएं।

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

2. मसालेदार खाना:
मसाले सभी तरह की बीमारियों का इलाज करने में मदद करते हैं, लेकिन जब आपको बीच रात में भूख लगती है तो मसालेदार चीजों से बिल्कुल दूर रहें। मसालेदार खाने आपके पेट को खराब कर देते हैं और मसालें में मौजूद केमिकल आपकी इन्द्रियों को जगा देते हैं, जिसकी वजह से रात में सो पाना मुश्किल हो जाता है।

(और पढ़ें - मसालेदार खाने के फायदे)

3. रात में ज्यादा मात्रा में खाना न खाएं:
रात को खाना अगर आप फाइबर, फैट और प्रोटीन से भरपूर खाते हैं तो उसे पचने में ज्यादा समय लगता है, जिसके कारण रात को पेट दर्द हो सकता है। इस वजह से आपकी नींद बीच रात में खुल भी सकती है। इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि आपको रात में कितना खाना है, कितनी मात्रा में कैलोरी लेनी है आदि।

(और पढ़ें - पेट दर्द के घरेलू उपाय)

4. लाल मीट और अन्य प्रोटीन:
वसा वाले खाद्य पदार्थों की तरह ही, देर रात लाल मीट पच नहीं पाता और इस वजह से आप अच्छे से सो नहीं पाते हैं। रात में अधिक मात्रा में चिकन खाने से भी आपकी सेहत को नुकसान पहुंचता है, लेकिन लाल मीट आपके स्वास्थ्य को ज्यादा प्रभावित करता है। रात में आप प्रोटीन से समृद्ध आहार खा सकते हैं, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि उन्हें कभी भी ज्यादा मात्रा में न लें हमेशा कम मात्रा में लें।

(और पढ़ें - एलर्जी में क्या खाना चाहिए)

5. अधिक मात्रा में कार्ब या चीनी वाले खाद्य पदार्थ:
रात को सोने से पहले थोड़े बहुत मीठे पदार्थ तो आप खाते होंगे, लेकिन अगर आप अधिक मात्रा में मीठा खाते हैं जैसे चॉकलेट, तो आपके शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ सकता है। इसकी वजह से शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ेगा और फिर आपकी नींद उड़ सकती है। रात में केक, कूकी और अन्य मीठे पदार्थ, साथ ही कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थ न खाएं।

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए क्या खाएं)

6. शराब:
स्टडी का कहना है कि रात में शराब पीने से न सिर्फ आप रात में बार-बार उठते हैं बल्कि इससे आपकी नींद भी खराब होती है और आप अच्छे से सो नहीं पाते। जितना हो सके रात में शराब कम पिएं, जिससे आपको नींद अच्छी आए और अन्य समस्याएं भी न हो।

(और पढ़ें - शराब की लत छुड़ाने के उपाय)

7. कैफीन:
खाद्य पदार्थ या पेय पदार्थ जैसे कॉफी, डार्क चॉकलेट, चाय और सोडा में कैफीन होता है जिसकी वजह से आप रात में ऊर्जा से भरपूर रहते हैं और रात में नींद भी जल्दी नहीं आती। रात में कैफीन लेने से आप रातभर जगे रहते हैं। इन पेय पदार्थों या खाद्य पदार्थों की जगह पर पानी पिएं और कुछ ऐसा खाएं जिनमें कैफीन की मात्रा कम हो जैसे फल।

(और पढ़ें - कम कार्बोहाइड्रेट वाला भारतीय भोजन)

आप क्या खाते है, उसका प्रभाव आपके शरीर के साथ साथ आपके दिमाग पर भी होता है। लेकिन इसके साथ ही, आपके भोजन करने का समय भी शरीर के समुचित कार्यों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

ज़्यादातर आहार विशेषज्ञों ने, नाश्ते(सुबह का खाना) को दिन के सबसे महत्वपूर्ण भोजन के रूप बताया है। इसका मतलब यह नही है कि एक भोजन(नाश्ता) ही बहुत महत्वपूर्ण है तो आप बाकी के अन्य भोजन को छोड़ देंगे। कई लोगों को लगता है कि रात का भोजन करना उनको मोटा बना देगा, इसलिए वे रात को भोजन करना पसंद नही करते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार, रात को भोजन करते समय आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि यह दिन का आखिरी भोजन है, तो सही समय पर, सही भोजन करना ज़रूरी होता है। रात के समय कफ दोष अधिक होने की संभावना होती है, इसलिए आप जो कुछ भी खाते हो, वह कफ को संतुलित करने में सक्षम होना चाहिए।

  1. आयुर्वेद के अनुसार रात को क्या नहीं खाना चाहिए - Ayurveda ke anusar raat ko kya nahi khana chahiye
  2. आयुर्वेद के अनुसार रात को क्या खाना चाहिए - Ayurveda ke anusar raat ko kya khana chahiye

आयुर्वेद के अनुसार रात को क्या नहीं खाना चाहिए - Ayurveda ke anusar raat ko kya nahi khana chahiye

कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं जो कफ दोष में एक असंतुलन पैदा करते हैं, इसलिए ऐसे पदार्थो को खाने से बचना चाहिए। आपको रात के समय कुछ चीज़ो को खाने से बचना या सीमित मात्रा में खाने का प्रयास करना चाहिए जैसे जंक फूड, खाद्य तेल, दही, आइसक्रीम, भारी भोजन या मांसाहारी वस्तु आदि।

रात के समय इनका अधिक सेवन कई जटिलताओं को जन्म दे सकता है जैसे -

  • वज़न बढ़ना
  • सुबह उठने के बाद नाक बहना
  • खांसी और सर्दी  (और पढ़ें - खांसी का इलाज)
  • उल्टी महसूस करना
  • खट्टी डकार
  • सुबह में अत्यधिक लार
  • एलर्जी

खाने की गलत आदतों और शरीर में विषाक्त पदार्थों का संचय, कई स्वास्थ्य जटिलताओं का कारण बन सकता है। यदि आप ऊपर की किसी भी जटिलता से पीड़ित है, तो अपने आप की उचित देखभाल शुरू करने के लिए, यह उचित समय है। कई बार आपके भोजन करने के तरीके में थोड़ा सा बदलाव इन परिस्थितियों का इलाज़ या इनमें सुधार कर सकता है।

(और पढ़ें – शरीर पर दोषों का प्रभाव)

आयुर्वेद के अनुसार रात को क्या खाना चाहिए - Ayurveda ke anusar raat ko kya khana chahiye

आप सोच रहे होंगे कौन सी स्वस्थ चीज़े रात में खाने के लिए सही हो सकती है।

इसके लिए आप चिंता ना करें बस खाने के लिए इन सरल सुझावों का पालन करें - 

  • जो भोजन रात में पचाने के लिए आसान होते हैं, वह खाने शुरू कर दें। इसके अलावा, एक स्वस्थ और कम कार्बोहाइड्रेट वाला आहार खाने का प्रयास करें।
  • अगर आपको रात में दही खाने की आदत है, तो इसकी जगह छाछ लेना शुरू कर दें। चावल के बजाय चपाती लें, क्योंकि चपाती आसानी और जल्दी से पच जाती है। 

(और पढ़ें – स्वास्थ्य के लिए दही के फायदे​)

  • आवश्यकता से अधिक मात्रा में ना खाएं।
  • दाल, हरी पत्तेदार सब्जियां, करी पत्ता और अपने भोजन में अदरक की एक छोटी सी मात्रा को अधिक शामिल करने का प्रयास करें।
  • नमक शरीर में पानी की मात्रा को कम करता है। इसलिए, नमक के सेवन में कटौती करना बेहतर है।
  • मसाले आपके शरीर की गर्मी में वृद्धि करते हैं, इसलिए अपने भोजन में मसाले शामिल करने का प्रयास करें।
  • चीनी का सेवन कम या चीनी की जगह शहद का उपयोग करें क्योंकि यह बलगम को कम करने में भी मदद करता है।
  • अगर आपको सोने से पहले दूध पीने की आदत है, तो कम वसा वाला दूध लें। हमेशा दूध पीने से पहले उबाल लें। इससे पचाने में आसानी हो जाती है। आप उबलते दूध में अदरक या इलायची की एक छोटी सी मात्रा भी मिला सकते हैं, जो बलगम को पैदा करने वाले गुण को कम करने में मदद करती है।
  • ठंडा दूध ना पीएं। जब दूध हल्का गरम हो, उसको तभी पी लेना चाहिए। 
  • (और पढ़ें – दूध पीने का सही समय क्या है)

आपको कुछ भी ऐसा नही खाना चाहिए जिससे आपके पेट को भारीपन महसूस हो। इसके बजाय, आपके पेट को हल्का लगना चाहिए, तभी आप ठीक से सो सकते हैं। केवल आयुर्वेद ही नहीं, बल्कि आधुनिक विज्ञान भी रात में हल्का भोजन करने की सलाह देती है। हमें उम्मीद है, यह जानकारी आपके स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करेगी।

और पढ़ें ...